उत्तराखण्ड बोर्ड परीक्षा में विद्या भारती के विद्यालयों ने बनाया नया कीर्तिमान Reviewed by Momizat on . देहरादून (विसंकें). उत्तराखण्ड विद्यालयी शिक्षा परिषद की 12वीं की बोर्ड परीक्षा में विद्या भारती द्वारा संचालित विद्यालयों ने नया कीर्तिमान बनाया है. बोर्ड द्वा देहरादून (विसंकें). उत्तराखण्ड विद्यालयी शिक्षा परिषद की 12वीं की बोर्ड परीक्षा में विद्या भारती द्वारा संचालित विद्यालयों ने नया कीर्तिमान बनाया है. बोर्ड द्वा Rating: 0
You Are Here: Home » उत्तराखण्ड बोर्ड परीक्षा में विद्या भारती के विद्यालयों ने बनाया नया कीर्तिमान

उत्तराखण्ड बोर्ड परीक्षा में विद्या भारती के विद्यालयों ने बनाया नया कीर्तिमान

देहरादून (विसंकें). उत्तराखण्ड विद्यालयी शिक्षा परिषद की 12वीं की बोर्ड परीक्षा में विद्या भारती द्वारा संचालित विद्यालयों ने नया कीर्तिमान बनाया है. बोर्ड द्वारा घोषित परिणाम में उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुए पहले, दूसरे व तीसरे स्थान पर विद्या भारती से सम्बद्ध विद्यालय के विद्यार्थियों ने कब्जा किया है. मैरिट में प्रथम 10 स्थानों पर घोषित 13 में 11 स्थान सरस्वती विद्या मन्दिर के छात्रों ने प्राप्त किए हैं.

10वीं की बोर्ड परीक्षा में प्रदेश में दूसरा स्थान विद्या भारती संस्थान के छात्र को मिला है, मैरिट में प्रथम 10 स्थानों पर घोषित 12 स्थानों में से 7 पर विद्या भारती के छात्र रहे. विदित हो कि अखिल भारतीय शिक्षा संस्थान विद्या भारती उत्तराखण्ड में  652 विद्यालय संचालित करता है, जिनमें लगभग सवा लाख छात्र – छात्राएं शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं. इनमें से लगभग 100 विद्यालय माध्यमिक स्तर के हैं.

उत्तराखण्ड विद्यालयी शिक्षा परिषद के 10वीं और 12वीं के घोषित सम्पूर्ण परीक्षा परिणाम का विश्लेषण करते हुए विद्या भारती के प्रदेश निरीक्षक डॉ. विजयपाल सिंह जी ने कहा कि 2017 की 12वीं की परीक्षा में प्रदेश की मैरिट में प्रथम पांचों स्थान विद्या भारती द्वारा संचालित विद्यालयों ने प्राप्त किए हैं. जिसमें पहले स्थान पर सरस्वती विद्या मन्दिर श्रीकोट गंगानाली (श्रीनगर) के आदित्य घिल्डियाल, दूसरे स्थान पर स.वि.म. जसपुर के अक्षदीप वत्सल, तृतीय स्थान पर स.वि.म. रानीपुर हरिद्वार की मेधा ने कब्जा जमाया है.

उत्तराखण्ड बोर्ड द्वारा घोषित मैरिट में 25 स्थानों पर घोषित कुल 86 विद्यार्थियों में से 50 विद्यार्थी विद्या भारती से संबद्ध संस्थानों से हैं. इस तरह बोर्ड की मैरिट में लगभग 60 प्रतिशत हिस्सा विद्या भारती संस्थान ने कब्जाया है. उत्तराखण्ड विद्यालयी शिक्षा बोर्ड की 12वीं की परीक्षा में सम्पूर्ण राज्य से 1,31,190 परीक्षार्थी सम्मिलित हुए थे. जबकि विद्या भारती द्वारा संचालित 64 विद्यालयों के 6577 ने परीक्षा दी थी.

डॉ. विजपाल सिंह ने कहा कि राज्य के सुदूर ग्रामीण  क्षेत्रों तक शिक्षा का प्रकाश फैलाने में वर्षों से प्रयासरत है. हम अपने ध्येय के अनुरूप पुस्तकीय ज्ञान के साथ-साथ विद्यार्थियों को समाज तथा राष्ट्रभक्ति से ओत प्रोत श्रेष्ठ संस्कार युक्त गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा प्रदान कर रहे हैं.

वर्तमान में गढ़वाल व कुमांयू मण्डल के सभी 13 शासकीय जनपदों में विद्या भारती अपनी तीन समितियों क्रमशः शिशु शिक्षा समिति, जन शिक्षा समिति व भारतीय शिक्षा समिति द्वारा 652 विद्यालयों का संचालन कर रही है. इनमें 514 प्राथमिक स्तर तथा 138 माध्यमिक स्तर के हैं. सभी विद्यालयों से कक्षा 10 में कुल 7733 विद्यार्थी सम्मिलित हुए, जिसमें 7287 उत्तीर्ण हुए और परीक्षा परिणाम 95.83 प्रतिशत रहा. कक्षा 12 में विद्या भारती संस्थानों के 6564 विद्यार्थी बैठे और 5884 उत्तीर्ण हुए तथा परीक्षा परिणाम 89.64 प्रतिशत रहा.

 

About The Author

Number of Entries : 3584

Leave a Comment

Scroll to top