उत्तर बंग प्रांत में खेल छात्रावास व प्रांत कार्यालय का उद्घाटन Reviewed by Momizat on . सिलीगुड़ी (विसंकें). विरसा शिशु शिक्षा केंद्र परिसर में अखिल भारतीय वनवासी कल्याण आश्रम के उत्तर बंग प्रांत के प्रांतीय कार्यालय एवं श्री श्याम खेल छात्रावास का सिलीगुड़ी (विसंकें). विरसा शिशु शिक्षा केंद्र परिसर में अखिल भारतीय वनवासी कल्याण आश्रम के उत्तर बंग प्रांत के प्रांतीय कार्यालय एवं श्री श्याम खेल छात्रावास का Rating: 0
You Are Here: Home » उत्तर बंग प्रांत में खेल छात्रावास व प्रांत कार्यालय का उद्घाटन

उत्तर बंग प्रांत में खेल छात्रावास व प्रांत कार्यालय का उद्घाटन

सिलीगुड़ी (विसंकें). विरसा शिशु शिक्षा केंद्र परिसर में अखिल भारतीय वनवासी कल्याण आश्रम के उत्तर बंग प्रांत के प्रांतीय कार्यालय एवं श्री श्याम खेल छात्रावास का उद्घाटन किया गया. छात्रावास का उद्घाटन सिलीगुड़ी की समाज सेविका देवकी देवी मानसिंहका जी ने किया. कार्यक्रम में मानसिंहका परिवार के समस्त सदस्य उपस्थित थे. मंच पर देवकी देवी जी के साथ ही वनवासी कल्याण आश्रम के अखिल भारतीय सह महामंत्री विष्णुकांत जी, अखिल भारतीय क्रीड़ा प्रमुख शक्तिपद ठाकुर जी भी उपस्थित थे.

उद्घाटन कार्यक्रम के पश्चात आयोजित प्रकट सभा में अखिल भारतीय क्रीड़ा प्रमुख शक्तिपद ठाकुर जी ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में क्रीड़ा प्रतिभाओं की खोज व विकास के लिए क्रीड़ा केंद्र चाहिए, वनवासी कल्याण आश्रम इस ओर प्रयास कर रहा है. दो-तीन साल में गांव की ये प्रतिभाएं राष्ट्रीय स्तर पर दिखना शुरू हो जाएंगी. वनवासी कल्याम आश्रम इस लक्ष्य को लेकर प्रतिबद्ध है. उन्होंने कहा कि ऐसा ही एक खेल छात्रावास उत्तर प्रदेश में चल रहा है और यहां दूसरे छात्रावास का उद्घाटन हुआ है. इसके संचालन के लिये जो कुछ भी आवश्यकता होगी, वह समाज से जरूर मिलेगा, ऐसी आशा है.

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता अखिल भारतीय सह महामंत्री विष्णुकांत जी ने कहा कि राजस्थानी समाज व्यवसाय करने के साथ ही समाज के लिये दोनों हाथ से देना भी जानता है. वनवासी कल्याण आश्रम देश के जनजातीय समाज की अपनी पारंपरिक धर्म संस्कृति को यथावत बनाए रखते हुए सार्विक विकास व उन्नति का कार्य कर रहा है. उन्होंने सभी से निर्भय होकर इस कार्य में सहयोगी होने का आह्वान किया. मंच पर व्यवसायी व समाजसेवी राम अवतार बरेलिया जी, राम विलास अग्रवाल जी, नेमचंद जैन जी, बाबूलाल जैन जी, प्रेम मित्तल जी भी उपस्थित रहे. इस दौरन छात्रों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए. प्रारंभ से आश्रम की गतिविधियों से संबद्ध गोपीकृष्ण अग्रवाल जी को सम्मानित किया गया. कार्यक्रम का संचालन प्रांत महामंत्री कमल पुगलिया जी ने किया, प्रांत अध्यक्ष शुशील बरेलिया जी ने आभार प्रकट किया.

About The Author

Number of Entries : 3580

Leave a Comment

Scroll to top