घाटों की सफाई पर संघ का जोर Reviewed by Momizat on . पटना. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक गंगा नदी घाटों की सफाई करेंगे. पटना में संघ विचार परिवार की बैठक में यह निर्णय लिया गया कि 2 नवंबर को पटना के विभिन्न पटना. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक गंगा नदी घाटों की सफाई करेंगे. पटना में संघ विचार परिवार की बैठक में यह निर्णय लिया गया कि 2 नवंबर को पटना के विभिन्न Rating: 0
You Are Here: Home » घाटों की सफाई पर संघ का जोर

घाटों की सफाई पर संघ का जोर

पटना. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक गंगा नदी घाटों की सफाई करेंगे. पटना में संघ विचार परिवार की बैठक में यह निर्णय लिया गया कि 2 नवंबर को पटना के विभिन्न घाटों को संघ के स्वयंसेवक पटनावासियों के साथ सफाई करेंगे. विचार परिवार की बैठक में विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया. यह बैठक पटना के राजेन्द्र नगर स्थित विजय निकेतन में 28 अगस्त को आयोजित की गई थी.

बैठक को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह श्री दत्तात्रेय होसबळे ने कहा कि गंगा भारत की अत्यंत पवित्र नदी है. ऋषि-मुनि एवं भारतवासी गंगा नदी एवं गंगाजल को एक धरोहर मानते हैं. परंतु कुछ वर्षों से यह एक कहने भर की बात हो गई है. आज गंगाजल प्रदूषित हो गया है. गंगा नदी के घाटों पर गंदगी का अंबार लगा हुआ है. ऐसे में कथनी और करनी का साम्य दिखता नहीं. अतः यह आवश्यक है कि समाज को इस कार्य के लिये जागृत किया जाये. छठ के तुरंत बाद 2 नवंबर को पटना के स्वयंसेवक गंगा नदी के घाटों की सफाई कर समाज को यह संदेश देंगे कि गंगा को अविरल एवं निर्मल बनाना हमारा पुनीत कर्तव्य है. इस कार्यक्रम के लिये एक समिति बनाकर समाज के विभिन्न वर्गों एवं संस्थानों का सहयोग भी लिया जायेगा.

About The Author

Number of Entries : 3786

Leave a Comment

Scroll to top