घायलों की सहायता व सेवा में संघ के स्वयंसेवक Reviewed by Momizat on . खतौली (मुजफ्फरनगर) रेल दुर्घटना घायलों की सहायता व सेवा में संघ के स्वयंसेवक पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर से सटे खतौली कस्बे के नजदीक पुरी से हरिद्वार जा खतौली (मुजफ्फरनगर) रेल दुर्घटना घायलों की सहायता व सेवा में संघ के स्वयंसेवक पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर से सटे खतौली कस्बे के नजदीक पुरी से हरिद्वार जा Rating: 0
You Are Here: Home » घायलों की सहायता व सेवा में संघ के स्वयंसेवक

घायलों की सहायता व सेवा में संघ के स्वयंसेवक

खतौली (मुजफ्फरनगर) रेल दुर्घटना

घायलों की सहायता व सेवा में संघ के स्वयंसेवक

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर से सटे खतौली कस्बे के नजदीक पुरी से हरिद्वार जा रही कलिंग-उत्कल एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी. ट्रेन के 12 डिब्बे पटरी से उतर गए, उनमें से 6 डिब्बे बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गये थे. जिस समय यह हादसा हुआ, उस समय खतौली के नजदीक मुजफ्फरनगर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का शारीरिक वर्ग चल रहा था. समाचार मिलते ही सह प्रान्त प्रचारक कर्मवीर जी सभी स्वयंसेवकों को लेकर घटना स्थल की ओर दौड़ पड़े.

एनडीआरएफ की टीम के पहुंचने से पहले ही लगभग 300 स्वयंसेवकों ने स्थानीय लोगों के साथ मिल राहत कार्य करना आरम्भ कर दिया. स्वयंसेवकों ने दर्जनों गंभीर घायलों को तुरन्त अस्पतालों में भिजवाया, कम गंभीर घायलों को मौके पर ही फर्स्ट एड देकर आसपास स्थित मंदिर व धर्मशालाओं जैसे सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया और भोजन, जलपान की व्यवस्था की. स्वयंसेवकों ने प्रशासिनक अमले के साथ मिल कर डिब्बों से निकाले गये शवों को शवगृह तक पहुंचाने में भी मदद की और मृतकों के परिजनों को दिलासा देकर भोजन, जलपान कराया. स्वयंसेवकों ने ट्रेन में फंसे मुरादनगर के एक विद्यालय के करीब 20 छात्र-छात्राओं को निकालकर उनके घर पहुंचाया. पूरे राहत कार्य के दौरान विभाग प्रचारक, विभाग कार्यवाह, सहित लगभग 300 स्वयंसेवक 2 दिन तक राहत कार्यों में लगे रहे.

About The Author

Number of Entries : 3679

Leave a Comment

Scroll to top