चीन और पाकिस्तान का भारतीय भूभाग पर कब्जा असंवैधानिक – इन्द्रेश कुमार जी Reviewed by Momizat on . जयपुर (विसंकें). धारा 370 और कश्मीर समस्या को लेकर जयपुर में 10 से 12 जनवरी तक युवा संसद 2018 का आयोजन मानसरोवर के ज्ञान आश्रम स्कूल में हो रहा है. युवा संसद के जयपुर (विसंकें). धारा 370 और कश्मीर समस्या को लेकर जयपुर में 10 से 12 जनवरी तक युवा संसद 2018 का आयोजन मानसरोवर के ज्ञान आश्रम स्कूल में हो रहा है. युवा संसद के Rating: 0
You Are Here: Home » चीन और पाकिस्तान का भारतीय भूभाग पर कब्जा असंवैधानिक – इन्द्रेश कुमार जी

चीन और पाकिस्तान का भारतीय भूभाग पर कब्जा असंवैधानिक – इन्द्रेश कुमार जी

जयपुर (विसंकें). धारा 370 और कश्मीर समस्या को लेकर जयपुर में 10 से 12 जनवरी तक युवा संसद 2018 का आयोजन मानसरोवर के ज्ञान आश्रम स्कूल में हो रहा है. युवा संसद के दूसरे दिन आयोजित पत्रकार वार्ता में हिमालय परिवार के संरक्षक और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय कार्यकारीणी सदस्य इन्द्रेश कुमार जी ने कहा कि कश्मीर में धारा 370 अस्थाई है. चीन और पाकिस्तान ने भारत के जिस भूभाग पर कब्जा कर रखा है, वह असंवैधानिक है. उन्होंने कहा कि भारत पाकिस्तान द्वारा प्रायोजित आतंकवाद और अलगाववाद से जूझ रहा है. सन् 1972 से आज तक 66 हजार से ज्यादा लोगों ने अपना जीवन इस दौरान गंवाया है. आज भी सीमाओं पर सतत् गोलाबारी चालू है.

इंद्रेश जी ने कहा कि आज सरकार की नीतियों के कारण आतंकवाद में कमी आई है. अलगाववादी नेता जेलों में हैं. उनके द्वारा पोषित युवाओं को मुख्यधारा में लाने के प्रयासों में सफलता मिल रही है. कश्मीर में भी पाकिस्तान के विरूद्ध आंदोलन खड़े होने लगे हैं.

राम मंदिर पर पूछे गए प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि अयोध्या का मुसलमान भी नहीं चाहता कि वहां पर मस्जिद का निर्माण हो, क्योंकि मस्जिद के निर्माण के लिए पांच नियमों का प्रावधान है. जिसमें उल्लेख है कि मस्जिद के लिये जमीन दान में मिले या अपने पैसे से खरीदी जाये. किसी दूसरे धर्म का चिन्ह या निर्माण वहां न हो और व्यक्ति के नाम पर मस्जिद का निर्माण नहीं किया जा सकता है. भूमि पर शिया और सुन्नी का कब्जा अनैतिक है. अयोध्या के मुसलमान मानते हैं कि हमारे पूर्वजों से गलती हुई है. बाबर के नाम पर मस्जिद की आवश्यकता नहीं है.

उन्होंने चीन के विषय पर कहा कि इस समस्या का समाधान युद्ध नहीं है. गत वर्ष चीन ने डोकलाम पर डेरा जमा लिया था. किन्तु भारत की राजनैतिक कूटनीति के कारण चीन को पीछे हटना पड़ा. आज विश्व में भारत की साख बढ़ी है और 134 देश आतंकवाद के खिलाफ भारत के साथ एक पायदान पर खड़े हैं.

About The Author

Number of Entries : 3788

Leave a Comment

Scroll to top