जाति, वर्ग, संप्रदाय से ऊपर उठकर सम्पूर्ण भारतीय समाज को जाग्रत करें – दिनेश चंद्र जी Reviewed by Momizat on . नई दिल्ली (इंविसंकें). विश्व हिन्दू परिषद के अंतरराष्ट्रीय संगठन महामंत्री दिनेश चंद्र जी ने कहा कि हमारा देश 1200 वर्षो तक गुलाम रहा क्योंकि हिन्दू समाज बंटा ह नई दिल्ली (इंविसंकें). विश्व हिन्दू परिषद के अंतरराष्ट्रीय संगठन महामंत्री दिनेश चंद्र जी ने कहा कि हमारा देश 1200 वर्षो तक गुलाम रहा क्योंकि हिन्दू समाज बंटा ह Rating: 0
You Are Here: Home » जाति, वर्ग, संप्रदाय से ऊपर उठकर सम्पूर्ण भारतीय समाज को जाग्रत करें – दिनेश चंद्र जी

जाति, वर्ग, संप्रदाय से ऊपर उठकर सम्पूर्ण भारतीय समाज को जाग्रत करें – दिनेश चंद्र जी

नई दिल्ली (इंविसंकें). विश्व हिन्दू परिषद के अंतरराष्ट्रीय संगठन महामंत्री दिनेश चंद्र जी ने कहा कि हमारा देश 1200 वर्षो तक गुलाम रहा क्योंकि हिन्दू समाज बंटा हुआ था. आज दुनिया भर में पुन: ऐसी जेहादी ताकतें सिर उठा रही हैं जो भारत को खंडित करना चाहती हैं. हिन्दू युवाओं को इन आतंकी ताकतों के खिलाफ आवाज उठानी होगी और अपने शौर्य बल से इन ताकतों को जड़ से कुचलना होगा. उन्होंने कहा कि आतंकवाद का कोई पंथ या जाति नहीं होती है. हम सबको यह सुनिश्चित करना होगा कि जाति, वर्ग, संप्रदाय से ऊपर उठकर सम्पूर्ण भारतीय समाज को जाग्रत करें, तभी भारतवर्ष में फिर से रामराज्य स्थापित होगा. दिनेश जी दिल्ली प्रांत के संघ शिक्षा वर्ग प्रथम वर्ष के समारोप कार्यक्रम में संबोधित कर रहे थे.

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, दिल्ली प्रान्त द्वारा सेवा धाम विद्यालय मंडोली में आयोजित संघ शिक्षा वर्ग प्रथम वर्ष (प्रशिक्षण शिविर) का 10 जून को समापन हुआ. बीस  दिन तक चले संघ शिक्षा वर्ग के वर्गाधिकारी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ यमुना विहार विभाग के संघचालक सुशील गुप्ता जी थे.

संघ शिक्षा वर्ग समारोप कार्यक्रम की अध्यक्षता जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के वरिष्ठ प्रोफेसर दरवेश गोपाल जी ने की. उन्होंने कहा कि विश्व के सबसे बड़े राष्ट्रवादी संगठन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक देश के लिए पूर्णतया समर्पित हैं. वे अपना घर बार छोड़ कर देश के लिए निस्वार्थ भाव से सब कुछ समर्पित कर देते हैं. देश को उन्नति के मार्ग पर ले जाने में संघ की महत्वपूर्ण भूमिका है.

दरवेश गोपाल जी ने जेएनयू में राष्ट्र विरोधी नारे लगने की घटना को शर्मनाक बताते हुए कहा कि संघ ने इस घटना के खिलाफ उचित कदम उठाते हुए पूरे देश को इस बारे में जागरूक किया. जिस प्रकार इस घटना के विरोध में पूरा देश एकजुट हुआ, उससे स्पष्ट होता है कि संघ देश निर्माण में कितनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है. संघ शिक्षा वर्ग प्रथम वर्ष में दिल्ली प्रान्त के 30 जिलों के 285 स्वयंसेवकों ने हिस्सा लिया. स्वयंसेवकों ने शारीरिक, घोष, सांघिक गीत व कविता पाठ का प्रदर्शन किया.

About The Author

Number of Entries : 3722

Leave a Comment

Scroll to top