टीएमसी समर्थक के घऱ से हथियार बनाने की सामग्री बरामद, चल रही थी फैक्टरी Reviewed by Momizat on . मालदा (विसंकें). कालियाचक से जाकिर शेख और कोलकत्ता से वकुल शेख की गिरफ्तारी के बाद कालियाचक इलाके में ही सक्रिय टीएमसी समर्थक के घऱ में हथियारों की फैक्टरी होने मालदा (विसंकें). कालियाचक से जाकिर शेख और कोलकत्ता से वकुल शेख की गिरफ्तारी के बाद कालियाचक इलाके में ही सक्रिय टीएमसी समर्थक के घऱ में हथियारों की फैक्टरी होने Rating: 0
You Are Here: Home » टीएमसी समर्थक के घऱ से हथियार बनाने की सामग्री बरामद, चल रही थी फैक्टरी

टीएमसी समर्थक के घऱ से हथियार बनाने की सामग्री बरामद, चल रही थी फैक्टरी

मालदा (विसंकें). कालियाचक से जाकिर शेख और कोलकत्ता से वकुल शेख की गिरफ्तारी के बाद कालियाचक इलाके में ही सक्रिय टीएमसी समर्थक के घऱ में हथियारों की फैक्टरी होने की जानकारी मिली है. पुलिस ने कार्रवाई के दौरान टीएमसी समर्थक इस्ताबुल शेख के घर से हथियार और भारी मात्रा में हथियार बनाने की सामग्री बरामद की है. पुलिस ने कार्रवाई के दौरान 6 पाइपगन, एक बंदूक, दो मास्केट (लोकल गन), 20 कार्टरेज, साथ ही बंदूक बनाने की सामग्री बरामद हुई है. 25 अगस्त दोपहर को पुलिस की कार्रवाई के दौरान सामग्री बरामद की गई है. इस्ताबुल शेख का घऱ सुजापुर के जोगीमोर इलाके में है.

घटना के बारे में जानकारी पुलिस अधीक्षक अर्नब घोष ने कालियाचक पुलिस थाना में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान मीडिया को दी. उन्होंने बताया कि इस मामले में इस्ताबुल शेख, दिलवर शेख को गिरफ्तार किया गया है, गिरफ्तार दो अन्य आरोपियों में सोनू बिहारी और झारखंड के कोदरमा का निवासी बिट्टू शर्मा शामिल है, दोनों ही कुख्यात अपराधी हैं. इस्ताबुल शेख और दिलवर शेख के खिलाफ हत्या, गैर कानूनी धंधों में संलिप्त होने, गैर कानूनी रूप से हथियार रखने के आरोप हैं.

पुलिस सूत्रों के अनुसार जोगीमोर इलाके में इस्ताबुल का पक्का मकान है, यहीं पर हथियारों की फैक्टरी चला रहा था. वह क्षेत्र में तृणमूल कांग्रेस का सक्रिय कार्यकर्ता है और क्षेत्र के तृणमूल कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष का दाहिना हाथ माना जाता है. दूसरी ओर सोनू बिहारी तथा बिट्टू शर्मा सुपारी किलर हैं. पुलिस के अनुसार कालियाचक में हुए विभिन्न संघर्षों में हथियारों की आपूर्ति इन्हीं द्वारा की जाती रही है. जिला पुलिस अधीक्षक अर्नब घोष के अनुसार पिछले एक माह की अवधि के दौरान 30 फयर आर्म्स बरामद किए गए हैं, तथा 150 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जिनमें से 25 कुख्यात अपराधी हैं.

मामले में टीएमसी के जिलाध्यक्ष मुयाज्जम हुसैन का कहना है कि पकड़े गए लोगों से पार्टी का कोई लेना देना नहीं है, ये सभी सीपीएस के साथ हैं. दूसरी ओर सीपीएम के जिला मंत्री अंबर मित्रा का कहना है कि पूर् प्रांत में टीएमसी के नेताओं-नेत्रियों की ऐसे लोगों से संबद्धता है, कालियाचक अलग नहीं है. पकड़े गए सभी आरोपी टीएमसी की छत्रछाया में हैं.

About The Author

Number of Entries : 3679

Leave a Comment

Scroll to top