दिल्ली का शीतकालीन संघ शिक्षा वर्ग (प्रथम वर्ष) संपन्न Reviewed by Momizat on . झिंझोली (सोनीपत), 3 जनवरी. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ शाखाओं के माध्यम से, जनजागरण के छोटे छोटे कार्यक्रमों के जरिये व्यक्ति निर्माण का कार्य 1925 से कर रहा है. सं झिंझोली (सोनीपत), 3 जनवरी. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ शाखाओं के माध्यम से, जनजागरण के छोटे छोटे कार्यक्रमों के जरिये व्यक्ति निर्माण का कार्य 1925 से कर रहा है. सं Rating: 0
You Are Here: Home » दिल्ली का शीतकालीन संघ शिक्षा वर्ग (प्रथम वर्ष) संपन्न

दिल्ली का शीतकालीन संघ शिक्षा वर्ग (प्रथम वर्ष) संपन्न

Sangh Shiksha Varg Samapan- Sheetkaleen- Delhi Prantझिंझोली (सोनीपत), 3 जनवरी. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ शाखाओं के माध्यम से, जनजागरण के छोटे छोटे कार्यक्रमों के जरिये व्यक्ति निर्माण का कार्य 1925 से कर रहा है. संघ का उद्देश्य भारत को स्वावलंबी, सपंन्न, स्वाभिमानी, शक्तिशाली व सस्कांरित राष्ट्र बनाना है. यह बात संघ के उत्तर क्षेत्र के संघचालक श्री बजरंग लाल गुप्त ने कही. वे संघ की दिल्ली प्रांत इकाई द्वारा झिंझोली सोनीपत के इस साधना स्थली केन्द्र पर महाविद्यालय के छात्रों के प्रथम वर्ष के संघ शिक्षा वर्ग के समापन समारोह को संबोधित कर रहे थे.

14 दिसंबर 2014 से शुरू हुए इस संघ शिक्षा वर्ग में स्नातक स्तर के 84 शिक्षार्थी सम्मलित हुये. वर्ग में कुल 14 शिक्षकों समेत 25 कार्यकर्ता तीन सप्ताह तक इन शिक्षार्थियों के साथ शिक्षण कार्यक्रम में निरंतर लगे रहे. वर्ग को संघ के वरिष्ठ प्रचारकों का सान्निध्य भी मिला जिनमें क्षेत्रीय प्रचारक रामेश्वर, अ.भा.संपर्क प्रमुख अरुण कुमार, स्वदेशी जागरण मंच के कश्मीरी लाल जी शामिल हैं.

Sangh Shiksha Varg-SheetKaleen- Delhiकार्यक्रम के अध्यक्ष डा. अजय दीवान ने, जो कि राजीव गॉधी कैंसर हॉस्पीटल के निदेशक हैं, अपने  उद्धबोधन में कहा कि वे स्वयंसेवकों के शिक्षण को देख विस्मित हैं, यहां शारीरिक ही नहीं अपितु नैतिक शिक्षा का पूरा डोज़ दिया जाता है जो कि एक स्वस्थ व्यक्ति के लिये जरूरी है, जिसे चिकित्सा विज्ञान ने भी माना है. उन्होंने कहा कि आज के इस कार्यक्रम को देख उनकी सोच में बदलाव आया है. इससे पूर्व,  वर्गाधिकारी श्री रविशेखर ने वर्ग का वृत्त प्रस्तुत किया. मंच पर दिल्ली प्रांत के संघचालक श्री कुलभूषण आहूजा व वर्गाधिकारी श्री मुन्नालाल जैन भी विराजमान थे.

नये शिक्षार्थियों द्वारा सुदंर शारीरिक प्रदर्शन व घोष का कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया. बेहद ठंड व बारिश होने के बावजूद कार्यक्रम में अच्छी संख्या में स्वानुशासित बच्चे, महिलायें व वयोवृद्ध नागरिक उपस्थित थे.

SSV Delhi-pic-5

 

 

 

 

 

 

SSV-2

 

 

 

 

 

 

SSV-4

 

 

 

 

 

 

SSV Delhi

About The Author

Number of Entries : 3868

Leave a Comment

Scroll to top