देश को तोड़ने के लिए ‘ब्रेकिंग इंडिया ब्रिगेड’ सक्रिय है – डॉ. मनमोहन वैद्य जी Reviewed by Momizat on . उज्जैन (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय समन्वय बैठक महाकाल मंदिर के समीप स्थित माधव सेवा न्यास के महाकाल भक्त निवास में बुधवार से प्रारंभ हो गई उज्जैन (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय समन्वय बैठक महाकाल मंदिर के समीप स्थित माधव सेवा न्यास के महाकाल भक्त निवास में बुधवार से प्रारंभ हो गई Rating: 0
You Are Here: Home » देश को तोड़ने के लिए ‘ब्रेकिंग इंडिया ब्रिगेड’ सक्रिय है – डॉ. मनमोहन वैद्य जी

देश को तोड़ने के लिए ‘ब्रेकिंग इंडिया ब्रिगेड’ सक्रिय है – डॉ. मनमोहन वैद्य जी

उज्जैन (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय समन्वय बैठक महाकाल मंदिर के समीप स्थित माधव सेवा न्यास के महाकाल भक्त निवास में बुधवार से प्रारंभ हो गई. बैठक का समापन 04 जनवरी को होगा. संघ की अखिल भारतीय समन्वय बैठक वर्ष में दो बार क्रमशः सितंबर व जनवरी माह में होती है. इसी क्रम में यह बैठक हो रही है. अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख डॉ. मनमोहन वैद्य जी ने पत्रकारों से चर्चा के दौरान जानकारी प्रदान की. उनके साथ मध्य क्षेत्र संघचालक अशोक सोहनी जी भी उपस्थित थे.

डॉ. मनमोहन वैद्य जी ने कहा कि संघ के प्रमुख कार्यकर्ता विभिन्न क्षेत्रों में संगठन का कार्य देखते हैं. उनके सतत प्रवास चलते हैं. प्रवास के दौरान नागरिक क्षेत्रों में लोगों से मिलते हैं. लोगों से प्राप्त जानकारियों को समग्र रूप से समन्वय बैठक में रखा जाता है. ऐसे सभी प्रकल्पों के कार्यकर्ताओं को समाज के बीच से जो अनुभव व सुझाव मिलते हैं, उनको इस बैठक में साझा किया जाता है. यही इस बैठक में होगा. इसमें कोई निर्णय नहीं लिया जाएगा.

संघ के विभिन्न संगठनों की अपनी-अपनी व्यवस्था है. उसी के अनुसार वे अपने निर्णय लेते हैं. समन्वय बैठक में चर्चा होकर विचार होता है तथा मार्गदर्शन मिलता है. संघ के विविध संगठनों में से कुछ जनसंगठनों के पदाधिकारियों की यह बैठक हो रही है. बैठक में मुख्य रूप से स्वदेशी जागरण मंच, विश्व हिन्दू परिषद, भारतीय किसान संघ, वनवासी कल्याण परिषद, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, भारतीय जनता पार्टी आदि जनसंगठनों के कार्यकर्ता उपस्थित हैं.

डॉ. वैद्य जी ने पत्रकारों के प्रश्नों का उत्तर में कहा कि संघ कार्य सतत चल रहा है. संघ का कार्य पिछले वर्षों में और अधिक बढ़ा है. वर्ष 2010 से इसमें निरंतर प्रगति होती जा रही है. उदाहरण के लिये वर्ष 2016 में वर्ष भर में ज्वॉइन आरएसएस में जितनी रिक्वेस्ट आई, उसकी तुलना में वर्ष 2017 में 45 प्रतिशत अधिक रिक्वेस्ट आईं. जनवरी 2015 के पहले छह माह में 31 हजार 800 रिक्वेस्ट आईं, वहीं वर्ष 2016 के प्रथम 6 माह में 47 हजार 300 रिक्वेस्ट, वर्ष 2017 में 71 हजार 800 रिक्वेस्ट प्राप्त हुईं. यह संघ की बढ़ती स्वीकार्यता का प्रतीक है. उन्होंने कहा कि बढ़ते हुए संघ कार्य को समझने के लिये जिला स्तर के कार्यकर्ताओं की क्षमता विकास हेतु कार्यकर्ता विकास वर्ग का आयोजन गत 4 वर्षों से चल रहा है. अब खंड स्तर के कार्यकर्ता विकास वर्ग आयोजित होंगे. स्वयंसेवकों की समाज परिवर्तन के कार्य में सक्रियता बढ़ाने पर भी बल दिया जाएगा.

पुणे की घटना को लेकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर लगाए जा रहे आरोपों को लेकर उन्होंने कहा कि इस समय देश को तोड़ने के लिए ‘ब्रेकिंग इंडिया ब्रिगेड’ सक्रिय है. कांग्रेस द्वारा महाराष्ट्र में जारी हिंसा के पीछे संघ का हाथ होने के आरोप पर कहा कि “संघ पर आरोप लगाना कांग्रेस की पुरानी आदत है, इसमें कुछ नया नहीं है. यह ब्रिगेड भाषा और जाति के नाम पर तोड़ने के प्रयास में लगी है.” हिन्दू समाज जब भी एक होता है और यह (ब्रेकिंग इंडिया ब्रिगेड) तोड़ने का काम शुरू कर देते हैं. जब इनके राजनीतिक हित पूरे नहीं होते, तो वे संघ पर आरोप लगाने लगते हैं.

About The Author

Number of Entries : 3788

Leave a Comment

Scroll to top