ब्लैकमेल, धर्म परिवर्तन और अत्याचार की अंतहीन कहानी Reviewed by Momizat on . पटना (विसंकें). बिहार में लव जिहाद के मामले थम नहीं रहे हैं. 13 जून, 2016 को पटना में ऐसे ही एक सनसनीखेज मामले का खुलासा हुआ. कोलकाता की रहने वाली युवती ने पटना पटना (विसंकें). बिहार में लव जिहाद के मामले थम नहीं रहे हैं. 13 जून, 2016 को पटना में ऐसे ही एक सनसनीखेज मामले का खुलासा हुआ. कोलकाता की रहने वाली युवती ने पटना Rating: 0
You Are Here: Home » ब्लैकमेल, धर्म परिवर्तन और अत्याचार की अंतहीन कहानी

ब्लैकमेल, धर्म परिवर्तन और अत्याचार की अंतहीन कहानी

पटना (विसंकें). बिहार में लव जिहाद के मामले थम नहीं रहे हैं. 13 जून, 2016 को पटना में ऐसे ही एक सनसनीखेज मामले का खुलासा हुआ. कोलकाता की रहने वाली युवती ने पटना के गांधी मैदान थाना में ‘लव जिहाद’ का मामला दर्ज कराया है. आसिफ नाम के व्यक्ति ने ब्लैकमेल कर निकाह किया, फिर धर्म परिवर्तन और जारी हुआ अत्याचार का दौर…. फेसबुक से शुरू हुई दोस्ती प्यार में परिणत हुई. युवक ने धोखे से अश्लील वीडियो बनाया और ब्लैकमेल कर संबंध बनाता रहा. शादी के पहले इस्लाम धर्म अपनाने को मजबूर किया और इस्लाम धर्म अपनाने के बाद धर्म की रीति नीति नहीं मानने पर मारपीट की गई. जबरन गौमांस खिलाने की कोशिश की गई और दोस्तों के साथ संबंध बनाने पर मजबूर किया गया. जब लड़की ने विरोध किया तो मारपीट कर मायके छोड़ आया. महिला थाने में आरोपी आसिफ और उसके दोस्तों के विरूद्ध धर्म को ठेस पहुंचाने के लिए (295ए), गर्भपात (313), मारपीट (323), बंधक बनाना (344), दुष्कर्म (376), नशीला पदार्थ खिलाना (328), हत्या करने की धमकी देने के साथ रंगदारी (387), धोखाधड़ी (420), कपटपूर्ण ढंग से शादी (496) तथा धमकी (506) के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है.

पुलिस में दर्ज रिपोर्ट में उसने आपबीती बताते हुए कहा है कि वर्ष 2015 में फेसबुक पर आसिफ से संपर्क हुआ. संपर्क जब आगे बढ़ा तो वाट्सअप और मोबाइल पर बात होने लगी. इसी बीच वह कोलकाता से घूमने के लिए पटना आ गई. यहां उससे भेंट हुई. एक दिन उसने मीठापुर बस स्टैंड पर कोल्ड ड्रिंक में नशा मिलाकर पिला दिया, फिर बलात्कार कर डाला. दो-तीन घंटे के बाद जब नशा कम हुआ तो कपड़े अस्त-व्यस्त देख समझ आया कि उसके साथ कुछ गलत हुआ है. वह रोने लगी तो उसने धमकाते हुए एमएमएस दिखाया जो उसने तैयार कर लिया था. फिर अपने एक रिश्तेदार के यहां पटना कॉलेज के पास ले गया, जहां उसने उसके मकान में रखा. यहां वह बराबर अपने घर फुलवारी शरीफ से आकर संबंध बनाता था.

फिर वह उसे अपने घर के नाम पर फुलवारीशरीफ स्थित एक फ्लैट में लेकर गया. यहां उसने धर्म परिवर्तन की बात कही. बाद में उसने अपना मोबाइल स्विच ऑफ कर लिया. उसकी तबीयत बिगड़ने लगी तो वह वापस कोलकाता आ गई. आसिफ ने जनवरी, 2016 में 28 तारीख को फोन कर उसे शादी करने का प्रलोभन देकर पटना बुला लिया. यहां गांधी मैदान स्थित एक पार्क में ले जाकर किसी मौलवी से धर्म परिवर्तन करवाया. कहा कि इस्लाम अपनाओ तभी निकाह होगा. उसका नाम आयशा कर दिया गया. वहां से उसे नसीफ कॉलोनी में किसी दोस्त के यहां शिफ्ट करवा दिया. आसिफ यहां रोज आता-जाता था. जब वह उसके घर गयी तो उसके मां-भाई ने उसके साथ मार-पीट की. वे लोग उसे जान से मार डालना चाहते थे. इसी दौरान आसिफ के बड़े भाई रिजवी हसन ने कहा कि युवती तुम यहां से कहीं नहीं जाओगी. तुम यहीं रहोगी. हां, शादी के लिए मुस्लिम धर्म अपनाना पड़ेगा. इस्लाम धर्म स्वीकार करोगी उसके तौर-तरीके को समझोगी फिर आसिफ से तुम्हारा निकाह करवा देंगे. एक सादे कागज पर हस्ताक्षर करवाकर वहीं के एक मदरसे में दाखिला करवा दिया. विभिन्न तरीकों से प्रतड़ित करने का क्रम निरंतर चलता रहा.

इसी बीच पीड़िता की मां पटना आई, किसी प्रकार इन लोगों के चंगुल से छुड़ाकर युवती को कोलकाता ले गई. सोशल मीडिया पर संचालित ‘हेल्प मी’ ग्रुप पर उसने आप बीती लिखी थी. विश्व हिन्दू परिषद् द्वारा संचालित ‘हिन्दू हेल्प लाईन’ पर संपर्क करने के बाद स्थानीय युवकों ने उसे पूरा सहयोग दिया और पटना में इस मामले का खुलासा हुआ. बजरंग दल के अमित गुप्ता ने अपने मित्रों के साथ मिलकर इस मामले में प्रमुख भूमिका निभाई. बजरंग दल ने एक पत्रकार वार्ता आयोजित कर मामले की सघन जांच, पीड़िता को न्याय एवं बिहार सरकार से ऐसे मामलों में अविलंब कार्रवाई की मांग की है.

About The Author

Number of Entries : 3721

Leave a Comment

Scroll to top