युवा दिवस के अवसर पर 10 हजार विद्यार्थियों ने किया सूर्य नमस्कार Reviewed by Momizat on . राष्ट्रीय युवा दिवस पर सूर्य नमस्कार यज्ञ का आयोजन मेरठ (विसंकें). स्वामी विवेकानन्द जयन्ती के अवसर पर मेरठ में सूर्य नमस्कार यज्ञ का आयोजन किया गया. स्वामी विव राष्ट्रीय युवा दिवस पर सूर्य नमस्कार यज्ञ का आयोजन मेरठ (विसंकें). स्वामी विवेकानन्द जयन्ती के अवसर पर मेरठ में सूर्य नमस्कार यज्ञ का आयोजन किया गया. स्वामी विव Rating: 0
You Are Here: Home » युवा दिवस के अवसर पर 10 हजार विद्यार्थियों ने किया सूर्य नमस्कार

युवा दिवस के अवसर पर 10 हजार विद्यार्थियों ने किया सूर्य नमस्कार

राष्ट्रीय युवा दिवस पर सूर्य नमस्कार यज्ञ का आयोजन

मेरठ (विसंकें). स्वामी विवेकानन्द जयन्ती के अवसर पर मेरठ में सूर्य नमस्कार यज्ञ का आयोजन किया गया. स्वामी विवेकानन्द जयंती समारोह समिति की ओर से राष्ट्रीय युवा दिवस पर जागृति विहार एक्सटेंशन में कार्यक्रम का आयोजन किया गया. कार्यक्रम में शहर के लगभग सौ स्कूल – कॉलेजों के दस हजार छात्र-छात्राओं ने सूर्य नमस्कार यज्ञ में भाग लिया. आर्यन पब्लिक स्कूल के बच्चों ने संगीत की धुन पर योग प्रस्तुत किया तो अन्य स्कूली बच्चों ने देशभक्ति की कविताएं प्रस्तुत कीं.

मुख्य वक्ता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्र संघचालक दर्शन लाल अरोड़ा जी ने कहा कि स्वामी जी ने भारतवासियों को अपने देश से प्रेम करना, उसे आदर देना और उसके लिये काम करना सिखाया. उनका दृढ़ विश्वास पश्चिमी सभ्यता की चमक-दमक और तड़क-भड़क से कभी नहीं डगमगाया, न ही इस कारण उनमें कभी क्षण भर को भी हीन भावना आई. इसमें कोई संदेह नहीं कि उनके साहस और निष्ठा की शक्ति ने ही पश्चिम के सैकड़ों लोगों को भारत और उसकी सभ्यता के प्रति प्रेम करने के लिये प्रेरित किया था. भारत और उसकी जनता के लिये स्वामी जी प्रेम की प्रतिमूर्ति थे.

मुख्य अतिथि प्रदेश के खेल एवं युवा मामलों के मंत्री पूर्व क्रिकेटर चेतन चौहान जी ने विद्यार्थियों से आह्वान किया कि वह खेलकूद में पूरे मनोयोग से भाग लें, क्योंकि यह शरीर को स्वस्थ रखने के साथ ही जीवन में अनुशासन भी लाता है. प्रदेश सरकार भी खेलों को लेकर गंभीर है. गन्ना राज्य मंत्री सुरेश राणा जी ने सूर्य नमस्कार को पूर्ण व्यायाम बताते हुए कहा कि इसका संबंध किसी धर्म या पूजा पद्धति से नहीं है. कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे संयुक्त शिक्षा निदेशक डॉ. दिव्यकांत शुक्ला जी ने कहा कि उन्होंने अपनी अब तक की उम्र में इतना भव्य और अनुशासित कार्यक्रम नहीं देखा. कार्यक्रम संयोजक डॉ. शिवराज पुण्डीर जी, सह-संयोजक डॉ. मनोज अग्रवाल जी और कृष्ण कुमार जी ने आभार व्यक्त किया.

About The Author

Number of Entries : 3788

Leave a Comment

Scroll to top