राष्ट्रहित के मुद्दों पर मंथऩ के साथ विहिप केन्द्रीय मार्गदर्शक मंडल की बैठक प्रारम्भ Reviewed by Momizat on . हरिद्वार. विश्व हिन्दू परिषद् के केंद्रीय मार्गदर्शक मण्डल की बैठक पूज्य स्वामी विवेकानन्द सरस्वती जी महाराज तथा युगपुरुष पूज्य महामण्डलेश्वर स्वामी परमानन्द जी हरिद्वार. विश्व हिन्दू परिषद् के केंद्रीय मार्गदर्शक मण्डल की बैठक पूज्य स्वामी विवेकानन्द सरस्वती जी महाराज तथा युगपुरुष पूज्य महामण्डलेश्वर स्वामी परमानन्द जी Rating: 0
You Are Here: Home » राष्ट्रहित के मुद्दों पर मंथऩ के साथ विहिप केन्द्रीय मार्गदर्शक मंडल की बैठक प्रारम्भ

राष्ट्रहित के मुद्दों पर मंथऩ के साथ विहिप केन्द्रीय मार्गदर्शक मंडल की बैठक प्रारम्भ

हरिद्वार. विश्व हिन्दू परिषद् के केंद्रीय मार्गदर्शक मण्डल की बैठक पूज्य स्वामी विवेकानन्द सरस्वती जी महाराज तथा युगपुरुष पूज्य महामण्डलेश्वर स्वामी परमानन्द जी महाराज की अध्यक्षता में हरिद्वार में प्रारम्भ हुई. बैठक के प्रारम्भ में विश्व हिन्दू परिषद के कार्याध्यक्ष आलोक कुमार जी ने सभी सन्तों का स्वागत करते हुए अपने प्रस्ताविक उद्बोधन में लोकसभा चुनावों के परिणामों पर संतोष व्यक्त किया और कहा कि इस चुनाव में राष्ट्रवाद, हिन्दुत्व और विकास के मुद्दों की विजय हुई है, परिवारवाद, जातिवाद, तुष्टिकरण और भ्रष्टाचार की राजनीति परास्त हुई है. विश्व हिन्दू परिषद के अध्यक्ष वी.एस. कोकजे ने धारा 370 तथा 35ए की विस्तृत जानकारी पूज्य सन्तों के समक्ष रखी. देश भर से पधारे पूज्य संतों ने यह माना कि पिछली नरेन्द्र मोदी सरकार द्वारा राष्ट्रहित में जो महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए थे, उन्हीं पर देश की जनता ने अपनी स्वीकृति प्रदान की है.

प्रेसवार्ता में हरिद्वार के अखंड परमधाम आश्रम के पूज्य संत युगपुरुष परमानंद जी महाराज ने कहा कि इस सरकार ने अपने पहले कार्यकाल में राष्ट्रहित में अनेक महत्वपूर्ण कार्य सफलतापूर्वक प्रारंभ किये थे. जिनमें गो-वंश के संरक्षण, संवर्धन व सुरक्षा की दृष्टि से राष्ट्रीय कामधेनु आयोग की स्थापना, पतित पावनी माँ गंगा की निर्मलता, जिसे कुम्भ के अवसर पर सम्पूर्ण विश्व ने सराहा है, नागरिकता संशोधन अधिनियम के माध्यम से पाकिस्तान, बांग्लादेश व अफगानिस्तान में जिहादी अभियानों से पीड़ित अल्पसंख्यक हिन्दू, बौद्ध, जैन समाज को भारत में सम्मानपूर्वक जीवन जीने का अधिकार, असम में संकल्पपूर्वक भारतीय राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) को बनाने का सफल प्रयास तथा इसे सम्पूर्ण देश में लागू करने का संकल्प भी चुनाव अभियान में प्रकट किया था.

उन्होंने कहा कि देश में समान जनसंख्या नीति लागू करने, धारा 370 व 35ए को हटाना व कश्मीरी हिन्दुओं का घाटी में पुनर्वसन करना तथा जम्मू कश्मीर की राजनीति सम्पूर्ण प्रदेश की भावनाओं का प्रतिनिधित्व करे, इसके लिए विधानसभा क्षेत्रों का पुनः सीमन भी भाजपा के संकल्प पत्र में शामिल था. इसी संकल्प पत्र में श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य श्री राममंदिर निर्माण के रास्ते में आने वाली सब बाधाओं को दूर करने का संकल्प भी किया गया है. जिसको भी अब शीघ्रता से मूर्त रूप देना आवश्यक है.

बैठक में मार्गदर्शक मण्डल ने विश्वास जताया कि नवनिर्वाचित केंद्र सरकार इन सब दिशाओं में शीघ्र आवश्यक कदम उठाएगी तथा देश और समाज के हित में, राष्ट्रीयता, हिन्दुत्व और विकास के सब कार्यों में देश की जनता सरकार को सहयोग देगी. उपस्थित संतों ने नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में गठित सरकार के प्रति अपनी शुभेच्छा व्यक्त करते हुए प्रभु से कामना की है कि सरकार देश के हित और विकास में सफल हो.

विहिप महासचिव मिलिंद परांडे ने बताया कि कल के सत्र में श्री राम जन्मभूमि के सम्बन्ध में विस्तृत चर्चा होने की सम्भावना है. हो सकता है कि पूज्य संत इस सम्बन्ध में कोई प्रस्ताव भी लाएं.

हरिद्वार के भोपतवाला स्थित अखंड परमधाम में प्रारम्भ हुई दो दिवसीय बैठक में देशभर से आए पूजनीय संत उपस्थित थे.

About The Author

Number of Entries : 5221

Leave a Comment

Sign Up for Our Newsletter

Subscribe now to get notified about VSK Bharat Latest News

Scroll to top