विमुद्रीकरण देश में काले धन के खिलाफ सबसे बड़ा जनांदोलन – प्रो. भगवती प्रकाश शर्मा जी Reviewed by Momizat on . पाली, जोधपुर (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ राजस्थान क्षेत्र के संघचालक प्रो. भगवती प्रकाश शर्मा जी ने कहा कि ‘‘विमुद्रीकरण देश में काले धन के खिलाफ सबसे बड़ पाली, जोधपुर (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ राजस्थान क्षेत्र के संघचालक प्रो. भगवती प्रकाश शर्मा जी ने कहा कि ‘‘विमुद्रीकरण देश में काले धन के खिलाफ सबसे बड़ Rating: 0
You Are Here: Home » विमुद्रीकरण देश में काले धन के खिलाफ सबसे बड़ा जनांदोलन – प्रो. भगवती प्रकाश शर्मा जी

विमुद्रीकरण देश में काले धन के खिलाफ सबसे बड़ा जनांदोलन – प्रो. भगवती प्रकाश शर्मा जी

पाली, जोधपुर (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ राजस्थान क्षेत्र के संघचालक प्रो. भगवती प्रकाश शर्मा जी ने कहा कि ‘‘विमुद्रीकरण देश में काले धन के खिलाफ सबसे बड़ा जनांदोलन है, जिसके कारण देश को हानि पहुंचाने वाले आतंकवादियों, नक्सलवादियों, नशा कारोबारियों, रिश्वतखोरों समेत देश के अहित में कार्य करने वाले हर व्यक्ति की कमर टूटी है.’’ वे रविवार को स्थानीय नगर परिषद सभागार में ‘‘विमुद्रीकरण में निहित राष्ट्रहित’’ विषय पर राष्ट्रीय  स्वयंसेवक संघ के प्रचार विभाग द्वारा आयोजित संगोष्ठी को संबोधित कर रहे थे.

उन्होंने कहा कि विमुद्रीकरण के पश्चात कष्ट सहते हुए भी देश का गरीब इस पुनीत कार्य में माथे पर शिकन लाए बगैर अपनी भावी पीढ़ियों के उज्ज्वल भविष्य की कामना को साकार होते देख रहा है. इस फैसले के पश्चात जहां नकली धन के काराबोरियों को नुकसान हुआ है, वहीं बैंक में जमा होने के पश्चात लोगों के घरों में पड़ा पैसा देश की जीडीपी दर बढ़ाने में प्रमुख भूमिका निभाएगा. उन्होंने नोटबंदी के साथ साथ जीएसटी कानून के पहलुओं पर भी प्रकाश डालते हुए बताया कि इस कानून के चलते बगैर बिल कारोबार करने वाले व्यापारियों की पहचान आसान होगी तथा बिल के साथ किया गया कारोबार देश की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने में महती भूमिका निभाएगा.

इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के जोधपुर प्रांत संघचालक ललित शर्मा जी तथा कार्यक्रम अध्यक्ष के नाते वरिष्ठ सी.ए. शिवदत्त कालानी उपस्थित थे. विभाग संघचालक कमल किशोर गोयल जी ने उपस्थित गणमान्य नागरिकों का आभार व्यक्त किया. इस अवसर पर प्रो. भगवती प्रकाश शर्मा जी ने वहां उपस्थित लोगों की विमुद्रीकरण से जुड़ी जिज्ञासाओं का निराकरण भी किया.

About The Author

Number of Entries : 3679

Leave a Comment

Scroll to top