विश्व के किसी भी देश में सताये जा रहे हिन्दुओं का अपना घर भारत – रघुनंदन शर्मा जी Reviewed by Momizat on . भुवनेश्वर (विसंकें). दुनिया भर में रह रहे हिन्दुओं को जब भी सताया गया है, तब हिन्दू सहयोग के लिये भारत की तरफ ही देखते हैं. हमारा देश एवं देश के लोग भी उनके सहय भुवनेश्वर (विसंकें). दुनिया भर में रह रहे हिन्दुओं को जब भी सताया गया है, तब हिन्दू सहयोग के लिये भारत की तरफ ही देखते हैं. हमारा देश एवं देश के लोग भी उनके सहय Rating: 0
You Are Here: Home » विश्व के किसी भी देश में सताये जा रहे हिन्दुओं का अपना घर भारत – रघुनंदन शर्मा जी

विश्व के किसी भी देश में सताये जा रहे हिन्दुओं का अपना घर भारत – रघुनंदन शर्मा जी

15_04_2015-15bhup06-c-2भुवनेश्वर (विसंकें). दुनिया भर में रह रहे हिन्दुओं को जब भी सताया गया है, तब हिन्दू सहयोग के लिये भारत की तरफ ही देखते हैं. हमारा देश एवं देश के लोग भी उनके सहयोग को हरदम आगे रहते हैं. विश्व के किसी भी देश में सताये जा रहे हिन्दुओं का अपना घर भारत है. यहां तक कि तिब्बत के बौद्ध लोगों को भी सांस्कृतिक दृष्टिकोण से हम उन्हें शरणार्थी के रूप में स्वीकार कर रहे हैं. बांग्लादेश से प्रताड़ित होकर भारत में शरण लेने वाले हिन्दुओं की समस्या जटिल है. भारत रक्षा मंच के अध्यक्ष रघुनंदन शर्मा, संपादक अनिल धीर, संयोजक सूर्यकांत केलकर, राष्ट्रीय सह संयोजक मुरली शर्मा ने कहा कि ऐसे समय में केंद्रस सरकार ने बांग्लादेश में प्रताड़ित हिन्दुओं को भारतीय नागरिकता देने का जो निर्णय लिया है, वह स्वागत योग्य है.

नई दिल्ली में आयोजित भारत रक्षा मंच की दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में भाग लेकर भुवनेश्वर पहुंचे मंच के राष्ट्रीय सह संयोजक मुरली शर्मा ने पत्रकार वार्ता में कहा कि देश में गैरकानूनी ढंग से घुसकर राशनकार्ड, मतदाता पहचान पत्र हासिल करने के साथ देशवासियों की खाद्य सामग्री लूटने, नियुक्ति में सहभागी बनने, कानून की स्थिति बिगाड़ने तथा आतंकवादी कार्य को बढ़ावा देने वाले बांग्लादेशी घुसपैठियों को भारत देश से खदेड़ने के लिए मंच ने केंद्र सरकार से मांग की है. इसके लिए मंच केंद्र पर राजनीतिक, प्रशासनिक, कानूनी तथा मीडिया के माध्यम से दबाव बनाए रखने का निर्णय लिया है. सुप्रीमकोर्ट में दाखिल एक जनहित याचिका के विचार समय में अटॉर्नी जनरल मुकुल रुस्तगी ने जानकारी दी है कि भारत सरकार बांग्लादेशी शरणार्थी हिन्दुओं को भारत की नागरिकता देने के पक्ष में है. इसके लिए चार सप्ताह के अंदर भारत सरकार की तरफ से शपथ पत्र दाखिल किया जाएगा. रक्षामंच के राष्ट्रीय सह संयोजक मुरली शर्मा ने केंद्र सरकार को प्रयास के लिए धन्यवाद दिया है. 29 अप्रैल 2014 को भारत रक्षा मंच ओडिशा की तरफ से राज्पाल को दिए ज्ञापन में मछुआरों को बायोमीट्रिक परिचय पत्र देने की मांग की थी. मंच के सदस्यों ने कहा कि मांग को ओडिशा सरकार ने मानकर मछुआरों को परिचय पत्र प्रदान करना शुरू कर दिया है, जो स्वागत योग्य कदम है. मुरली शर्मा ने कहा कि नई दिल्ली में आयोजित दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय सह संपर्क प्रमुख अरुण कुमार विशेष अतिथि के तौर पर उपस्थित थे.

About The Author

Number of Entries : 3628

Comments (1)

  • ashwani kumar

    Bahut achhi soch hai. Hamare pas Sena hai par uska sahi upyog nahi hota. Agar aap jaisi desh bhakti ki soch ho to desh ki seemayen surakshit hongi.

    Dhanyawad

    Reply

Leave a Comment

Scroll to top