संघ की शाखा साधना स्थल है – शिव नारायण जी Reviewed by Momizat on . गोरखपुर (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पूर्वी उत्तर प्रदेश क्षेत्र के प्रचारक शिवनारायण जी ने कहा कि संघ की शाखा साधना स्थल है. साधना अगर खंडित है तो मकसद प गोरखपुर (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पूर्वी उत्तर प्रदेश क्षेत्र के प्रचारक शिवनारायण जी ने कहा कि संघ की शाखा साधना स्थल है. साधना अगर खंडित है तो मकसद प Rating: 0
You Are Here: Home » संघ की शाखा साधना स्थल है – शिव नारायण जी

संघ की शाखा साधना स्थल है – शिव नारायण जी

गोरखपुर (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पूर्वी उत्तर प्रदेश क्षेत्र के प्रचारक शिवनारायण जी ने कहा कि संघ की शाखा साधना स्थल है. साधना अगर खंडित है तो मकसद पूरा होने से रहा. लिहाजा घंटे भर की शाखा को साधना मानें, इसमें इसी भाव से आएं. स्वयंसेवक वह है जो खुद की प्रेरणा से संघ में समाज और देश को अपना सर्वश्रेष्ठ देने के भाव से आता है. शिव नारायण जी रविवार को गोरखपुर महानगर स्थित महाराणा प्रताप इंटर कॉलेज के मैदान में स्वयंसेवक एकत्रीकरण कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे.

उन्होंने कहा कि संघ की 90 साल की उपलब्धियां ऐसे ही स्वयंसेवकों के जज्बे का नतीजा हैं. आज संघ अपने एक लाख 56 हजार सेवा प्रकल्पों के माध्यम से देश के हर क्षेत्र में प्रभावी तरीके से मौजूद है. पर, सिर्फ प्रभावी मौजूदगी ही काफी नहीं है. मौजूदगी के साथ अपने मकसद के मुताबिक सार्थक बदलाव भी दिखना चाहिए. ऐसा तभी मुमकिन है, जब आप अपने आस-पास होने वाली घटनाओं पर सतर्क नजर रखेंगे. उसी अनुसार बदलाव का प्रयास करेंगे, बिना बदलाव के कुछ होने से रहा. प्रयास करके नए स्वयंसेवक बनाएं. महीने भर में एक बार शाखा में सूचीबद्ध हर स्वयंसेवक से अनिवार्य रूप से मिलें.उनसे संघ के काम और विचारधारा पर चर्चा करें. लोग जुड़ेंगे, साथ काम करेंगे तो अपना काम भी बढ़ेगा. देश परमवैभव की ओर जाएगा. हमारा अंतिम मकसद भी यही है.

क्षेत्र प्रचारक जी ने कहा कि देश को परमवैभव की ओर ले जाने का काम वही कर सकते हैं, जिनके लिए देश एवं समाज सर्वोपरि हो. ऐसे स्वयंसेवक समाज एवं देश के जिस क्षेत्र में जाएंगे, अपने कार्य एवं व्यवहार से औरों के लिए उदाहरण बनेंगे. हमारे प्रधानमंत्री भी ऐसे ही स्वयंसेवकों में से एक हैं. देश और समाज में बहुत कुछ बदला है. बावजूद इसके अस्पृश्यता, जाति-पाति और ऊंच-नीच पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ. ये चीजें आज भी व्यथित करती हैं. इसके लिए काम करना होगा. कार्यक्रम का संचालन भाग कार्यवाह शैलेष जी ने किया. कार्यक्रम में प्रमुख रूप से प्रांत संघचालक विद्याभूषण पांडेय जी, भाग संघचालक डॉ. महेंद्र अग्रवाल जी, सहित अन्य उपस्थित रहे.

इसी क्रम में प्रान्त के सभी जिलों में नवीन गणवेशधारी स्वयंसेवको का एकत्रीकरण कार्यक्रम संपन्न हुआ. विभिन्न जिलों में संघ के विभिन्न कार्यकर्ताओं ने स्वयंसेवको का मार्गदर्शन किया. बस्ती में क्षेत्र प्रचार प्रमुख अशोक उपाध्याय जी, संतकबीरनगर में गोरक्ष प्रांत प्रचारक मुकेश विनायक जी, सिद्धार्थनगर में क्षेत्र शारीरिक शिक्षण प्रमुख गजेंद्र जी, गोरखपुर सह प्रांत प्रचारक कौशल जी, महाराजगंज में क्षेत्र कार्यकारिणी सदस्य डॉ. यूपी सिंह जी, देवरिया में सह प्रांत कार्यवाह डॉ. पृथ्वीराज सिंह जी, सलेमपुर में सेवा प्रमुख यशोदानन्द जी, कुशीनगर में धर्म जागरण प्रमुख शिवमूर्ति जी, पडरौना में प्रांत कार्यवाह डॉ. भगत सिंह जी, रसड़ा में क्षेत्र बौद्धिक प्रमुख मिथिलेश जी, मऊ में सह क्षेत्र कार्यवाह वीरेंद्र जयसवाल जी, आर्यमगढ़ में रामाशीष जी, फूलपुर में डॉ. हरिसेवक पांडेय जी ने एकत्रीकरण कार्यक्रम को संबोधित किया.

About The Author

Number of Entries : 3577

Leave a Comment

Scroll to top