समाज में राष्ट्रीयता से ओतप्रोत लोगों को जोड़ें – भय्याजी जोशी Reviewed by Momizat on . राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की दो दिवसीय समन्वय बैठक संपन्न समरस व समर्थ भारत बनाने की कार्य योजना पर हुआ मंथन जोधपुर (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यव राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की दो दिवसीय समन्वय बैठक संपन्न समरस व समर्थ भारत बनाने की कार्य योजना पर हुआ मंथन जोधपुर (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यव Rating: 0
You Are Here: Home » समाज में राष्ट्रीयता से ओतप्रोत लोगों को जोड़ें – भय्याजी जोशी

समाज में राष्ट्रीयता से ओतप्रोत लोगों को जोड़ें – भय्याजी जोशी

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की दो दिवसीय समन्वय बैठक संपन्न

समरस व समर्थ भारत बनाने की कार्य योजना पर हुआ मंथन

जोधपुर (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह भय्याजी जोशी ने राष्ट्रीय विचारों के लिए समर्पित और संगठन के व्याप में सहयोगी बनने वाले समाज के लोगों को जोड़ने का आह्वान किया. सरकार्यवाह जी जोधपुर में संघ की समन्वय बैठक के अंतिम सत्र को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने वर्तमान परिस्थितियों के अनुरूप प्राचीन भारतीय चिंतन के आधार पर समाज की व्यवस्था में आए दोषों को दूर कर एक समरस और समर्थ भारत बनाने की कार्य योजना पर मार्गदर्शन किया.

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ जोधपुर प्रांत संघचालक ललित शर्मा जी ने बताया कि संघ की यह वार्षिक बैठक लाल सागर स्थित आदर्श विद्या मंदिर परिसर में संपन्न हुई. बैठक में राजस्थान क्षेत्र से 36 संगठनों के 275 कार्यकर्ता सम्मिलित हुए. उन्होंने वर्ष भर के अपने कार्य का विवरण प्रस्तुत किया. संघ के राष्ट्रीय व्यवस्था प्रमुख मंगेश भेंडे जी, सह व्यवस्था प्रमुख अनिल ओक जी और सह शारीरिक प्रमुख जगदीश प्रसाद जी भी बैठक में सम्मिलित हुए. बैठक 14 दिसंबर को शुरू हुई और 15 दिसंबर को दोपहर बाद संपन्न हुई. बैठक में कुल 8 सत्रों में विचार विमर्श किया गया. पहले दिन पांच और दूसरे दिन तीन सत्र हुए. इन सत्रों में सामाजिक समरसता, परिवार प्रबोधन और महिला सहभाग बढ़ाने जैसे विषयों पर विचार विमर्श किया गया.

About The Author

Number of Entries : 3786

Leave a Comment

Scroll to top