सादगी और शुचिता श्री जॉर्ज फर्नांडीस की पहचान थी – भय्याजी जोशी Reviewed by Momizat on . देश की राजनीति में दशकों तक अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले श्री जॉर्ज फर्नांडीस हमारे बीच नहीं रहे. सामाजिक जीवन में सादगी और शुचिता उनकी पहचान थी. आपातकाल देश की राजनीति में दशकों तक अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले श्री जॉर्ज फर्नांडीस हमारे बीच नहीं रहे. सामाजिक जीवन में सादगी और शुचिता उनकी पहचान थी. आपातकाल Rating: 0
You Are Here: Home » सादगी और शुचिता श्री जॉर्ज फर्नांडीस की पहचान थी – भय्याजी जोशी

सादगी और शुचिता श्री जॉर्ज फर्नांडीस की पहचान थी – भय्याजी जोशी

देश की राजनीति में दशकों तक अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले श्री जॉर्ज फर्नांडीस हमारे बीच नहीं रहे.

सामाजिक जीवन में सादगी और शुचिता उनकी पहचान थी. आपातकाल का प्रखर विरोध हो, पोखरण में परमाणु विस्फोट हो अथवा करगिल युद्ध, साहसिक निर्णय लेना और कुशलता के साथ उन्हें निर्णायक परिणति तक पहुंचाना उनके चरित्र की विशेषता थी.

लोकतंत्र के प्रति प्रतिबद्धता के साथ साथ सभी विचारधाराओं के लोगों के साथ उनका समन्वय और स्वीकार्यता थी. स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में राजग संयोजक की भूमिका में वे परस्पर भिन्न विचारधारा के दलों को कुशलतापूर्वक साथ लेकर चले.

लगभग एक दशक की लंबी बीमारी के बाद मंगलवार प्रातः उन्होंने अंतिम सांस ली. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ उनके निधन को भारतीय राजनीति के लिये एक अपूरणीय क्षति मानता है. उनकी आत्मा की सदगति एवं शोकसंतप्त परिजनों को धैर्य धारण की क्षमता प्रदान करने के लिये प्रभु से प्रार्थना करता है.

सुरेश जोशी

सरकार्यवाह, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ

About The Author

Number of Entries : 4800

Leave a Comment

Scroll to top