You Are Here: Home » Articles posted by admin (Page 3)
admin

Number of Entries : 3722

06 दिसम्बर / इतिहास स्मृति – राष्ट्रीय कलंक का परिमार्जन

नई दिल्ली. भारत में विधर्मी आक्रमणकारियों ने बड़ी संख्या में हिन्दू मन्दिरों का विध्वंस किया. स्वतन्त्रता के बाद सरकार ने मुस्लिम वोटों के लालच में ऐसी मस्जिदों, मजारों आदि को बना रहने दिया. इनमें से श्रीराम जन्मभूमि मन्दिर (अयोध्या), श्रीकृष्ण जन्मभूमि (मथुरा) और काशी विश्वनाथ मन्दिर के सीने पर बनी मस्जिदें सदा से हिन्दुओं को उद्वेलित करती रही हैं. इनमें से श्रीराम मन्दिर के लिये विश्व हिन्दू परिषद् ने देश ...

Read more

वनवासी समुदाय के लिए काम करने वाली सुनीता गोडबोले जी ‘बाया कर्वे पुरस्कार’ से सम्मानित

पुणे (विसंकें). छत्तीसगढ़ का बस्तर क्षेत्र नक्सली गतिविधियों के लिए जाना जाता है. इसी क्षेत्र के वनवासी समुदाय के लिए पिछले 30 वर्षों से वनवासी कल्याण आश्रम का पूर्णकालिक कार्य करने वाली सुनीता गोडबोले जी को सामाजिक सेवा में उल्लेखनीय कार्य हेतु पुणे स्थित महर्षि कर्वे संस्था की ओर से 'बाया कर्वे पुरस्कार' से सम्मानित किया गया. सुनीता गोडबोले जी मूलतः पुणे की हैं, युवावस्था में स्नातक की शिक्षा के दौरान ही ...

Read more

04 दिसम्बर / जन्मदिवस – नव दधीचि नाना भागवत जी

नई दिल्ली. बिहार में पहले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और फिर विश्व हिन्दू परिषद के कार्य विस्तार में अपना महत्वपूर्ण योगदान देने वाले दत्तात्रेय बालकृष्ण (नाना) भागवत जी का जन्म वर्धा (महाराष्ट्र) में चार दिसम्बर, 1923 को हुआ था. छात्र जीवन में ही संघ के संस्थापक डॉ. हेडगेवार जी के सम्पर्क में आ गये थे. तब से ही संघ कार्य को इन्होंने अपने जीवन का लक्ष्य बना लिया. एक बार ये कुछ मित्रों के साथ डॉ. हेडगेवार जी से ...

Read more

02 दिसम्बर / पुण्यतिथि – बौद्धिक योद्धा सीताराम जी गोयल

नई दिल्ली. विदेशी और हिंसा पर आधारित वामपंथी विचारधारा को बौद्धिक धरातल पर चुनौती देने वालों में सीताराम गोयल जी का नाम प्रमुख है. यद्यपि पहले स्वयं भी वे कम्युनिस्ट ही थे, पर उसकी असलियत समझने के बाद उन्होंने उसके विरुद्ध झंडा उठा लिया. इसके साथ ही वे अपनी लेखनी से इस्लाम और ईसाई मिशनरियों के देशघातक षड्यन्त्रों के विरुद्ध भी देश को जाग्रत करते रहे. 16 अक्टूबर, 1921 में जन्मे सीताराम जी मूलतः हरियाणा के नि ...

Read more

आज के जीवन में जैसा एक स्वयंसेवक होना चाहिए, ठीक वैसे थे रमेश जी – डॉ. मोहन भागवत जी

दिल्ली प्रांत के पूर्व संघचालक स्व. रमेश प्रकाश जी की याद में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन नई दिल्ली. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, दिल्ली प्रांत के पूर्व संघचालक स्व. रमेश प्रकाश जी की याद में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया. सभा का आयोजन सिविक सेंटर के केदारनाथ साहनी ऑडिटोरियम में किया गया. इस दौरान राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ तथा राष्ट्र सेविका समिति सहित संघ के विविध संगठनों से जुड़े कार्यकर्ताओं ने स्व. रमेश जी को ...

Read more

दो घंटे की फिल्म द्वारा भारतीय संस्कृति को विकृत रूप में दर्शाया जा रहा – डॉ. बाल मुकुंद जी

नई दिल्ली. दिल्ली विश्वविद्याल के दौलत राम कॉलेज में 'संस्कृति' के तत्वाधान में रानी पद्मावती पर व्याख्यान आयोजित किया गया. व्याख्यान में अखिल भारतीय इतिहास संकलन योजना के संगठन सचिव डॉ. बाल मुकुंद जी ने कहा कि आजादी के बाद से ही इतिहास कम्युनिस्टों के हवाले कर दिया गया. तर्क और तथ्य से विहीन रहकर कम्युनिस्टों ने इतिहास लेखन किया है. दो घंटे की फिल्म से हमारी संस्कृति को तोड़ मरोड़ कर पेश करने की कोशिश की जा ...

Read more

30 नवम्बर / जन्मदिवस – धुन के पक्के भूषणपाल जी

नई दिल्ली. भूषणपाल जी का जन्म 30 नवम्बर, 1954 को जम्मू-कश्मीर राज्य के किश्तवाड़ नामक नगर में हुआ था. उनके पिता चरणदास गुप्ता जी तथा माता शामकौर जी थीं. चारों ओर फैली सुंदर हिमाच्छादित पर्वत श्रृंखलाओं और कल-कल बहती निर्मल नदियों ने उनके मन में भारत माता के प्रति प्रेम का भाव कूट-कूट कर भर दिया था. उच्च शिक्षा प्राप्त कर उन्होंने कुछ समय किश्तवाड़ के भारतीय विद्या मंदिर में पढ़ाया, पर मातृभूमि के लिए कुछ और ...

Read more

29 नवम्बर / जन्मदिवस – सेवाव्रती ठक्कर बापा

नई दिल्ली. पूजा का अर्थ एकान्त में बैठकर भजन करना मात्र नहीं है. निर्धन और निर्बल, वन और पर्वतों में रहने वाले अपने भाइयों की सेवा करना भी पूजा ही है. अमृतलाल ठक्कर ने इसे अपने आचरण से सिद्ध कर दिखाया. उनका जन्म 29 नवम्बर, 1869 को भावनगर (सौराष्ट्र, गुजरात) में हुआ था. उनके पिता विट्ठलदास ठक्कर धार्मिक और परोपकारी व्यक्ति थे. यह संस्कार अमृतलाल जी पर भी पड़ा और उन्हें सेवा में आनन्द आने लगा. शिक्षा के बाद उ ...

Read more

अस्पृश्यता किसी भी रूप में शास्त्रसम्मत नहीं है – डॉ. प्रवीण भाई तोगड़िया

विश्व हिन्दू परिषद - धर्म संसद, 24, 25, 26 नवम्बर, 2017 उडुपी. धर्म संसद के दूसरे दिन (25 नवंबर) के अधिवेशन की अध्यक्षता मुम्बई के पूज्य स्वामी विश्वेश्वरानंद जी महाराज ने की. इस सत्र में विश्व हिन्दू परिषद के कार्याध्यक्ष डॉ. प्रवीण भाई तोगड़िया जी ने विश्व हिन्दू परिषद का निवेदन प्रस्तुत करते हुए कहा कि अस्पृश्यता शास्त्रसम्मत नहीं है. वेदों सहित किसी भी धर्मशास्त्र में अस्पृश्यता की मान्यता नहीं है. विश् ...

Read more

सुसंस्कारित एवं संगठित परिवारों से आदर्श समाज का निर्माण होगा – युद्धवीर जी

परिवार प्रबोधन कार्यक्रम पिथौरागढ़ देहारादून (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पिथौरागढ़ द्वारा उत्सव बारातघर में परिवार प्रबोधन कार्यक्रम का आयोजन किया गया. जिसमें पिथौरागढ़ नगर के 186 परिवारों के 654 सदस्यों ने प्रतिभाग किया. कार्यक्रम में विभिन्न प्रतियोगिताएं भी आयोजित की गई. अन्ताक्षरी प्रतियोगिता में बहनों ने बाजी मारी. बाल स्वयंसेवकों द्वारा एकल लोकगीत की प्रस्तुती दी गयी तथा वित्त मंत्री प्रकाश पन् ...

Read more
Scroll to top