You Are Here: Home » बैनर स्लाइडर

घर, विद्यालय और समाज में हो एक जैसी शिक्षा – डॉ. मोहन भागवत जी

नई दिल्ली. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि कोई भी ग्रन्थ अंतिम शब्द नहीं होता. ग्रन्थ पोथी बद्धता को बढ़ाने वाले नहीं होने चाहिए, जबकि हम सभी पोथीबद्ध हो जाते हैं. औपनिवेशिक काल में स्वामी विवेकानंद, रविन्द्र नाथ ठाकुर, महात्मा गांधी जैसे हमारे महापुरुषों ने हालांकि मैकाले की शिक्षा पद्धति से शिक्षा प्राप्त की, लेकिन वे इससे अप्रभावित रहे और भारतीय शिक्षा पद्धति पर ही ध्यानाक ...

Read more

दुनिया के सभी देशों का भारत के प्रति विश्वास बढ़ा है – डॉ. मोहन भागवत जी

नई दिल्ली. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि प्रमाणिकता भारत का बड़ा संबल है, स्वाधीनता के बाद लालबहादुर शास्त्री जी ने पहले केंद्रीय मंत्री और फिर प्रधानमंत्री के रूप में उसे आगे बढ़ाया. वही प्रमाणिकता आज फिर दिख रही है, जिससे भारत की धाक दुनिया में बढ़ी है. सरसंघचालक जी लालबहादुर शास्त्री तकनीकी इंटरमीडिएट कॉलेज मांडा में पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न लालबहादुर शास्त्री जी व ...

Read more

भारत की नदियों को बचाने के लिये सद्गुरू की पहल ‘नदी अभियान’ का शुभारंभ

कोयंबटूर. भारत की नदियों को बचाने के लिये सद्गुरु की पहल ‘नदी अभियान’ को 03 सितम्बर को वीओसी ग्राउंड्स, कोयंबटूर, तमिलनाडु में झंडी दिखा कर रवाना किया गया. इसे पंजाब के राज्यपाल वी.पी. सिंह बदनोर जी और केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, भारतीय टीम के पूर्व खिलाड़ी वीरेंद्र सहवाग, तमिलनाडु के केंद्रीय ग्रामीण विकास व नगरपालिका प्रशासन मंत्री तिरु एस.पी. वेलुमनी, महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज, फार्मूला व ...

Read more

आने वाले समय में भारत की भूमिका निर्णायक होने वाली है – डॉ. मनमोहन वैद्य जी

वृंदावन में संघ की तीन दिवसीय अखिल भारतीय समन्वय बैठक का समापन सामाजिक समरसता, कुटुम्ब प्रबोधन, सीमा क्षेत्र में जागरण आदि विषयों पर हुआ मंथन वृंदावन (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख डॉ. मनमोहन वैद्य जी ने कहा कि परिवार विखंडन को रोकने के लिये कुटुम्ब का प्रबोधन, समाज में संस्कार का निर्माण समय की आवश्यकता है. वैश्विक परिदृश्य तेजी से बदल रहा है. आने वाले समय में एशिया और विशे ...

Read more

श्रीधाम वृंदावन में तीन दिवसीय समन्वय बैठक का शुभारंभ

वृंदावन (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी और सरकार्यवाह भय्याजी जोशी द्वारा भारत माता की प्रतिमा को पुष्पार्चन कर शुक्रवार को त्रिदिवसीय समन्वय बैठक का प्रारम्भ हुआ. सह सरकार्यवाह सुरेश सोनी जी ने बैठक की प्रस्तावना रखते हुए कहा कि भारत की प्राचीन आध्यात्मिक विचारधारा को लेकर हम सभी संगठन समाज जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में कार्य कर रहे हैं. बदलते हुए विश्व परिदृश्य, देश की पर ...

Read more

अनुभवों को सांझा करना, कार्य के विकास की दृष्टि से महत्वपूर्ण – डॉ. मनमोहन वैद्य जी

वृंदावन (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख डॉ. मनमोहन वैद्य जी ने कहा कि संघ के स्वयंसेवक समाज जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में अनेक संगठनों के माध्यम से सक्रिय हैं. अपनी उपलब्धि, अनुभव व निरीक्षण को सांझा करने की दृष्टि से हर साल ऐसी समन्वय बैठक का आयोजन होता है. श्रीधाम वृंदावन के केशव धाम में आयोजित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय समन्वय बैठक से पूर्व एक पत्रकार वार्ता मे ...

Read more

खतरनाक वामपंथी विचारधारा के बारे में देश को पता चलना चाहिए – जे. नंदकुमार जी

लखनऊ (विसंकें). प्रज्ञा प्रवाह के राष्ट्रीय संयोजक जे. नन्दकुमार जी ने कहा कि खतरनाक वामपंथी विचारधारा के बारे में देश को पता चलना चाहिए. कम्युनिस्ट हर देशविरोधी काम कर रहे हैं. वह दलित, अल्पसंख्यक और लिंचिंग के नाम पर राष्ट्रवादी शक्तियों को बदनाम करने की साज़िश कर रहे हैं. वह आतंकवादी, नक्सलवादी, माओवादियों का समर्थन करते हैं. उन्होंने केरल में राष्ट्रवादियों पर वामपंथी हिंसा विषयक संवाद में कहा कि 1948 मे ...

Read more

शिक्षा से वैभव तो मिला, किन्तु शांति नहीं मिली – डॉ. कृष्णगोपाल जी

आगरा (विसंकें). भारतीय शिक्षण मंडल ब्रज प्रांत द्वारा विश्व कल्याण के लिए भारतीय शिक्षा विषय पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया. आगरा कॉलेज के गंगाधर शास्त्री हॉल में आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता अवध विश्वविद्यालय के वीसी मनोज दीक्षित जी ने की. कार्यक्रम के मुख्य वक्ता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्णगोपाल जी ने कहा कि मैंने आगरा कॉलेज से ही एमएससी व शोध करने के दौरान संघ कार्य की शुरूआत की थी ...

Read more

लोकतंत्र में अधिकार के साथ-साथ स्वनियमन का दायित्व भी अंगीकार करना चाहिए – दत्तात्रेय होसबले जी

लखनऊ (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबले जी ने कहा कि बृजमंडल के केशव और आधुनिक केशव के कर्म में कोई अंतर नहीं है. धर्म की स्थापना के लिए, दुष्टों के विनाश के लिए संघे शक्ति कलियुगे अर्थात कलियुग में वह संघ शक्ति के रूप में आए. भारत भूमि से इस विचार को बढ़ाया जाता रहा है. राष्ट्र को संगठित करके उच्च शिखर पर आगे बढ़ाना है. राष्ट्र को मजबूत करके बरगद की तरह हम आगे बढ़ें. सभी समा ...

Read more

केवल स्वतंत्रता दिवस पर भारत माता की जय बोल लेना पर्याप्त नहीं – सुरेश भय्या जी जोशी

इंदौर (विसंकें). स्वतंत्रता दिवस पर इंदौर में प्रातः 8:00 बजे, शुभ कारज गार्डन में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह सुरेश भय्या जी जोशी ने महाविद्यालयीन विद्यार्थियों के कार्यक्रम में राष्ट्रीय ध्वज फहराया. इस अवसर पर विद्यार्थियों एवं कार्यकर्ताओ को संबोधित किया. उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता संग्राम में अनेक बलिदानों के पश्चात देश को स्वतंत्रता मिली. स्वतंत्रता के पश्चात देश अनेक क्षेत्रों में आगे बढ़ा ...

Read more
Scroll to top