You Are Here: Home » व्यक्तित्व (Page 3)

05 नवम्बर / बलिदान दिवस – युवा सत्याग्रही गुलाब सिंह का बलिदान

नई दिल्ली. मध्य प्रदेश के एक बड़े भाग को परम्परा से महाकौशल कहा जाता है. इसका सबसे बड़ा एवं सांस्कृतिक रूप से समृद्ध नगर जबलपुर है. नर्मदा के तट पर बसा यह नगर जाबालि ऋषि के तप की गाथा कहता है. इसका प्राचीन नाम जाबालिपुरम् था, जो कालान्तर में जबलपुर हो गया. भोपाल को मध्य प्रदेश की राजधानी तथा जबलपुर को संस्कारधानी कहलाने का गौरव प्राप्त है. आचार्य विनोबा भावे ने जबलपुर को यह नाम दिया था. जबलपुर के निकट ही त् ...

Read more

04 नवम्बर / पुण्य तिथि – हिन्दी समय सारिणी के निर्माता मुकुन्ददास प्रभाकर जी

नई दिल्ली. भारत में रेल का प्रारम्भ अंग्रेजी शासनकाल में हुआ था. अतः उसकी समय सारिणी भी अंग्रेजी में ही प्रकाशित हुई. हिन्दी प्रेमियों ने शासन और रेल विभाग से बहुत आग्रह किया कि यह हिन्दी में भी प्रकाशित होनी चाहिए. पर, उन्हें यह सुनने का अवकाश कहां था. अन्ततः हिन्दी के भक्त बाबू मुकुन्ददास गुप्ता ‘प्रभाकर’ ने यह काम अपने कन्धे पर लिया और 15 अगस्त, 1927 को पहली बार हिन्दी समय सारिणी प्रकाशित हो गयी. प्रभाकर ...

Read more

03 नवम्बर / जन्मदिवस – अन्तः प्रेरणा से बने प्रचारक नरमोहन दोसी जी

नई दिल्ली. किसी का जन्म और देहांत एक ही दिन हो, ऐसे संयोग कम ही होते हैं. पर, मध्य प्रदेश के क्षेत्र प्रचारक नरमोहन दोसी जी के साथ ऐसा ही हुआ. नरमोहन जी का जन्म तीन नवम्बर, 1947 को बांसवाड़ा (राजस्थान) में देवीलाल दोसी जी के घर में हुआ था. उनका संघ जीवन भरपूर युवावस्था में प्रारम्भ हुआ. वर्ष 1964 में उदयपुर के महाविद्यालय में पढ़ते समय वे छात्रावास में रहते थे. उनके कक्ष में रहने वाला दूसरा छात्र प्रह्लाद म ...

Read more

02 नवम्बर / जन्मदिवस – दीर्घकालिक योजनाओं के शिल्पी डॉ. अविनाश आचार्य

नई दिल्ली. भारत में सहकार आंदोलन अभी नया ही है, पर इसे ठोस आधार देने वालों में डॉ. अविनाश आचार्य (दादा) का नाम प्रमुख है. उनका जन्म दो नवम्बर, 1933 को जलगांव (महाराष्ट्र) में डॉ. रामचंद्र एवं लीलाबाई आचार्य के घर में हुआ था. शिशु अवस्था में ही वे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े और फिर आजीवन सक्रिय रहे. प्राथमिक शिक्षा जलगांव में ही पाकर उन्होंने मुंबई से एमबीबीएस और मंगलौर (कर्नाटक) से एमडी की उपाधि ली. इस ...

Read more

01 नवम्बर / जन्मदिवस – कर्मयोगी राजनेता कृष्णलाल शर्मा जी

नई दिल्ली. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने ऐसे प्रचारकों की एक विशाल श्रंखला निर्मित की है, जिन्होंने अपने कर्तत्व से बंजर भूमि को भी चमन बना दिया. ऐसे ही एक कर्मयोगी थे कृष्णलाल शर्मा जी. कृष्णलाल जी का जन्म एक नवम्बर, 1925 को ग्राम लुधरा (जिला मुल्तान, वर्तमान पाकिस्तान) में हुआ था. वे बचपन से ही प्रतिभावान विद्यार्थी थे. छात्र जीवन में ही उनका सम्पर्क संघ से हुआ और वे नियमित रूप से शाखा जाने लगे. पंजाब विश्वव ...

Read more

31 अक्तूबर / जन्मदिवस – भारत को एक करने वाले लौहपुरुष सरदार पटेल

नई दिल्ली. 15 अगस्त, 1947 को अंग्रेजों ने भारत को स्वाधीन तो कर दिया, पर जाते हुए वे गृह युद्ध एवं अव्यवस्था के बीज भी बो गये. उन्होंने भारत के 600 से भी अधिक रजवाड़ों को भारत में मिलने या न मिलने की स्वतन्त्रता दे दी. अधिकांश रजवाड़े तो भारत में स्वेच्छा से मिल गये, पर कुछ आंख दिखाने लगे. ऐसी स्थिति में जिस व्यक्तित्व ने इनका दिमाग सीधा कर उन्हें भारत में मिलाया, उन्हें हम लौहपुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल के न ...

Read more

30 अक्तूबर / जन्मदिवस – बहुमुखी कल्पनाओं के धनी मोरोपन्त पिंगले जी

नई दिल्ली. संघ के वरिष्ठ प्रचारक मोरोपन्त पिंगले जी को देखकर सब खिल उठते थे. उनके कार्यक्रम हास्य-प्रसंगों से भरपूर होते थे. पर, इसके साथ ही वे एक गहन चिन्तक और कुशल योजनाकार भी थे. संघ नेतृत्व द्वारा सौंपे गए हर काम को उन्होंने नई कल्पनाओं के आधार पर सर्वश्रेष्ठ ऊंचाइयों तक पहुंचाया. उनका पूरा नाम मोरेश्वर नीलकंठ पिंगले था. उनका जन्म 30 अक्तूबर, 1919 को हुआ था. वे बचपन में मेधावी होने के साथ ही बहुत चंचल ए ...

Read more

28 अक्तूबर / जन्म दिवस – भारत की महान पुत्री भगिनी निवेदिता

नई दिल्ली. स्वामी विवेकानन्द से प्रभावित होकर आयरलैण्ड की युवती मार्गरेट नोबेल ने अपना जीवन भारत माता की सेवा में लगा दिया. प्लेग, बाढ़, अकाल आदि में उन्होंने समर्पण भाव से जनता की सेवा की. ऐसे में भारत की महान बेटी कहा जाए तो गलत न होगा. 28 अक्तूबर, 1867 को जन्मी मार्गरेट के पिता सैम्युअल नोबेल आयरिश चर्च में पादरी थे. बचपन से ही मार्गरेट नोबेल की रुचि सेवा कार्यों में थी. वह निर्धनों की झुग्गियों में जाकर ...

Read more

23 अक्तूबर / जन्मदिवस – अजातशत्रु पंडित प्रेमनाथ डोगरा जी

नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर के भारत में पूर्ण विलय के पक्षधर पंडित प्रेमनाथ डोगरा जी का जन्म 23 अक्तूबर, 1894 को ग्राम समेलपुर (जम्मू) में पं. अनंत राय के घर में हुआ था. जम्मू-कश्मीर के महाराजा रणवीर सिंह के समय में पं. अनंत राय "रणवीर गवर्नमेंट प्रेस" के और फिर लाहौर में "कश्मीर प्रापर्टी" के अधीक्षक रहे. उनका महत्व इसी से समझा जा सकता है कि लाहौर में वे राजा ध्यान सिंह की हवेली में रहते थे. इसलिए प्रेमनाथ जी ...

Read more

21 अक्तूबर / पुण्यतिथि – दिल्ली में सत्याग्रह की शान बहिन सत्यवती

नई दिल्ली. 1942 के ‘भारत छोड़ो आंदोलन’ के समय दिल्ली में जिस वीर महिला ने अपने साहस, संगठन क्षमता एवं अथक परिश्रम से चूल्हे-चौके तक सीमित रहने वाली घरेलू महिलाओं को सड़क पर लाकर ब्रिटिश शासन को हैरान कर दिया, उनका नाम था बहन सत्यवती. सत्यवती का जन्म अपने ननिहाल ग्राम तलवन (जिला जालंधर, पंजाब) में 26 जनवरी, 1906 को हुआ था. स्वाधीनता सेनानी एवं परावर्तन के अग्रदूत स्वामी श्रद्धानंद जी उनके नाना थे. उनकी माता ...

Read more
Scroll to top