करंट टॉपिक्स

तत्कालीन सामाजिक समस्याओं का परकीय नहीं, भारतीय दृष्टिकोण से समाधान चाहते थे डॉ. आंबेडकर

भारतरत्न बाबा साहेब डॉ. भीमराव आंबेडकर अपने अधिकांश समकालीन राजनीतिज्ञों की तुलना में राजनीति के खुरदुरे यथार्थ की ठोस एवं बेहतर समझ रखते थे. नारों...

स्वतंत्रता संग्राम में सामूहिक आत्मबलिदान का अनुपम प्रसंग

नरेंद्र सहगल इतिहास साक्षी है कि भारत की स्वतंत्रता के लिए भारतवासियों ने गत 1200 वर्षों में तुर्कों, मुगलों, पठानों और अंग्रेजों के विरुद्ध जमकर संघर्ष किया...

वैश्‍विक परिदृष्‍य में बढ़ता भारत और श्रीगुरुजी

डॉ. मयंक चतुर्वेदी विश्वतश्चक्षुरुत विश्वतोमुखो विश्वतोबाहुरुत विश्वतस्पात्. सं बाहुभ्यां धमति सं पतत्रैर्द्यावाभूमी जनयन्देव एकः ॥ यह वेदमंत्र जब भी पढ़ने में या सुनने में आया,...

राष्ट्र से स्नेह करने वाले, सेवा के लिए तत्पर युवाओं का निर्माण

अनेक अवसरों पर हम समय पर निर्णय नहीं लेते हैं तो जो हमें हमारी ताकत के रूप में दिखाई देता है, वही एक विशाल समस्या...

सेवा की आड़ में धर्मांतरण से सामाजिक तानेबाने और सुरक्षा पर संकट

सुखदेव वशिष्ठ स्वतंत्रता के समय भारत आर्थिक रूप से संपन्न देश नहीं था और वित्तीय सहायता के लिए पाश्चात्य ईसाई देशों और अंतरराष्ट्रीय वित्तीय संस्थानों...

क्या विपक्ष के इशारे से हो रहे “किसान आन्दोलन” में जान बची है..?

नए कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग लेकर शुरू हुआ किसान आंदोलन राजनीति, हिंसा, लाल किले का अपमान और टिकैत के आंसुओं के बाद...

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ – एक पारिवारिक संरचना

सुखदेव वशिष्ठ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के आद्य सरसंघचालक डॉ. हेडगेवार जी अपने जीवनकाल में राष्ट्र की स्वतंत्रता के लिये चल रहे सामाजिक, धार्मिक, क्रांतिकारी व...

दुष्कर्म की घटनाओं को रोकने के लिए सरकार को गंभीरता दिखानी होगी..!!

जयपुर. आजकल देश में आपराधिक घटना को भी अपने लाभ के नजरिये से देखने का चलन चल रहा है. और एक गैंग सक्रिय है. कोई...

समाज में निरंतर बढ़ता संघ का प्रभाव…!!!

बद्री नारायण राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की प्रतिनिधि सभा की बैठक में दत्तात्रेय होसबाले को सरकार्यवाह (संघ में नंबर 2 की पोजिशन) चुना गया. होसबाले बहुत...

वैक्सीन मैत्री – चीन के बाज़ारवाद पर भारी भारत की मानवीय संवेदना

वर्ष 2020 वैश्विक आपदा का रहा, जिससे सम्पूर्ण मानव जीवन गंभीर संकट मंडराता रहा. यह संपूर्ण विश्व के लिए कठिन परीक्षा का समय था. संकट...