You Are Here: Home » समाचार » कर्नाटक दक्षिण

अस्पृश्यता किसी भी रूप में शास्त्रसम्मत नहीं है – डॉ. प्रवीण भाई तोगड़िया

विश्व हिन्दू परिषद - धर्म संसद, 24, 25, 26 नवम्बर, 2017 उडुपी. धर्म संसद के दूसरे दिन (25 नवंबर) के अधिवेशन की अध्यक्षता मुम्बई के पूज्य स्वामी विश्वेश्वरानंद जी महाराज ने की. इस सत्र में विश्व हिन्दू परिषद के कार्याध्यक्ष डॉ. प्रवीण भाई तोगड़िया जी ने विश्व हिन्दू परिषद का निवेदन प्रस्तुत करते हुए कहा कि अस्पृश्यता शास्त्रसम्मत नहीं है. वेदों सहित किसी भी धर्मशास्त्र में अस्पृश्यता की मान्यता नहीं है. विश् ...

Read more

राम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण हमारी आस्था का विषय है – डॉ. मोहन भागवत जी

धर्म संसद में संतों ने दोहराया राम मंदिर निर्माण का संकल्प उडुपी. धर्मसंसद के प्रथम सत्र की अध्यक्षता करते हुए पेजावर पीठाधीश्वर पूज्य विश्वेशतीर्थ जी महाराज ने स्पष्ट घोषणा करते हुए कहा कि सब प्रकार की बाधाओं को दूर करके एक साल के अंदर ही श्रीराम मंदिर का निर्माण प्रारंभ हो जाएगा. उडुपी में किसी भी धर्मसंसद में किया गया संकल्प हमेशा पूरा हुआ है. सन् 1969 में अस्पृश्यता दूर करने का संकल्प लिया था, सन् 1985 ...

Read more

विश्व में भारत स्वाभिमान और गर्व के साथ खड़ा हो, यह समय की मांग है – सुरेश भय्याजी जोशी

बेंगलूरु. आचार्य अभिनवगुप्त की सहस्त्राब्दी वर्ष के अंतर्गत आयोजित राष्ट्रीय विद्वत संगम के समापन समारोह को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह सुरेश भय्याजी जोशी ने संबोधित किया. उन्होंने कहा कि ‘जब हम कहते हैं कि जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है, तो यह कोई राजनीतिक घोषणा नहीं है, बल्कि अपनी ज्ञान परंपरा का स्मरण करना है. कश्मीर विचार की भूमि है. यह सांस्कृतिक और जीवन मूल्यों का संदेश देने वाला प्रदेश ...

Read more

भारतीय ज्ञान-परंपरा के वाहक हैं अभिनवगुप्त – जे. नंदकुमार जी

आचार्य अभिनवगुप्त की सहस्त्राब्दी वर्ष के अंतर्गत 'राष्ट्रीय विद्वत संगम' का आयोजन बेंगलूरु. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय सह प्रचार प्रमुख जे. नंदकुमार जी न कहा कि पिछले वर्ष तक देश में आचार्य अभिनवगुप्त के बारे में शोधार्थियों को भी अधिक जानकारी नहीं थी. परंतु, जम्मू-कश्मीर अध्ययन केन्द्र के प्रयास से देश में एक वातावरण बन गया है. आचार्य अभिनवगुप्त का विचारदर्शन चर्चा का विषय बना है. आचार्य भारती ...

Read more

भारत की संस्कृति वेद-तंत्र-योग की त्रिवेणी का संगम है – जे. नंदकुमार जी

विद्वत संगम बैंगलुरु कश्मीर का युवा अपने अतीत से जुड़ेगा तो निश्चित ही नकारात्मक ताकतों को विफल करेगा – निर्मल सिंह जी बैंगलुरु. राष्ट्रीय विद्वत संगम का उद्घाटन आर्ट ऑफ लिविंग के अंतरराष्ट्रीय केंद्र, बेंगलुरु में श्रीश्री रविशंकर की उपस्थिति में हुआ. विद्वत संगम कश्मीर के महान भारतीय दार्शनिक आचार्य अभिनवगुप्त जी की सहस्राब्दी समारोह को मनाने के लिए आयोजित किया गया है. आचार्य अभिनवगुप्त विश्व प्रसिद्ध दार् ...

Read more

कृष्णप्पा जी के आदर्शों को अपने जीवन में धारण करने का संकल्प लें – डॉ. मोहन भागवत

बंगलुरू (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि हमें अपने जीवन में परिवर्तन के लिए कृष्णप्पा जी के जीवन आदर्शों का अनुकरण करना चाहिए, और उनके जीवन से एक आदर्श-आदत (गुण) का जीवन भर पालन करने का व्रत लेना चाहिए. सरसंघचालक जी बंगलुरू में संघ के वरिष्ठ प्रचारक स्व. ना कृष्णप्पा जी को श्रद्धासुमन अर्पित करने के लिए आयोजित श्रद्धांजलि सभा में संबोधित कर रहे थे. सरसंघचालक जी ने ...

Read more

शिक्षा का लक्ष्य केवल अर्थार्जन नहीं, वरन मानवीय मूल्यों की रक्षा करना है : डॉ मोहन भागवत जी

बेंगलुरु (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ मोहन भागवत ने कहा कि शिक्षा का लक्ष्य केवल अर्थार्जन नहीं है, बल्कि मानवीय मूल्यों की रक्षा का धर्म निभाने के लिए होना चाहिए. सरसंघचालक जी चन्नेनाहल्ली (बंगलुरु) स्थित जनसेवा विद्या केन्द्र के नए छात्रावास के भूमि पूजन समारोह के दौरान संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि शिक्षा द्वारा प्रत्येक मनुष्य के अन्दर राष्ट्रीय विचारों का निर्माण होना चाहिए. ...

Read more

सामुदायिक रेडियो आम जन की आवाज – जे नंद कुमार जी

बैंगलुरू (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय सह प्रचार प्रमुख जे नंद कुमार ने कहा कि सामुदायिक रेडियो आम जन से संवाद का एक उत्तम साधन है. जिसके माध्यम से क्षेत्र विशेष के समुदाय की समस्याओं को उठाने और उनके समाधान को लेकर चिंतन मंथन किया जा सकता है. सामुदायिक रेडियो के माध्यम से गांवों में विद्यमान परंपराओं, स्थानीय पारंपरिक खेल व कला को भी संरक्षित किया जा सकता है. साथ ही प्रचार के इस सहज माध ...

Read more

केरल में शिक्षा विभाग के प्रश्न पत्रों पर मुस्लिम लीग के झंडे का निशान, क्या यह शिक्षा का सांप्रदायीकरण नहीं ?

बैंगलुरू/तिरुवनंतपुरम, मार्च 18 (विसंकें). केरल में परीक्षाओं के दौरान प्रश्न पत्रों पर अर्ध चंद्र और तारे का निशान प्रकाशित किया गया है. अर्ध चंद्र और तारा मुस्लिम लीग के झंडे का एक हिस्सा है. सरकार के रवैये पर सवाल खड़े हो रहे हैं तथा विभिन्न वर्गों ने विरोध शुरू कर दिया है. केरल में कांग्रेस- आईयूएमएल (इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग) गठबंधन सरकार में शिक्षा विभाग आईयूएमएल के पास है. दसवीं कक्षा के अंग्रेजी मा ...

Read more

यदि राष्ट्रीय ध्वज का सम्मान नहीं कर सकते तो भारत छोड़ देना चाहिये – योगी आदित्यनाथ

मंगलुरू. मंगलुरू का तटीय क्षेत्र रविवार को विशाल हिंदू एकत्रीकरण का गवाह बना. विश्व हिंदू परिषद के स्वर्ण जयंती वर्ष के उपलक्ष्य में हिंदू समाजोत्सव का आयोजन रविवार शाम को किया गया था. सम्मेलन में युवा साध्वी पूज्य बालिका सरस्वती ने उपस्थित लोगों को ओजस्वी वाणी से मंत्रमुग्ध किया. शहर वासियों ने साध्वी का पूर्ण उत्साह के साथ स्वागत किया, साध्वी के प्रबोधन ने भगवा रंग में डूबे शहर में जोश भर दिया. पूरा क्षेत ...

Read more
Scroll to top