You Are Here: Home » समाचार » काशी

सोशल मीडिया के प्रयोग में भी राष्ट्र हित, सामाजिक हित का ध्यान रखना चाहिये – जे. नन्दकुमार जी

वाराणसी (विसंकें). विश्व संवाद केन्द्र काशी तथा पत्रकारिता एवं जनसम्प्रेषण विभाग काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के संयुक्त तत्वाधान में चिकित्सा विज्ञान संस्थान के केएन उडुप्पा सभागार में आदि पत्रकार देवर्षि नारद जयन्ती के शुभ अवसर पर पत्रकार सम्मान समारोह एवं संगोष्ठी का आयोजन किया गया. इस अवसर पर विश्व संवाद केन्द्र की ओर से पत्रकारिता के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य के लिए काशी और सोनभद्र के छह पत्रकारों को स् ...

Read more

धर्म के आचरण से व्यक्तित्व का निर्माण होता है – इंद्रेश कुमार जी

वाराणसी (विसंकें). काशी हिन्दू विश्वविद्यालय संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय के सभागार में धर्म संस्कृति संगम काशी एवं काशी विद्वत परिषद के संयुक्त तत्वाधान में ‘‘सर्वधर्म समभाव एवं विश्व शांति’’ विषयक संगोष्ठी सम्पन्न हुई. साथ ही 06 मेधावी छात्र-छात्राओं को अतिथियों द्वारा छात्रवृत्ति प्रदान की गई. कार्यक्रम में विद्वतजनों को सम्मानित किया गया. कार्यक्रम के मुख्य वक्ता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भार ...

Read more

काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में बसंत पंचमी पर पथसंचलन का आयोजन

वाराणसी (विसंकें). भारतरत्न महामना पं. मदन मोहन मालवीय जी की तपोस्थली काशी हिन्दू विश्वविद्यालय की स्थापना के 101 वर्ष पूर्ण होने पर परम्परागत रूप से इस वर्ष भी बसंत पंचमी के अवसर पर विश्वविद्यालय के स्वयंसेवकों ने सधे कदमों के साथ अनुशासनबद्ध होकर नवीन गणवेश में शताब्दी पथसंचलन किया. संघ संस्थापक डॉ. केशव बलिराम हेडगेवार, संघ के द्वितीय सरसंघचालक माधव सदाशिवराव गोलवलकर उपाख्य श्रीगुरूजी तथा भारतरत्न पं. मद ...

Read more

डॉ. अम्बेडकर ने समाज में परिवर्तन लाकर एक नई दिशा दी – डॉ. कृष्णगोपाल जी

इलाहाबाद. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्णगोपाल जी ने कहा कि धर्म वह है, जो अच्छे कार्यों के लिए प्रेरित कर दूसरों के हृदय को आकर्षित करे, ऐसे विचार डॉ. भीमराव अम्बेडकर के थे. डॉ. अम्बेडकर का जीवन बहुआयामी है, उन्होंने समाज में परिवर्तन लाकर एक नई दिशा दी. सह सरकार्यवाह जी रविवार को सीएमपी डिग्री कॉलेज में डॉ. अम्बेडकर जी के दर्शन पर आयोजित सभा को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे. ...

Read more

लोगों में गंगा के प्रति श्रद्धा व समर्पण का भाव जगाना जरूरी है – डॉ. कृष्ण गोपाल जी

इलाहाबाद. गंगा की निर्मलता व अविरलता को लेकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े गंगा-समग्र संगठन के केन्द्रीय पदाधिकारियों की दो दिवसीय बैठक शनिवार को अलोपीबाग स्थित शंकराचार्य आश्रम में शुरु हुई. बैठक का उद्घाटन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल जी ने किया. डॉ. कृष्ण गोपाल जी ने गंगा की निर्मलता व अविरलता के लिए गंगा किनारे बसे लोगों को जागरूक करने पर बल दिया. उन्होंने कहा कि गंगा किना ...

Read more

समरस एवं समर्थ भारत का निर्माण ही संघ स्थापना का उद्देश्य – अजीत महापात्रा जी

इलाहाबाद. विजयादशमी के अवसर पर शस्त्र पूजन व पथ संचलन का आयोजन किया गया. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का स्थापना दिवस भी इसी दिन होता है. शहर के दो अलग-अलग स्थानों पर सम्पन्न कार्यक्रमों में नए गणवेश में स्वयंसेवकों ने भाग लिया. जार्जटाउन स्थित संघ कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में अखिल भारतीय सह सेवा प्रमुख अजीत महापात्रा जी तथा सुधा वाटिका में प्रयाग दक्षिण जिले के स्वयंसेवकों को सह क्षेत्र धर्म जागरण प्रमुख र ...

Read more

संघ परिवर्तन शील है, लेकिन लक्ष्य एक ही – मनोज जी

इलाहाबाद (विसंकें). विभाग प्रचारक मनोज जी ने कहा कि संघ परिवर्तन शील है, लेकिन लक्ष्य कभी नहीं बदलेगा. समाज में व्याप्त कुरितियों सहित विभिन्न मुद्दों पर समय-समय पर विचार होता रहता है. मनोज जी रविवार को परेड ग्राउंड में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रयाग उत्तर जिले की सभी शाखाओं के स्वयंसेवकों के वृहद एकत्रीकरण कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम समय-समय पर स्वयंसेवकों के शरीरिक दक् ...

Read more

साम्राज्यवादी इतिहासकारों ने इतिहास को तोड़-मरोड़कर प्रस्तुत किया – डॉ. बालमुकुंद पाण्डेय जी

वाराणसी (विसंकें). काशी हिन्दू विश्वविद्यालय इतिहास विभाग, सामाजिक विज्ञान संकाय में आयोजित इतिहास दृष्टि, इतिहास लेखन, एवं इतिहास के स्रोत पर दो दिनों तक चली राष्ट्रीय महिला इतिहासकार संगोष्ठी के समापन सत्र के मुख्य वक्ता अखिल भारतीय इतिहास संकलन योजना के राष्ट्रीय संगठन सचिव डॉ. बालमुकुंद पाण्डेय जी थे. उन्होंने कहा कि इतिहास के साथ कोई दुराग्रह, कोई भी पूर्वाग्रह नहीं किया जाना चाहिये क्योंकि वह पवित्रता ...

Read more

भारतीय आधार पर इतिहास का पुनः लेखन हो – प्रो. पंकज मित्तल

वाराणसी (विसंकें). अखिल भारतीय इतिहास संकलन योजना नई दिल्ली एवं काशी हिन्दू विश्वविद्यालय, इतिहास विभाग और सामाजिक विज्ञान संकाय के संयुक्त तत्वावधान में इतिहास लेखन, इतिहास दृष्टि एवं इतिहास के स्रोत नामक विषय पर 20-21 अगस्त 2016 को दो दिवसीय राष्ट्रीय महिला इतिहासकार संगोष्ठी का आयोजन किया गया. जिसमें देश के उत्तर में जम्मू कश्मीर से लेकर दक्षिण में तमिलनाडु एवं पूर्व में असम से लेकर पश्चिम में राजस्थान, ...

Read more

व्यक्ति के बौद्धिक उन्नयन पर ही समाज का बौद्धिक विकास संभव – राकेश सिन्हा जी

वाराणसी (विसंकें). वर्तमान में पत्रकारिता की प्रयोग धर्मिता को जीवित करने की जरूरत है. देश के प्राचीन चिन्तन और आत्मा को बचाना है. देश के बौद्धिक समूह के सामने यह सबसे बड़ी चुनौती है. भारतीय मीडिया अभी भी पश्चिमी चिन्तन के दबाव में है. उसको इस दबाव से मुक्त करना और भारतीय चिन्तन धारा को प्रवाहित करना जरूरी है. विश्व संवाद केन्द्र काशी एवं पत्रकारिता एवं जनसम्प्रेषण विभाग के संयुक्त तत्वावधान में काशी हिन्दू ...

Read more
Scroll to top