You Are Here: Home » समाचार » काशी (Page 3)

भारत पूरे विश्व में सबसे अधिक सहिष्णु देश है – सूर्यकांत बाली जी

वाराणसी (विसंकें). भारतरत्न महामना पं. मदन मोहन मालवीय जी की तपोस्थली काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के स्थापना के 100 वर्ष पूर्ण होने पर बसंत पंचमी के अवसर पर विश्वविद्यालय के स्वयंसेवकों ने सधे कदमों के साथ अनुशासनबद्ध होकर पथसंचलन निकाला. छात्र स्वास्थ्य केन्द्र के निकट कृषि मैदान से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवकों द्वारा पथ-संचलन विश्वविद्यालय के स्थापना स्थल तक निकाला. संघ संस्थापक डॉ. केशव बलिराम हे ...

Read more

विश्व की समस्याओं के समाधान का मार्ग है एकात्म मानववाद – डॉ. महेशचन्द्र शर्मा

वाराणसी (विसंकें). अंरूधती वशिष्ठ अनुसंधान पीठ एवं मालवीय पत्रकारिता संस्थान, महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के संयुक्त तत्वावधान में महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के गांधी अध्ययनपीठ सभागार में आयोजित ‘इक्कीसवीं सदी में एकात्म दर्शन की प्रासंगिकता’ विषयक एक दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी के मुख्य वक्ता एवं एकात्म मानववाद दर्शन अनुसंधानपीठ के अध्यक्ष एवं पूर्व सांसद डॉ. महेशचन्द्र शर्मा ने कहा कि अब तक दुनिया में सभ ...

Read more

भारतीय संस्कृति की रक्षा के लिए बच्चों को अच्छे संस्कार देने की आवश्यकता – रामाशीष जी

इलाहाबाद (विसंकें). प्रज्ञा प्रवाह के क्षेत्रीय संगठन मंत्री रामाशीष जी ने कहा कि सच्चा राष्ट्रवादी एवं देशभक्त नागरिक के निर्माण और भारतीय संस्कृति की रक्षा के लिए बच्चों को बचपन से ही अच्छे संस्कार देने की आवश्यकता है. इसके बल पर ही हमारा देश भारत विश्वगुरू के पद पर पुनः आसीन हो सकता है. रामाशीष जी रविवार को नगर के एंग्लो बंगाली इण्टर कॉलेज परिसर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रयाग के बाल स्वयंसेवकों को सम ...

Read more

मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के बैनर तले “काऊ मिल्क पार्टी” का आयोजन

वाराणसी. आमजन तक सही संदेश पहुंचाने के उद्देश्य से मुस्लिम राष्ट्रीय मंच की ओर से वाराणसी के रविंद्रपुरी में “काऊ मिल्क पार्टी” (गाय का दूध) का आयोजन किया गया. पार्टी हनुमान चालीसा फेम नाजनीन अंसारी भी उपस्थित थीं. उन्होंने गाय का दूध पिया और गो संरक्षण का सन्देश दिया. धर्मगुरुओं के साथ ही पार्टी में चिकित्सकों ने भी भाग लेकर गाय के दूध का महत्व बताया और गाय का गोश्त (बीफ) खाने से होने वाली बिमारियों की जान ...

Read more

मजबूत राष्ट्र के लिए राष्ट्रभक्ति व राष्ट्रीय चरित्र मूल आधार – राम शिरोमणि जी

इलाहाबाद (विसंकें). प्रयाग विभाग संघचालक रामशिरोमणि जी ने कहा कि राष्ट्र निर्माण के लिए राष्ट्रभक्ति और राष्ट्रीय चरित्र होना चाहिए. जिसका निर्माण राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ शाखा के माध्यम से कर रहा है. शाखा में प्रतिदिन आने से चरित्रवान व्यक्तित्व का निर्माण होता है. रामशिरोमणि जी रविवार को जार्जटाउन स्थित छत्रसाल शाखा के वार्षिकोत्सव के अवसर पर स्वयंसेवकों और उपस्थित नागरिकों को सम्बोधित कर रहे थे. उन्होंने ...

Read more

भारत के गौरवशाली इतिहास को समाज के समक्ष प्रस्तुत करना आवश्यक – अभय जी

इलाहाबाद (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का एकत्रीकरण कार्यक्रम रविवार को भारत स्काउट एण्ड गाइड कालेज, इलाहाबाद के प्रांगण में सम्पन्न हुआ. स्वयंसेवकों ने पूर्ण गणवेश में सामूहिक योग, व्यायाम और आसन का प्रदर्शन किया. कार्यक्रम के मुख्य वक्ता प्रान्त प्रचारक अभय जी ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ अब ऐसा नाम नहीं रह गया है, जिसका परिचय समाज में न हो. परन्तु संघ का मूल उद्देश्य अभी भी समाज को वास्तव में स ...

Read more

सभी को एक साथ लेकर चलना ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का मूल मंत्र – इंद्रेश कुमार जी

इलाहाबाद (काशी). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय कार्यकारिणी के सदस्य इंद्रेश कुमार जी ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने एकता को अपना सूत्र माना है, जिसमें सबसे अहम सभी को एक साथ लेकर चलने का मूल मंत्र है. इंद्रेश जी रविवार को प्रयाग संगीत समिति में आयोजित एक दिवसीय तरूण संगम के उद्घाटन सत्र में सम्बोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि आजकल लोग पश्चिम का कल्चर अपना रहे हैं, जो अनिष्ट करने वाला है. फीयर ...

Read more

भारतीय संस्कृति की अनमोल धरोहर है योग – दत्तात्रेय होसबले जी

वाराणसी (विसंकें). निवेदिता शिक्षा सदन बालिका इण्टर कालेज, तुलसीपुर, महमूरगंज में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर आयोजित योग कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन मधुकर भागवत जी की उपस्थिति में स्वयंसेवकों ने सामूहिक रूप से भाग लिया. इस अवसर पर योग कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए संघ के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबले जी ने कहा कि योग भारतीय संस्कृति की अनमोल धरोहर है. योग का तात्पर् ...

Read more

हम अपनी सांस्कृतिक जड़ों से जुड़कर ही चुनौतियों का सामना कर सकते हैं

वाराणसी (विसंकें). विकास के साथ-साथ आज प्रकृति का पूरी तरह दोहन हो रहा है. पृथ्वी पर प्रदूषण प्रसार के लिए मनुष्य ही सबसे ज्यादा जिम्मेदार है. वेदों से संबंधित स्मृति साहित्य और संस्कृति साहित्य में पर्यावरण सम्बन्धी चेतना व अनुशासन की चर्चा है. जब तक मन और विचार के स्तर पर हमारे अन्दर शुचिता नहीं आयेगी, पर्यावरण प्रदूषण कायम रहेगा. यह विचार 31 मई को विश्व संवाद केन्द्र में ‘चेतना प्रवाह’ के पर्यावरण विशेषा ...

Read more

जनसंचार माध्यम राष्ट्रीय चरित्र निर्माण की दिशा में कार्य करें – इंद्रेश कुमार जी

वाराणसी (विसंकें). देश में देवर्षि नारद के दर्शन से सुराज आयेगा. परमज्ञानी महर्षि नारद का दर्शन आज भी सुसंगत है. हमें अपने इतिहास एवं परम्पराओं से प्रेरणा मिलती रहे, यह उपक्रम जनसंचार माध्यमों को राष्ट्रीय चरित्र की रक्षा के लिये करना चाहिए. सामाजिक जागरुकता से ही परिवर्तन की छोटी शुरुआत होगी. जिसका फलक व्यापक होगा. जनसंचार माध्यमों का लक्ष्य इंसानियत की भावना पैदा करना होना चाहिए. महर्षि नारद जयंती पर विश् ...

Read more
Scroll to top