You Are Here: Home » समाचार » काशी (Page 4)

बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी थे बाबा साहेब आंबेडकर – डॉ कृष्ण गोपाल जी

काशी (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ कृष्ण गोपाल जी ने कहा कि जिस प्रकार किसी मंदिर में जाने से मन व आत्मा प्रफुल्लित होती है, वैसी ही अनुभूति काशी हिन्दू विवि में प्रवेश करने से होती है. बीएचयू के शताब्दी वर्ष का शुभारंभ होते ही महामना को भारत रत्न मिलना, यह सुखद संयोग है, हालांकि भारत रत्न देरी से मिला पर उचित समय पर मिला. बीएचयू महामना का शाश्वत मानसपुत्र व विग्रह है. उनकी कल्पनाएं ...

Read more

वतन के लिये दिये बलिदान से ही तय होता है ईमान – इंद्रेश कुमार जी

वाराणसी. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय कार्यकारिणी के सदस्य एवं मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के मार्गदर्शक इंद्रेश कुमार जी ने कहा कि स्वयं खुश रहना तथा दूसरों को खुशी देना ही इबादत है. दुनिया में संघर्ष नफरत के कारण होता है और जहन साफ हो तो संघर्ष नहीं होगा. अच्छी तहजीब समाज में फैलनी चाहिये, जिससे कल्याण हो. हिंदुस्तानी तहजीब और इस्लाम की रोशनी में देखेंगे तो संघर्ष से छुटकारे का रास्ता मिलेगा. नबी और र ...

Read more

शास्त्री जी ने दिल्ली में यातायात संभालने के लिये स्वयंसेवकों से किया था आग्रह – सुनील शास्त्री

वाराणसी. लाल बहादुर शास्त्री के पुत्र व पूर्व सांसद सुनील शास्त्री ने कहा कि संघ के पूज्य सरसंघचालक मोहन भागवत जी ने मेरे पिता लाल बहादुर शास्त्री के आवास को देखा और आवास को अंतर्राष्ट्रीय धरोहर बनाने को कहा है. मुझे खुशी होगी, जो बाबू जी का घर अंतर्राष्ट्रीय धरोहर बनेगा. पूर्व सांसद व शास्त्री जी के पुत्र सुनील शास्त्री ने कहा कि ऐसा लग रहा है, परिवार के मध्य खड़ा हूं. आप सभी के बीच में खड़े हो कर गौरवान्व ...

Read more

शास्त्री जी के गुण और विचार आज भी विद्यमान हैं – सरसंघचालक मोहन भागवत जी

वाराणसी (विसंके काशी). ‘भारत रत्न लाल बहादुर शास्त्री’ पुस्तक का लोकार्पण मुख्य अतिथि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहनराव भागवत जी के कर कमलों द्वारा राधाकृष्ण वाटिका रामनगर में सम्पन्न हुआ. बाबुल श्रीवास्तव एवं उनके साथियों ने शास्त्री गान प्रस्तुत कर श्रोताओं का मन मोह लिया. उन्होंने कहा कि आज संयोग है कि अंग्रेजी तिथि के अनुसार संघ के द्वितीय सरसंघचालक प.पू. श्रीगुरूजी की जयंती है. भारत रत्न लाल ...

Read more

देश के लिये प्राणों की आहुति देने वालों का सही इतिहास नहीं लिखा गया – अभय कुमार जी

वाराणसी (विसंके), 24 जनवरी. काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवकों ने घोष की थाप पर पथसंचलन किया. स्वयंसेवक जोश से भरे जिस मार्ग से गुजरे वहीं लोग स्वागत के लिये अनायास ही आगे बढ़ आए. विश्वविद्यालय के विभिन्न छात्रावासों से स्वयंसेवकों के ब्रोचा छात्रावास के सामने मैदान में पहुंचने का सिलसिला 2.30 बजे से ही प्रारम्भ हो गया था. प्रातःकाल तक खाली पड़ा यह मैदान दो बजते-बजते सफेद श ...

Read more

स्मृति को नहीं, कृति को महत्व देने की जरूरत : अभय कुमार जी

वाराणसी (विसंके). केशव बाल पुस्तकालय द्वारा प्रतिवर्ष आयोजित होने वाली सामान्य एवं संस्कृति-ज्ञान प्रतियोगिता का प्रतिभा सम्मान एवं पुरस्कार वितरण समारोह निवेदिता शिक्षा सदन के भाउराव देवरस सभागार में संपन्न हुआ. समारोह में 84 प्रतिभाओं को सम्मान फलक पहनाकर तथा शिल्ड एवं पुस्तकें देकर सम्मानित किया गया.कार्यक्रम में मुख्य वक्ता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रान्त प्रचारक अभय कुमार जी ने कहा कि पुरस्कार प्राप ...

Read more

सरकार देवल ऋषि की घर वापसी की व्यवस्था को कानूनी स्वीकृति दे: अशोक सिंघल

वाराणसी. धर्मांतरण पर संसद से लेकर सड़कों तक मचे शोरगुल के बीच विश्व हिंदू परिषद के संरक्षक श्री अशोक सिंघल ने केन्द्र सरकार को परामर्श दिया है कि भारत सरकार को देवल ऋषि की घर वापसी की व्यवस्था को कानूनी स्वीकृति देनी चाहिये. उन्होंने अपने एक प्रेस वक्तव्य में कहा कि हिन्दू समाज धर्मान्तरण करने हेतु विश्व के किसी भी भाग में कभी नहीं गया जबकि इतिहास साक्षी है कि पिछले पाँच-छः सौ वर्षों से लाखों लोगों की हत्य ...

Read more

विश्व शांति के लिये पदयात्रा

वाराणसी. विश्व शांति का संदेश फैलाने के लिये पदयात्रा कर रहे तुलसी कृष्णन का कहना है कि विश्वभर में मानवीय मूल्यों का ह्रास हो रहा है. सनातन संस्कृति खतरे मे है. पर्यावरण को लेकर विश्व गहन चिन्तन में है. सामाजिक सौहार्द और भाईचारे का ताना-बाना दिन-प्रतिदिन बिगड़ रहा है. ऐसे में युवाओं को जगाना होगा. 36 वर्षीय श्री कृष्णन ‘सनातन भारत संस्कृति मानव मूल्य जागृति पदयात्रा’ लेकर काशी पहुँचे हैं. उनका कहना है कि ह ...

Read more

एकात्म मानववाद पर राष्ट्रीय निबन्ध प्रतियोगिता

अरुंधती वशिष्ठ अनुसंधान पीठ ‘एकात्म मानववाद’ के विशेष संदर्भ में आर्थिक विकास विषय पर सभी के लिये राष्ट्रीय निबंध प्रतियोगिता आयोजित कर रही है. प्रतियोगिता के संयोजक डॉ. चन्द्र प्रकाश सिंह के अनुसार एक लाख रुपये के एकमात्र पुरस्कार वाली इस प्रतियोगिता में आलेख भेजने की अंतिम तिथि 15 जुलाई है. पुरस्कार की घोषणा आगामी 25 सितंबर को होगी. डॉ. सिंह ने कहा है कि जहां संचार एवं सम्पर्क की दृष्टि से विश्व एक ग्राम ...

Read more
Scroll to top