You Are Here: Home » समाचार » गुजरात

प्रिंट, इलैक्ट्रॉनिक मीडिया एवं डिजिटल मीडिया समाज में बड़ा परिवर्तन ला सकते हैं – पद्मश्री विष्णुभाई पंड्या

गुजरात (विसंकें). गुजरात में देवर्षि नारद जयंती की स्मृति में  “पत्रकार सम्मान समारोह ” का आयोजन किया गया. कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रांत संघचालक मुकेशभाई मलकान, मुख्य वक्ता पद्मश्री विष्णुभाई पंड्या (अध्यक्ष, गुजरात साहित्य परिषद) तथा विसंकें गुजरात के न्यासी हरेश भाई ठक्कर जी ने दीप प्रज्ज्वलन कर किया. कार्यक्रम के मुख्य वक्ता पद्मश्री विष्णुभाई पंड्या का शाल ओढ़ाकर मुके ...

Read more

समाज में एकता, बंधुता का निर्माण समरसता के बिना संभव नहीं है – डॉ. सुनील भाई बोरिसा

गुजरात (विसंकें). भावनगर के अकवाडा गुरुकुल में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा प्रथम वर्ष संघ शिक्षा वर्ग (कच्छ विभाग, सौराष्ट्र विभाग तथा कर्णावती) का समारोप कार्यक्रम हुआ. कार्यक्रम में अकवाडा गुरुकुल के मार्गदर्शक पू. श्री विष्णु स्वामी तथा मुख्य अतिथि के रूप में महेश भाई गाँधी (सेवानिवृत्त उप नियामक तथा वरिष्ठ वैज्ञानिक CSMCRI, भावनगर) उपस्थित रहे. कार्यक्रम के मुख्य वक्ता डॉ. सुनील भाई बोरिसा (सह संपर्क ...

Read more

संघ एवं समस्त देशवासियों का स्वप्न है कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर बने – डॉ. जयंतिभाई भाड़ेसिया

गुजरात (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, पश्चिम क्षेत्र संघचालक डॉ. जयंतिभाई भाड़ेसिया ने कर्णावती में आयोजित प्रेस वार्ता में 19, 20, 21 मार्च, 2017 को कोयम्बटूर (तमिलनाडू) में आयोजित प्रतिनिधि सभा के बारे में जानकारी दी. उन्होंने संघकार्य की स्थिति के बारे में बताया कि वर्तमान में देशभर में 36,729 स्थानों पर 57,896 दैनिक शाखाएं, 14,896 साप्ताहिक मिलन तथा 7,574 संघ मंडलियां कार्यरत हैं. गुजरात में वर्तमा ...

Read more

गुरू गोविंद सिंह जी के समान पुरुषार्थ, साहस, त्याग और समर्पण की आवश्यकता – सुरेश भय्या जी जोशी

सूरत, गुजरात (विसंकें). सर्वंशदानी गुरु गोविंद सिंह जी के 350वें प्रकाशवर्ष के अवसर 6 मार्च, रविवार को सूरत में आयोजित समागम कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह सुरेश भय्या जी जोशी संबोधित किया. उन्होंने कहा कि अपना देश संतों का देश रहा है, इस देश में कई महापुरुषों का सान्निध्य हमें प्राप्त होता रहा है. मैं सोच रहा था कि हम 350वां प्रकाशवर्ष क्यों मना रहे हैं, क्या गुरु गोविंद सिंह जी की महि ...

Read more

भारत की प्रकृति के अनुसार भारत का विकास होना चाहिये – अशोक जी मोडक

गुजरात (विसंकें). माधव स्मृति न्यास, गुजरात द्वारा 20 फरवरी को कर्णावती में आयोजित श्रीगुरूजी व्यख्यान माला में “एकात्म मानवदर्शन और सामाजिक न्याय”  विषय पर नेशनल रीसर्च प्रोफेसर, पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष अ. भा. वि. प. अशोकजी मोडक ने कहा कि दादा आप्टे ने एकबार पू. गुरूजी से साक्षात्कार में पूछा कि आपके जीवन का सूत्र क्या है? तब पू. गुरूजी ने गीता के श्लोक को उद्धृत करते हुए कहा कि जिन्हें लोक संग्रह करना है, ...

Read more

अपने इतिहास और मानबिन्दुओं पर गौरव होना चाहिए – अनिरुद्ध जी देशपांडे

गुजरात (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, मेहसाणा विभाग, गुजरात द्वारा “सांप्रत वैश्विक परिदृश्य में भारत” विषय पर प्रबुद्ध नागरिक विचार गोष्ठी का रविवार को मेहसाणा में आयोजन किया गया. विचार गोष्ठी के समापन सत्र में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय संपर्क प्रमुख अनिरुद्ध जी देशपांडे ने संबोधित किया. उन्होंने कहा कि आप सब समाज के चिंतक वर्ग से हैं और आप सबने मिलकर एक गंभीर विषय पर चिंतन किया. संघ संस् ...

Read more

संघ का उद्देश्य चरित्रवान व्यक्ति निर्माण करना है – सुनीलभाई

गुजरात (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, पूर्व कच्छ जिले द्वारा स्वयंसेवकों का विराट संगम रविवार को गांधीधाम तहसील के शिनॉय गाँव में आयोजित किया गया. कार्यक्रम का उद्घाटन गांधीधाम गुरुद्वारा के ग्रंथि साहब एवं संघ के वरिष्ठ अधिकारियों ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया. विराट संगम के परिसर का नाम गुरु गोविंद सिंह नगर रखा गया था. संगम के अंतर्गत विविध सत्रों एवं कार्यक्रमों का आयोजन किया गया. समापन समारोह में पश्च ...

Read more

बिना किसी अपेक्षा के सेवा करने से ही हिन्दू समाज मजबूत होगा – डॉ. मोहन भागवत जी

गुजरात (विसंकें). भारत सेवाश्रम संघ शताब्दी समापन समारोह के अवसर पर गुजरात के वांसदा में 31 दिसम्बर को “विराट हिन्दू सम्मेलन” का आयोजन किया गया. जिसमें राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी विशेष रूप से उपस्थित रहे. उन्होंने कहा कि भारत सेवाश्रम संघ के प्रतिष्ठाता युगाचार्य स्वामी प्रणवानंद जी का संदेश हम सबके लिए आज भी महत्वपूर्ण है. संघ में प्रातः एकात्मता स्त्रोत में प्राणवानंद का स्मरण ...

Read more

समाज में सकारात्मक वृति जगे, ऐसा लिखो – डॉ. मोहन भागवत जी

गुजरात (विसंकें). गुजरात के कर्णावती महानगर में रविवार को आयोजित साधना साप्ताहिक के षष्टिपूर्ति समारोह के अवसर स्मरणिका का विमोचन वैदिक मंत्रोचार के बीच राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने किया. इस अवसर पर अपने उद्बोधन में उन्होंने साधना परिवार के सभी सदस्यों का अभिनंदन करते हुए कहा कि 60 साल तक किसी साधना को करना विशेषकर माध्यमों के युग में तपस्या के रूप में उसको चलाना कठिन बात है. डॉ ...

Read more

संघ समर्पण की भावना विकसित करता है – डॉ. मोहन भागवत जी

वडोदरा, गुजरात (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि पूर्ण गणवेश में हम लोगों का यह एकत्रीकरण हमारी 90 सालों से आदत है. हम लोग ऐसे कार्यक्रम करते ही रहते हैं, परन्तु हम ऐसे कार्यक्रम क्यों करते है? लम्बे समय तक कोई कर्मकांड करते रहने से कोई कार्य सिद्ध नहीं होता. हम जो भी कृति करते है, उसके पीछे एक विचार होता है. हम शारीरिक एवं बौद्धिक दोनों प्रकार के कार्यक्रम करते हैं ...

Read more
Scroll to top