You Are Here: Home » समाचार » झारखंड

राष्ट्र के निर्माण में जनजातीय समाज का योगदान भी अहम – दत्तात्रेय होसबले जी

रांची. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबले जी ने प्रज्ञा प्रवाह के उद्देश्य पर प्रकाश डालते हुए कहा कि देश के निर्माण में जितना कथित सभ्य समाज का योगदान है, उतना ही जनजातीय समाज का भी. उन्होंने भारतीय संस्कृति, सभ्यता पर कहा कि जो नगर में रहे, वे नागरिक कहलाए, गांव में रहने वाले ग्रामीण और जंगल में रहने वाले जनजातीय. इन सबका योगदान राष्ट्र निर्माण में है. राष्ट्र और राष्ट्रीयता के मुद ...

Read more

केरल में संघ कार्यकर्ताओं की हत्या वामदल की सुनियोजित साजिश – जे. नंदकुमार जी

रांची. प्रज्ञा प्रवाह के अखिल भारतीय संयोजक जे. नंदकुमार जी ने कहा कि केरल में संघ कार्यकर्ताओं की हत्या कम्युनिस्ट पार्टी की एक सुनियोजित साजिश है. कम्युनिस्ट पार्टी लोकतंत्र की दुश्मन है. इसके लोग केरल में खूनी-खेल खेल रहे हैं. इनका स्वभाव स्वरूप नहीं बदलने वाला. यही नहीं, कम्युनिस्ट पार्टी अपने खूनी खेल में केरल के मुस्लिम समुदाय के उन युवाओं का सहयोग ले रही है, जो आतंकवादी संगठन आईएसआईएस से जुड़े हैं. जे ...

Read more

धर्म शब्द हिन्दू समाज को एक सूत्र में पिरोने वाला है – जगन्नाथ शाही जी

रांची (विसंकें). विश्व हिन्दू परिषद् के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व विहिप के समन्वय मंच के संरक्षक जगन्नाथ शाही जी ने होटल ग्रीन एंकर के सभागार में रांची की लगभग 35 मत पंथ सम्प्रदाय की सम्मानित सामाजिक, सांस्कृतिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों के बीच हिन्दू समाज को एक सूत्र में पिरोने वाले धर्म शब्द की व्याख्या करते हुए कहा कि यूरोप व अमेरिका के 100 से अधिक विश्वविद्यालयों में पीठ स्थापित की गई हैं, जिनके अनुसंधान का ...

Read more

राष्ट्र की एकता और अखंडता में संघ का योगदान अविस्मरणीय – रामदत्त चक्रधर जी

रांची (विसंकें). झारखण्ड की प्रतिष्ठित संस्था राष्ट्र सम्वर्धन समिति झारखण्ड द्वारा रांची विश्वविद्यालय केंद्रीय सभागार में ‘राष्ट्र की एकता और अखंडता में संघ का योगदान’ विषय पर कार्यक्रम आयोजित किया गया. कार्यक्रम में मुख्य अतिथि विरसा कृषि विश्वविद्यालय रांची के कुलपति परविंदर कौशल जी तथा मुख्य वक्ता के रूप में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ उत्तर पूर्व क्षेत्र के क्षेत्र प्रचारक रामदत्त चक्रधर जी का उद्बोधन हुआ ...

Read more

पत्रकारिता समाज प्रबोधन का बड़ा माध्यम है – रामदत्त जी

रांची (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के उत्तर-पूर्व क्षेत्र के क्षेत्र प्रचारक रामदत्त चक्रधर जी ने कहा कि पत्रकारिता राष्ट्रीयता व मूल्यों के आधार पर होनी चाहिए. पत्रकारों की भूमिका सार्थक दिशा में हो. चुनौतियां बहुत हैं, पर उन्हीं चुनौतियों में से रास्ते भी निकलते हैं. वर्तमान पत्रकार देवर्षि नारद की परंपरा को आगे बढ़ाएं. रामदत्त जी शनिवार को विश्व संवाद केंद्र झारखंड की ओर से पलाश चिड़ियाघऱ प्राधिकरण ...

Read more

जेहादी गिरफ्त में बंगाल भारत की अखंडता के लिए घातक – राकेश जी

रांची (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ झारखंड प्रांत सह प्रांत कार्यवाह राकेश जी ने कहा कि “पश्चिम बंगाल में जिहादी तत्वों के निरन्तर बढ़ रहे हिंसाचार,वहां की सरकार द्वारा मुस्लिम वोट बैंक की राजनीति के चलते राष्ट्र विरोधी तत्वों को दिये जा रहे बढ़ावे तथा राज्य में घटती हिन्दू जनसंख्या के प्रति संघ गहरी चिन्ता व्यक्त करता है. भारत-बांग्लादेश सीमा से मात्र 8 किमी. अन्दर स्थित कालियाचक (मालदा) पुलिस स्टेशन पर ...

Read more

संघ स्वदेशी, आत्मीयता, अनुशासन व निष्ठा भाव से चलता है – डॉ. मोहन भागवत जी

जमशेदपुर (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की स्थापना के 90 वर्ष पूरे हो गए हैं. संघ का रूप आज इतना विशाल हो गया है कि देश – दुनिया में इसके बारे में लोग जानना चाहते हैं. पिछले दिनों रतन टाटा नागपुर आए थे. उन्होंने पूछा था कि आप कैसे, ऐसे स्वयंसेवक बनाते हैं. उन्होंने कहा कि संघ स्वदेशी, आत्मीयता, अनुशासन व निष्ठा भाव से चलता है. जब तक आप संघ ...

Read more

धर्म का मतलब केवल पूजा नहीं है – डॉ. मोहन भागवत जी

धर्म संपूर्ण सृष्टि को जोड़कर रखता है, जीवन सहित सृष्टि की उन्नति करता है - डॉ. मोहन भागवत जी जमशेदपुर (विसंकें). 68वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर बिष्टुपुर स्थित गुजराती सनातन समाज में राष्ट्रध्वज को सलामी देने के बाद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि राष्ट्र ध्वज के बीच में जो नीले रंग का चक्र है, वह धर्म चक्र है. धर्म का मतलब केवल पूजा नहीं है. सारे जीवन की जिससे धारणा होती है ...

Read more

विमुद्रीकरण कड़वी दवा पर दूरगामी परिणाम बेहतर – स्वांत रंजन जी

सरकार के कार्यों का समाज करता है आंकलन रांची (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय बौद्धिक प्रमुख स्वांत रंजन जी ने विमुद्रीकरण पर केंद्र सरकार का समर्थन किया. उन्होंने कहा कि जिस तरह पुरानी बीमारियों से छुटकारा दिलाने के लिए कड़वी दवा देनी पड़ती है, उसी तरह भ्रष्टाचार एवं कालाधन को समाप्त करने के लिए भी यह कड़वी दवा ही है. प्रारंभ में यह कष्टप्रद लग रहा है, लेकिन इसका दूरगामी परिणाम बेहतर होगा. ...

Read more

वैभवशाली, शक्तिशाली, संगठित व स्वाभिमानी भारत बनाना है – दत्तात्रेय होसबले जी

देश हमें देता है सबकुछ, हम भी तो कुछ देना सीखें रांची (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबले जी ने कहा कि हमें वैभवशाली, शक्तिशाली, चरित्रवान एवं संगठित भारत बनाना है. जिस भारत मां ने हमें सब कुछ दिया है, उसके लिए हम भी कुछ करना सीखें. स्वयंसेवक इसी भाव को लेकर काम भी करता है. वह पूरे देश को अपना मानता है. काम करने के दौरान उसके सामने किसी तरह का स्वार्थ नहीं रहता है. सह सरकार ...

Read more
Scroll to top