You Are Here: Home » समाचार » दिल्ली

‘भारत-बोध’ सम्मेलन – भारतीय शिक्षा व कलाएं मनुष्य के सर्वांगीण विकास में सहायक

नई दिल्ली. ब्रिटिश शासन काल से पहले भारत कहीं ज्यादा बेहतर शिक्षित था, लेकिन अंग्रेजों ने हमारी शिक्षा व्यवस्था का ढांचा ध्वस्त कर दिया. प्राचीन काल में तक्षशिला जैसे ज्ञान के केंद्र सभी प्रमुख सभ्यताओं में आदान-प्रदान का केंद्र बिंदु था, लेकिन आज हम उस व्यवस्था से कोसों दूर हैं. जरूरत साक्षरता के साथ शिक्षित करने की भी है. गुजरात के ऑरो विश्वविद्यालय के प्रबंधन बोर्ड के अध्यक्ष डॉ. शैलेंद्र राज मेहता तीन द ...

Read more

हमें अपने दृष्टिकोण से भारत की सांस्कृतिक व बौद्धिक विरासत को देखना होगा – सुरेश सोनी जी

भारतीय सभ्यता हमें मानवीय मूल्यों का पाठ पढ़ाती है – राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी जी नई दिल्ली. भारतीय शिक्षण मंडल तथा इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन ‘भारत बोध’ 23 फरवरी से दिल्ली में शुरू हो गया. सम्मेलन का उद्घाटन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी जी ने किया. पहले दिन उद्घाटन कार्यक्रम के पश्चात अरणी मंथन सत्र में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह स ...

Read more

हिन्दुत्व अनुभव से, शास्त्र से, स्वभाव से भारत की राष्ट्रीयता है – दत्तात्रेय होसबले जी

आज भारत से जात-पात, ऊँच-नीच, छुआछूत के भेद को मिटाने की आवश्यकता है नई दिल्ली. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबले जी ने कहा कि हिन्दुत्व अनुभव से, शास्त्र से, स्वभाव से भारत की राष्ट्रीयता है. मैं इतना ही कहना चाहूंगा कि डॉ. बाली द्वारा शोध के आधार पर लिखी गई "भारत गाथा" पुस्तक स्वतंत्र लेख तो है ही, साथ ही यह एक स्वतंत्र ग्रन्थ है. दूसरी पुस्तक "भारत को समझने की शर्तों" को समझेंगे, ...

Read more

आर्थिक मॉडल में सामाजिक व सांस्कृतिक मूल्यों को भी समाहित करने की आवश्यकता – दत्तात्रेय होसबले जी

नई दिल्ली. भारत अपने शासन और नीतियों के बल पर प्रगति कर रहा है और भारतीय आर्थिक व सामाजिक विकास के वैश्विक कारकों के अनुसार आकार ग्रहण कर कार्यशील हो रहा है. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबले जी ने कहा कि अपने विकास के एजेंडे में हमें सांस्कृतिक और सामाजिक मूल्यों को नहीं छोड़ना चाहिए. सह सरकार्यवाह भारत नीति प्रतिष्ठान (इंडिया पॉलिसी फाउंडेशन) द्वारा आयोजित प्रथम राष्ट्रीय आर्थिक स ...

Read more

दुनिया भारत को विश्वगुरु के रूप में देखते हुए हमें फॉलो कर रही है – मुकुल कानितकर जी

नई दिल्ली. भारतीय शिक्षण मंडल के संगठन सचिव मुकुल कानितकर जी ने कहा कि बॉलीवुड में भारतीय इतिहास को तोड़-मरोड़कर बनाई जाने वाली फिल्में और वामपंथी इतिहासकारों द्वारा भारतीय इतिहास को गलत ढंग से लिखा जाना. इसमें आश्चर्य की बात नहीं होनी चाहिए क्योंकि ये बौद्धिकता की लड़ाई है. बौद्धिकता कैसी ? यह जानना महत्वपूर्ण है. मुकुल जी ग्रुप ऑफ इंटलेक्चुअल्स एंड एकेडिमिशियंस (जीआईए) द्वारा किरोड़ी मल कॉलेज, डीयू में आयोजित ...

Read more

भारत को समृद्ध करने के लिए भारतीय भाषाओं को समृद्ध करना आवश्यक है

भारतीय भाषा मंच के कार्यक्रम में पारित किये दो प्रस्ताव नई दिल्ली. भारतीय भाषा मंच की ओर से आयोजित भारतीय भाषा शिक्षक सम्मेलन में शिक्षकों ने भाषाओं को बचाने का संकल्प लिया. नई दिल्ली के हिन्दी भवन में 11 फरवरी को आयोजित सम्मेलन में हिन्दी, संस्कृत, पंजाबी, उर्दू, बांग्ला, तमिल आदि भाषाओं को विद्यालय स्तर पर पढ़ाने वाले शिक्षक सम्मिलित हुए. मुख्य वक्ता के रूप में भारतीय भाषा मंच के संयोजक एवं हिन्दी विश्वविद ...

Read more

समरस समाज के निर्माण की कुंजी मातृशक्ति के पास होती है – मधुभाई कुलकर्णी

नई दिल्ली. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय कार्यकारिणी के सदस्य मधु भाई कुलकर्णी जी ने कहा कि जन्म से कोई भी मनुष्य उच्च अथवा नीच नहीं होता. हम सब अपनी मातृभूमि भारत माता की संतान हैं. चाहे वो राम हो, कृष्ण हो, रहिमन हो या कबीर. क्योंकि सभी के अन्दर आत्मा है. आज आवश्यकता है अपने अन्दर अपनत्व का भाव जगाने की. समाज को एक करने वाला तत्व अपनत्व ही है और भारत का तत्व ज्ञान जो सबको एक करता है वो अपनत्व है. ...

Read more

चाहे बारिश हो, तूफान हो या अग्नि प्रलय हो, संघ कार्य निरंतर चलता रहेगा – जे. नंद कुमार जी

नई दिल्ली (इंविसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ दिल्ली प्रान्त द्वारा गणतंत्र दिवस के अवसर पर पथ संचलन निकाला गया. पूर्ण गणवेश में 1205 स्वयंसेवकों ने पूर्व निर्धारित कार्यक्रमानुसार भारी वर्षा के बीच, सुव्यवस्थित व अनुशासित ढंग से पथ संचलन पूर्ण किया. मंदिर मार्ग स्थित विद्यालय से आरम्भ हुआ संचलन पेशवा रोड, गोल मार्केट, भाई वीरसिंह मार्ग, बंगला साहिब गुरुद्वारा, बाबा खड़ग सिंह मार्ग, राजीव चौक सर्कल होते हुए ...

Read more

केरल में हो रही हिंसा पर मानवाधिकार आयोग, एससी-एसटी आयोग, न्यायालय अब तक चुप क्यों है – दत्तात्रेय होसबाले जी

नई दिल्ली (इंविसंके). केरल में राज्य सरकार के वरदहस्त के नीचे माकपा के नरसंहारी कार्यकर्ताओं द्वारा संघ एवं बीजेपी के खिलाफ हो रही खूनी हिंसा के विरोध में जनाधिकार समिति द्वारा दिल्ली के जंतर-मंतर पर  धरना दिया गया. प्रदर्शन के बाद जनाधिकार समिति के प्रतिनिधि मंडल ने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर जी को ज्ञापन सौंपा, जिसमें केंद्र सरकार से मांग की गयी कि केरल सरकार को बर्खास्त कर वहां राष्ट्रपति शासन ...

Read more

संघ का लक्ष्य समाज में संगठन नहीं, समाज का संगठन करना है – मुकुल कानितकर जी

नई दिल्ली (इंविसंके). नई दिल्ली में विश्व पुस्तक मेले में 'जानिये संघ को' तथा 'Know About RSS' शीर्षक से दो पुस्तकों का लोकार्पण भारतीय शिक्षा मंडल के अखिल भारतीय संगठन मंत्री मुकुल कानितकर जी ने किया. अरुण आनंद जी द्वारा लिखित पुस्तकों को प्रभात प्रकाशन ने प्रकाशित किया है. इस अवसर पर मुकुल कानितकर जी ने पुस्तकों के विषय 'जानिये संघ को' पर चर्चा करते हुए कहा कि जिसने एक बार ध्वज प्रणाम कर लिया, उसको हम अपन ...

Read more
Scroll to top