You Are Here: Home » समाचार » दिल्ली

आपातकाल, पुलिसिया कहर और संघ – भाग 3

संघर्ष की भूमिगत सञ्चालन व्यवस्था प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा 25 जून 1975 को समूचे देश में थोपा गया आपातकाल एक तरफा सरकारी अत्याचारों का पर्याय बन गया. इस सत्ता प्रायोजित आतंकवाद को समाप्त करने के लिए संघ द्वारा संचालित किया गया सफल भूमिगत आन्दोलन इतिहास का एक महत्वपूर्ण पृष्ठ बन गया. सत्ता के इशारे पर बेकसूर जनता पर जुल्म ढा रही पुलिस की नजरों से बचकर भूमिगत आन्दोलन का सञ्चालन करना कितना कठिन हुआ होगा ...

Read more

संघ का लक्ष्य सबल व संगठित शक्ति से भारत को विश्व गुरु बनाना है – रवींद्र जोशी जी

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ दिल्ली का संघ शिक्षा वर्ग (प्रथम वर्ष) हरिनगर में संपन्न नई दिल्ली. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ दिल्ली प्रान्त का संघ शिक्षा वर्ग, प्रथम वर्ष (सामान्य) 23 जून 2019 को संपन्न हो गया. समापन समारोह हरीनगर स्थित महाशय चुन्नी लाल सरस्वती बाल मंदिर विद्यालय में आयोजित किया गया. वर्गाधिकारी ओम प्रकाश जी ने बताया कि वर्ग में शामिल शिक्षार्थियों ने शारीरिक, बौद्धिक, योग, सेवा, प्रबंधन और संघकार्य ...

Read more

आपातकाल, पुलिसिया कहर और संघ – भाग 2

सत्ता प्रायोजित आतंकवाद इलाहबाद हाईकोर्ट द्वारा सजा मिलने के तुरंत बाद प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी ने अपने राजनीतिक अस्तित्व और सत्ता को बचाने के उद्देश्य से जब 25 जून 1975 को रात के 12 बजे आपातकाल की घोषणा की तो देखते ही देखते पूरा देश पुलिस स्टेट में परिवर्तित हो गया. सरकारी आदेशों के प्रति वफ़ादारी दिखाने की होड़ में पुलिस वालों ने बेकसूर लोगों पर बेबुनियाद झूठे आरोप लगाकर गिरफ्तार करके जेलों में ठूंसना शुरू ...

Read more

आपातकाल, पुलिसिया कहर और संघ

भारतीय लोकतंत्र के इतिहास में 25 जून 1975 में उस समय एक काला अध्याय जुड़ गया, जब देश की तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने सभी संवैधानिक व्यवस्थाओं, राजनीतिक शिष्टाचार तथा सामाजिक मर्यादाओं को ताक पर रखकर मात्र अपना राजनीतिक अस्तित्व और सत्ता बचाने के लिए देश में आपातकाल थोप दिया. उस समय इंदिरा गांधी की अधिनायकवादी नीतियों, भ्रष्टाचार की पराकाष्ठा और सामाजिक अव्यवस्था के विरुद्ध सर्वोदयी नेता जयप्रकाश नार ...

Read more

आर्ट ऑफ लिविंग की प्रेरणा से नदी को पुनर्जीवित करने में जुटी 20 हजार महिलाएं

तमिलनाडु के वेल्लोर जिले की महिलाओं ने सालों से सूखी पड़ी एक नदी को फिर से जिंदा करने का कार्य शुरु किया है. और संभावना है कि हजारों महिलाओं का प्रयास सफल होगा. देश के कई क्षेत्रों में पानी की भारी कमी है, जिसकी आपूर्ति के लिए ज्यादातर लोग और सरकार बारिश के भरोसे हैं. इस सबके बीच तमिलनाडु के वेल्लोर जिले की 20,000 महिलाओं ने सालों से सूखी पड़ी एक नदी को फिर से जिंदा करने का प्रयास शुरू किया. टाइम्स ऑफ इंडिय ...

Read more

डॉ. हेडगेवार ने राष्ट्रीय दृष्टि जागृत कर समाज को संगठित करने का कार्य शुरू किया

संघ संस्थापक के व्यक्तित्व को समझे बिना संघ को समझना संभव नहीं चुनाव के समय भारत में युद्ध सी स्थिति दिख रही थी. अब सारी धूल बैठने के बाद चित्र स्पष्ट हो गया है. देश की जनता ने राष्ट्रीय पक्ष को मज़बूत समर्थन दे कर सत्तासीन किया है. आरोप-प्रत्यारोप के घमासान में विभाजनवादी राजनीति करने वाले खेमे से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर भी अकारण-आधारहीन आरोप लगते रहे. स्वातंत्र्यवीर सावरकर और द्वितीय सरसंघचालक माधव सदा ...

Read more

सरकार व मुख्य न्यायाधीश से अपील, शीघ्र प्रारम्भ हो राम मंदिर का निर्माण

केन्द्रीय मार्गदर्शक मण्डल की हरिद्वार बैठक में संतों ने पारित किया प्रस्ताव हरिद्वार. विश्व हिन्दू परिषद् के केंद्रीय मार्गदर्शक मण्डल की बैठक के दूसरे व अंतिम दिन श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य राममंदिर के निर्माण का मामला प्रमुख रहा. आध्यात्मिक नगरी हरिद्वार पधारे पूज्य संतों का कहना था कि मंदिर को भव्यता देने का कार्य शीघ्रातिशीघ्र प्रारंभ हो. इस सम्बन्ध में आयोजित प्रेस वार्ता को सम्बोधित करते हुए पूज्य जगद् ...

Read more

हिन्दू धर्म को लील रहे मिशनरी – तमिलनाडु में मतांतरण का ‘धंधा’

स्वराज्य पत्रिका ने तमिलनाडु में चल रही ईसाई मिशनरियों की मतांतरण की फैक्ट्री का पर्दाफाश करते हुए एक रिपोर्ट जारी की है. द्रविड़ आंदोलन, ‘आर्य-द्रविड़ विभाजन’ जैसे बोगस मुद्दों के ज़रिए तमिलनाडु में हिन्दुत्व/हिन्दू धर्म की जड़ों को दीमक की तरह चाट रहे पादरियों का कच्चा चिट्ठा रिपोर्ट में बयान है, और किस तरह से ‘सेक्युलरिज़्म’ के पिछले दरवाजे और द्रविड़वादी पार्टियों की साँठ-गाँठ से लोकप्रथाओं के साथ खिलवाड़ कर ह ...

Read more

सर्वत्र समरसता का भाव हो –  इन्द्रेश कुमार

नई दिल्ली. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय कार्यकारिणी के सदस्य इंद्रेश कुमार जी ने कहा कि हमें वनवासियों को दया भाव से नहीं, समरसता के भाव से देखना चाहिए. जैसा भगवान राम ने अपने वनवास के दौरान माता शबरी, निषाद व सुग्रीव आदि वनवासियों को गले लगाया और सम्मान दिया. माता शबरी के जूठे बेर खाकर ही वे भगवान राम कहलाए. इसी प्रकार भगवान कृष्ण ने गरीब सुदामा का सत्कार किया और वे द्वारिकाधीश कहलाए. इंद्रेश कुम ...

Read more

राष्ट्रहित के मुद्दों पर मंथऩ के साथ विहिप केन्द्रीय मार्गदर्शक मंडल की बैठक प्रारम्भ

हरिद्वार. विश्व हिन्दू परिषद् के केंद्रीय मार्गदर्शक मण्डल की बैठक पूज्य स्वामी विवेकानन्द सरस्वती जी महाराज तथा युगपुरुष पूज्य महामण्डलेश्वर स्वामी परमानन्द जी महाराज की अध्यक्षता में हरिद्वार में प्रारम्भ हुई. बैठक के प्रारम्भ में विश्व हिन्दू परिषद के कार्याध्यक्ष आलोक कुमार जी ने सभी सन्तों का स्वागत करते हुए अपने प्रस्ताविक उद्बोधन में लोकसभा चुनावों के परिणामों पर संतोष व्यक्त किया और कहा कि इस चुनाव ...

Read more

Sign Up for Our Newsletter

Subscribe now to get notified about VSK Bharat Latest News

Scroll to top