You Are Here: Home » समाचार » पश्चिम महाराष्ट्र

समाज जागृत होगा तो देश भर में अवांछित गतिविधियों पर अंकुश लगेगा – डॉ. मोहन भागवत जी

पुणे (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि समाज परिवर्तन के लिए सबको एक साथ होना चाहिए. सभी भेद - अभेदों से ऊपर उठकर संत, महंत, धर्माचार्य अगर समाज को साथ लाने का कार्य करें तो यह संभव है. गौसेवा, जैविक खेती, सामाजिक समरसता, परिवार प्रबोधन, पर्यावरण, स्वास्थ्य आदि माध्यमों से गतिविधियां बढ़ाने की आवश्यकता है. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पश्चिम महाराष्ट्र प्रांत की ओर से 18 ज ...

Read more

वेद और विज्ञान को अलग करने वाली भ्रांतियों से निकलना होगा – सुरेश सोनी जी

पुणे (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह सुरेश सोनी जी ने कहा कि वेद और विज्ञान को अलग बताने वाली भ्रांतियों से हमें बाहर निकलना होगा तथा पुराने अंधविश्वास से निकलकर नए अंधविश्वास में जाने से बचना होगा. सह सरकार्यवाह जी विज्ञान भारती और डेक्कन कॉलेज अभिमत विश्वविद्यालय के तत्वाधान में पुणे के डेक्कन कॉलेज में आयोजित ‘तृतीय विश्व वेद विज्ञान सम्मेलन’ के उद्घाटन समारोह में संबोधित कर रहे थे. प ...

Read more

गौ आधारित जैविक कृषि का संदेश गांव-गांव तक पहुंचाने का निश्चय

पुणे में राष्ट्रीय गौ सेवा परिषद संपन्न पुणे (विसंकें). देश में हर एक खेत तक गौ आधारित जैविक कृषि का संदेश पहुंचाने का निश्चय कर पुणे में आयोजित पहले राष्ट्रीय गौ-सेवा परिषद का रविवार को ‘गौ माता की जय’ के नारे के साथ समापन हुआ. पुणे में बिबवेवाडी स्थित ‘यश लॉन्स’ में आयोजित परिषद में एक हजार प्रतिनिधि उपस्थित थे. परिषद के उद्घाटन सत्र के अध्यक्ष पुणे जिले के पालक मंत्री गिरीश जी बापट थे. देश में गौ सेवा आं ...

Read more

पुणे में जनकल्याण समिति की ‘समाजसेवी सहायता निधि योजना’

पुणे (विसंकें). अपने जीवन के स्वर्णिम वर्ष सामाजिक कार्यों हेतु देने वाले कार्यकर्ताओं के लिए ‘समाजसेवी सहायता निधि योजना’ शुरू की गई है. ये योजना जनकल्याण समिति ने आरंभ की है. सामाजिक कार्यों में अनेक वर्षों तक काम करने वाले कार्यकर्ताओं को आवश्यकता के अनुसार कुछ ना कुछ सहयोग इसके तहत किया जाएगा. जनकल्याण समिति के अध्यक्ष डॉ. रवींद्र सातालकर जी, कार्यवाह शैलेंद्र बोरकर जी ने पत्रकार वार्ता में योजना के बार ...

Read more

घुमंतु लोगों के साहित्य में भारतीय मिट्टी की सुगंध – गिरीश प्रभुणे जी

महाराष्ट्र में दो दिवसीय समरसता साहित्य सम्मेलन संपन्न पुणे (विसंकें). समाज में व्याप्त कुरीतियों को दूर कर समरसतापूर्ण जीवन, सबके प्रति आत्मीयता रखने वाला जीवन समाज में फिर से दिखाई दे, इस उद्देश्य के साथ सामाजिक समरसता मंच पिछले तीन दशकों से कार्यरत है. इसी दिशा में प्रयास के रूप में समरसता साहित्य परिषद की ओर से समाज के वंचित घटकों पर लेखन करने वाले कार्यकर्ताओं का सम्मेलन सन् 1998 से आयोजित किया जा रहा ...

Read more

वनवासी समुदाय के लिए काम करने वाली सुनीता गोडबोले जी ‘बाया कर्वे पुरस्कार’ से सम्मानित

पुणे (विसंकें). छत्तीसगढ़ का बस्तर क्षेत्र नक्सली गतिविधियों के लिए जाना जाता है. इसी क्षेत्र के वनवासी समुदाय के लिए पिछले 30 वर्षों से वनवासी कल्याण आश्रम का पूर्णकालिक कार्य करने वाली सुनीता गोडबोले जी को सामाजिक सेवा में उल्लेखनीय कार्य हेतु पुणे स्थित महर्षि कर्वे संस्था की ओर से 'बाया कर्वे पुरस्कार' से सम्मानित किया गया. सुनीता गोडबोले जी मूलतः पुणे की हैं, युवावस्था में स्नातक की शिक्षा के दौरान ही ...

Read more

सामाजिक परिवर्तन की गति बढ़ाना आवश्यक – डॉ. मोहन भागवत जी

पुणे (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि संघ विचार के कार्य का प्रभाव सर्वदूर बढ़ रहा है. इस प्रभाव से परिवर्तन दिख रहा है. इस सामाजिक परिवर्तन की गति बढ़ाने की आवश्यकता है. सरसंघचालक जी ने कार्यकर्ताओं से कार्य की गति बढ़ाने का आह्वान किया. सरसंघचालक जी संघ विचार से प्रेरित होकर काम करने वाले विभिन्न संगठनों तथा संस्थाओं के कार्य की समीक्षा, संगठनात्मक विकास, सेवा का ...

Read more

जीवन में सफलता के साथ सार्थकता भी जरूरी है – डॉ. मोहन भागवत जी

पुणे (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि बिना सफलता के संतुष्टि नहीं मिलती है. सफलता के साथ सार्थकता पाने के लिए भी प्रयास करना पड़ता है. सरसंघचालक जी पुणे में लता मंगेशकर मेडिकल फाउंडेशन के दीनानाथ मंगेशकर अस्पताल में कुसालकर एटॉमिक व एक्स-रे सेंटर का लोकार्पण करने के पश्चात गणमान्यजनों को संबोधित कर रहे थे. कार्यक्रम में उन्होंने मानव स्वभाव के साथ ही अन्य कई विषयों ...

Read more

भारत में राष्ट्र की अवधारणा विशिष्ट व अद्भुत है – डॉ. कृष्ण गोपाल जी

भारत में राष्ट्र की भावना लोक मंगलकारी है यानि सभी प्राणियों के कल्याण की भावना पुणे (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल जी ने कहा कि भारत के पूरे साहित्य में भारत का वर्णन है. इसमें वैश्विक भावना तो है, लेकिन यह विचार जहां से आया है उसके प्रति भक्ति भी है. वैश्विक होते हुए भी हम भारतीय हैं, यह अद्वितीय समन्वय है. वैदिक काल से लेकर देश की शिक्षा संस्कृति और उससे विकसित भारतीय ...

Read more

“संविधान के अधीन रहते हुए ही सत्य कथन करें पत्रकार” – डॉ. सुब्रह्मण्यम स्वामी

पुणे (विसंकें). सांसद डॉ. सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कहा कि संविधान ने जिस तरह नागरिकों को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का मौलिक अधिकार दिया है, उसी तरह उस पर कुछ बंधन भी लगाए हैं. उन बंधनों के अधीन रहकर ही पत्रकारों को सत्य कथन करना चाहिए. संविधान की चौखट के अधीन रहकर ही पत्रकारों को अपने कर्तव्य का निर्वाह करना चाहिए. विश्व संवाद केंद्र, पश्चिम महाराष्ट्र और डेक्कन एजुकेशन सोसायटी की ओर से दिए जाने वाले देवर्षि न ...

Read more
Scroll to top