You Are Here: Home » समाचार » ब्रज (Page 2)

समाज ही करेगा उज्ज्वल राष्ट्र का निर्माण – सुरेश चंद्र जी

आगरा (विसंकें). प्रताप शाखा, जयपुर हाउस का वार्षिकोत्सव कार्यक्रम रविवार को बी ब्लॉक प्रताप नगर पार्क में मनाया गया. कार्यक्रम के प्रारंभ में स्वयंसेवकों ने सूक्ष्य व्यायाम का प्रदर्शन किया. स्वयंसेवकों द्वारा शाखा पर प्रतिदिन खेले जाने वाले खेलों का प्रदर्शन भी किया गया. स्वयंसेवकों ने प्राणायाम कपालभाती, अनुलोम-विलोम, उज्जैयी, भ्रामरी आदि का भी प्रदर्शन किया. प्रत्येक प्राणायाम किन बीमारियों में लाभान्वित ...

Read more

समाज का संगठन करना ही संघ का मुख्य कार्य – सुनील जी कुलकर्णी

आगरा. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय शारीरिक शिक्षण प्रमुख सुनील कुलकर्णी जी ने कहा कि संघ केवल राष्ट्र निर्माण और राष्ट्रीय विचारों का निर्माण करता है. जिससे समाज में समरसता का निर्माण होकर सभी एक वटवृक्ष के सुंदर पत्र, पुष्प फल का आकार लेकर समाज में संगठन की शक्ति को उत्पन्न कर भारत को विश्वगुरू बनाने की प्रतिदिन चर्या करें. सुनील जी रविवार 02 अप्रैल को विजय क्लब स्थित, विजय विद्यार्थी शाखा के वार ...

Read more

द्वितीय सरसंघचालक श्री गुरू जी के जन्मदिवस पर रक्तदान शिविर एवं सम्मान समारोह का आयोजन

आगरा (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के द्वितीय सरसंघचालक श्री माधवराव सदाशिवराव गोलवलकर, श्री गुरूजी के जन्मदिवस पर रविवार को माधव भवन, जयपुर हाउस में रक्तदान शिविर का  योजन किया गया. श्रीगुरूजी स्मारक समिति के तत्वाधान में आयोजित जन्मदिवस कार्यक्रम का शुभारंभ प्रात:8 बजे हवन के साथ हुआ. इसके बाद रक्तदान शिविर का उद्घाटन कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉ. एमसी गुप्ता, कार्यक्रम के अध्यक्ष संस्कार भारती के अखि ...

Read more

राजनीति सत्ता अधिकार नहीं, अपितु सेवा का अधिकार हासिल करने के लिये है – दत्तात्रेय होसबले जी

दीनदयालधाम, फरह (ब्रज). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबले जी ने कहा कि एकात्म मानवतावाद शब्द आपको भले ही कठिन लगे, लेकिन समझने और व्यवहार में उतारने की दृष्टि से यह बहुत सरल है, क्योंकि इस दर्शन में गरीबों के कल्याण का सार समाहित है. वह बुधवार 28 सितंबर को मथुरा के नगला चंद्रभान, फरह स्थित पं. दीनदयाल उपाध्याय जन्म शताब्दी वर्ष के उपलक्ष्य में आयोजित आमसभा को संबोधित कर रहे थे. उन्ह ...

Read more

वैदिक मंत्रोच्चार के साथ पं. दीनदयाल जन्मशती महोत्सव-2016 का शुभारंभ

दीनदयाल धाम, मथुरा (विसंकें). एकात्ममानव दर्शन के प्रणेता पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी की वर्षगांठ पर रविवार 25 सितम्बर को जन्मशती महोत्सव-2016 का दीनदयाल धाम, फरह, मथुरा में सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ रंगारंग शुभारंभ हो गया. प्रभात बेला में ढोल की थाप, नगाड़ों के साथ शीश पर कलश रखकर महिलाओं की टोली निकली. धाम के चारों तरफ गांवों की महिलाएं अपने-अपने गांवों से शीश पर कलश रख खुशी-खुशी स्मारक भवन की ओर बढ़ रह ...

Read more

महापुरुषों के स्मरण से राष्ट्रचेतना का जगरण होता है – गंगाराम जी

सेवा भारती के सहयोग से 185 छात्र-छात्राओं का सम्मान आगरा (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्र सेवा प्रमुख गंगाराम जी ने कहा कि महापुरूषों के स्मरण से राष्ट्रचेतना का जागरण होता है. महापुरूष किसी विशेष जाति के लिए नहीं होते, अपितु संपूर्ण समाज और राष्ट्र के लिए समर्पित होते हैं. महापुरुषों ने देश को विश्व का सिरमौर बनाने हेतु विभिन्न प्रकार के तप किए हैं. उनका प्रयास रहा है, संपूर्ण समाज एक रस खड़ा ...

Read more

सभी संगठन राष्ट्र की सर्वांगीण उन्नति के लिये समर्पित – डॉ. मोहन भागवत जी

आगरा (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ तथा 33 सम - विचारी संगठनों के स्वयंसेवक कार्यकर्ताओं की एक दिवसीय समन्वय बैठक सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी की उपस्थिति में सम्पन्न हुई. समन्वय बैठक में पश्चिम उत्तर प्रदेश (ब्रज और मेरठ प्रान्त) तथा उत्तराखण्ड के 33 संगठनों के 236 शीर्ष कार्यकर्ता सम्मिलित हुए. सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि सभी संगठन स्वतन्त्र, स्वायत्त, स्वावलम्बी हैं. सभी के कार्यक्षेत्र, कार ...

Read more

समाज में परिवर्तन सम्यक आचरण, बंधुत्व की भावना के आत्मीयतापूर्वक प्रबोधन से होगा – डॉ. मोहन भागवत जी

आगरा (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि वर्तमान में समाज परिवर्तन की आवश्यकता है और यह परिवर्तन समाज में सम्यक आचरण और बंधुत्व की भावना का आत्मीयता के प्रबोधन के साथ उत्पन्न होगा. अतः हम सभी को कुटुम्ब को आधार बनाकर संघर्ष करना चाहिए. उन्होंने कहा कि शिवाजी ने कुटुम्ब को आधार बनाकर संघर्ष किया था और यही वजह थी कि वे संस्कारवानों की फौज खड़ी कर सके. सरसंघचालक जी रविवार ...

Read more

शिक्षा शोषण मुक्त व समरस समाज की सृष्टि करने वाली हो – डॉ. मोहन भागवत जी

आगरा (विसंकें). शनिवार 20 अगस्त को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ब्रजप्रांत द्वारा आयोजित महाविद्यालीय व विश्वविद्यालीय शिक्षक सम्मेलन में सहभागिता की. सम्मेलन के प्रथम सत्र में समूचे ब्रजप्रांत के विभिन्न विश्वविद्यालयों, महाविद्यालयों, तकनीकी व प्रौद्यौगिकी और प्रबंधकीय शिक्षण संस्थाओं के करीब एक हजार से अधिक शिक्षकगण, कुलपति, कुलसचिवों ने मुक्त चर्चा में भाग लेते हुए मंच के समक्ष ...

Read more

गुरू-शिष्य के बीच आत्मीय सम्बंध स्थापित करेंगे सरसंघचालक जी

आगरा. हमारे महापुरूषों, मनीषियों ने हमारे भौगौलिक व सांस्कृतिक व परिवेश को ध्यान में रखकर भारत में जिस शिक्षा व्यवस्था का निर्माण किया था, वह समकालीन विश्व की शिक्षा व्यवस्था से समुन्नत व उत्कृष्ट थी और कई मायनों में आज विशिष्ट है. लेकिन, देश जब आजाद हुआ, तब उम्मींद बंधी कि हम शिक्षा के क्षेत्र में अपनी पुरानी पहचान को प्राप्त कर गुरू और शिष्य के आत्मीय सम्बंध राष्ट्रीय भावना के साथ जाग्रत करेंगे. परंतु शिक ...

Read more
Scroll to top