You Are Here: Home » समाचार » मध्य भारत (Page 6)

मध्य प्रदेश में बढ़ीं 362 शाखाएं, मध्य भारत में शाखाओं की संख्या बढ़कर 1439 पर पहुंची – यशवंत जी

भोपाल (विसंकें). संघ की अखिल भारतीय बैठक में शिक्षा, स्वास्थ्य और समरसता पर जोर दिया गया है. देश में महंगी होती शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाओं पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने गहरी चिंता जताई है. सरकार से शिक्षा के व्यापारीकरण पर अंकुश लगाने के लिए नियामक आयोग को प्रभावी बनाने की भी मांग की है. बैठक में स्वास्थ्य एवं सुदृढ़ भारत के निर्माण की दृष्टि से देश के समक्ष खड़ी तीन महत्वपूर्ण चुनौतियों पर मंथन कर प्रस्ताव ...

Read more

देश की आजादी में प्रत्येक देशवासी के पूर्वजों ने बलिदान दिया – इंद्रेश कुमार जी

भोपाल (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय कार्यकारिणी के सदस्य इंद्रेश कुमार जी ने कहा कि स्वतंत्रता को कुचलने व जीवन मूल्यों को समाप्त करने की कोशिश का नाम आतंकवाद है. हथियारों के उपयोग द्वारा अथवा गुंडागर्दी से भयभीत करने का नाम ही आतंकवाद नहीं है, बल्कि वैचारिक रूप से भ्रमित करना भी आतंकवाद का एक रूप है. शुरूआत दौर में कश्मीर में नारा लगता था – हंस कर लिया है पाकिस्तान, लड़कर लेंगे हिन्दुस्त ...

Read more

जेएनयू घटना के विरोध में भोपाल में हम हिन्दुस्तानी के बैनर तले जनता का मार्च

भोपाल (विसंकें). भोपाल सहित पूरे मध्यप्रदेश में आयोजित प्रदर्शनों में जेएनयू में घटित राष्ट्रविरोधी घटनाओं पर आक्रोश व्यक्त किया. प्रदर्शनों में सबसे चर्चित हम हिन्दुस्तानी के बैनर तले आयोजित प्रदर्शन रहा. भोपाल में चार स्थानों से तिरंगा यात्रा प्रारम्भ होकर भारत माता चौराहे पर एकत्रित होकर एक जनसभा में परिवर्तित हो गई. यात्रा में हजारों की संख्या में दोपहिया व चौपहिया वाहनों ने भाग लिया. जनसभा को मुख्य वक् ...

Read more

आयुर्वेद में शोध, चुनौतियां व भविष्य की संभावनाएं विषय पर राष्ट्रीय कार्यशाला

चित्रकूट (विसंकें). पं. दीनदयाल उपाध्याय जी एवं राष्ट्रऋषि नानाजी देशमुख जन्मशताब्दी वर्ष के उपलक्ष्य में दीनदयाल शोध संस्थान, चित्रकूट के स्वास्थ्य प्रकल्प आरोग्यधाम के आयुर्वेद सदन के तत्वाधान में भारत सरकार के आयुष मंत्रालय के सहयोग से आयुर्वेद के क्षेत्र में शोध, चुनौती एवं भविष्य की सम्भावनाओं विषय पर दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला का आयोजन किया गया. कार्यशाला के द्वितीय दिन डॉ. एमबी शंकर पीएलआईएम गाजिय ...

Read more

अध्यात्म के बिना विज्ञान, विनाश कर सकता है – डॉ. कृष्णगोपाल जी

भोपाल (विसंकें). भोपाल के रविन्द्र भवन में सिंहस्थ के परिप्रेक्ष्य में ‘विज्ञान एवं अध्यात्म’ विषय पर आयोजित संगोष्ठी में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ  के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्णगोपाल जी ने कहा कि पाश्चात्य जगत में धर्म और विज्ञान में द्वंद है. भारत में धर्म का स्वरूप व्यापक है. इसके अंत:रूप में धर्म है. सभ्यता विज्ञान और अर्थ से आगे बढ़ती है. सभ्यता परिवर्तनशील है, जबकि संस्कृति स्थायी है. संस्कृति में अध्यात्म ...

Read more

वर्तमान में भारत में बौद्धिक आतंकवाद चल रहा है – जे नंदकुमार जी

इंदौर. रविवार 06 दिसंबर को इंदौर में चित्र भारती फिल्मोत्सव के कार्यालय का शुभारम्भ एवं चित्रभारती फिल्म फेस्टिवल की वेबसाइट का लोकार्पण हुआ. कार्यक्रम में शहर के कई गणमान्य व्यक्ति शामिल हुए. कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में अखिल भारतीय सह प्रचार प्रमुख जे नंदकुमार जी उपस्थित थे. उनके साथ कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय रायपुर के कुलपति डॉ. मानसिंग परमार, सह आयोजक देवी अहिल्या विश्वव ...

Read more

भारत को विश्व का सिरमौर बनाना है तो हमें भारतीयता को बनाए रखना होगा – डॉ मोहन जी भागवत

भोपाल (विसंकें). अपेक्स बैंक के समन्वय भवन में सरसंघचालक डॉ. मोहनराव भागवत के कर कमलों से मृदुला सिन्हा द्वारा लिखित उपन्यास “ परितप्त लंकेश्वरी ” का लोकर्पण किया गया. मृदुल सिन्हा गोवा की राज्यपाल हैं. कार्यक्रम की अध्यक्षता लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन और मुख्य अतिथि के रूप में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान उपस्थित थे. सरसंघचालक जी ने कहा कि भारत को विश्व का सिरमौर बनना है, तो उसे भारतीयता ...

Read more

संवाद केंद्र के पूर्व अध्यक्ष बनवारी लाल बजाज जी को श्रद्धांजलि दी

भोपाल. विश्व संवाद केंद्र के पूर्व अध्यक्ष बनवारी लाल बजाज जी का  07 जून को दुखद निधन हो गया. उनके अन्त्येष्टी कार्यक्रम में विश्व संवाद केंद्र भोपाल के कार्यकारी अध्यक्ष डॉ. अजय नारंग जी सम्मिलित हुए तथा श्रद्धा सुमन आर्पित किए. विश्व संवाद केंद्र के न्यासियों द्वारा बनवारी लाल बजाज जी के प्रेरक जीवन को स्मरण किया गया. साथ ही उनकी अध्यक्षता में विश्व संवाद केंद्र भोपाल की प्रगति में उनके योगदान का भी स्मरण ...

Read more

कलम का इस्तेमाल संजीदगी से हो – मधु किश्वर

भोपाल (विसंकें). लेखिका  एवं मानुषी पत्रिका  की  संपादक सुश्री मधु किश्वर ने कहा कि आजादी के दशकों बाद आज भी देश में अंग्रेजी मीडिया का दबदबा है, जिसका नकारात्मक प्रभाव यहां के हिंदी मीडिया पर भी पड़ा. मधु किश्वर विश्व संवाद केंद्र भोपाल द्वारा आयोजित “नारद जयंती समारोह” में बोल रही थीं. शहीद भवन सभागृह में “जनसंचार माध्यम एवं महिला प्रश्न” विषय पर आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि विदेशी वित्त से संचालित ...

Read more

संस्कृति दुनिया में केवल भारत के पास, शेष देशों में केवल सभ्यताएं – डॉ प्रणव पण्ड्या

भोपाल (विसंकें). अखिल विश्व गायत्री परिवार के निदेशक एवं देव संस्कृति विश्वविद्यालय, हरिद्वार के कुलपति डॉ प्रणव पण्ड्या ने कहा कि संस्कृति भारत के अलावा अन्य कहीं नहीं है. दुनिया के सभी देशों में सभ्यताएं हैं. भारतीय संस्कृति से ही जीवन मूल्य पनप सकते हैं. भारत को अपनी संस्कृति पर गर्व है. सद्गुणों की खेती ही संस्कृति है. संस्कृति का सम्बन्ध आध्यात्मिकता से है. हम कैसे अपना जीवन मूल्यवान बना सकते हैं, इस प ...

Read more
Scroll to top