You Are Here: Home » समाचार » हरियाणा

भारतीय मनीषियों का चिंतन, अहंकार से बचें, निःस्वार्थ सेवा करें – डॉ. मोहन भागवत जी

सरसंघचालक जी ने गांव पट्टीकल्याणा में सेवा साधना एवं ग्राम विकास केंद्र का भूमि पूजन व शिलान्यास किया पानीपत (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि भारतीय मनीषियों का चिंतन व जीवन दर्शन संपूर्ण विश्व के कल्याण के लिए है. जिसमें मानव ही नहीं समस्त प्राणी वर्ग के लिए संदेश दिया है. सनातन संस्कृति में पुनर्जन्म और कर्मफल की अवधारणा से परिभाषित होता है कि जो हम कर्म करते हैं ...

Read more

पश्चिम की पत्रकारिता पूंजीवादी, भारतीय पत्रकारिता पुरुषार्थी पत्रकारिता है – प्रो. राकेश सिन्हा जी

गुरुग्राम. हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर जी ने कहा कि पत्रकार जगत पर महत्वपूर्ण जिम्मेदारी है, इसलिए गहन चिंतन होना चाहिए. देवर्षि नारद सृष्टि के पहले पत्रकार थे, वह दैवीय शक्तियों से भी मिलते थे और दानवों से भी मिलते थे, पर उनका उद्देश्य हमेशा समाज हित ही रहा. इसलिए पत्रकार की पहली प्राथमिकता राष्ट्रीय विचार ही होना चाहिए. वे रविवार को गुरुग्राम के सेक्टर 14 स्थित राजकीय महिला महाविद्यालय में नारद ...

Read more

धर्म तोड़ने का नहीं, बल्कि जोड़ने का काम करता है – डॉ. मोहन भागवत जी

सिरसा, हरियाणा (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि धर्म ने कभी तोड़ने का काम नहीं किया है, हमेशा जोड़ा है. भारत का कोई भी धर्म तोड़ने की शिक्षा नहीं देता, बल्कि हमेशा जोड़ने का उपदेश देता है. विशाल दृष्टिकोण और आत्मीयता के सहारे भारत को विश्व गुरु बनाने के लिए एक होकर काम करना होगा. पूरी दुनिया सुख-समृद्धि के साथ शांति का जो रास्ता देखना चाहती है, वह भारत से निकलेगा. ...

Read more

स्वावलंबी व स्वाभिमानी समाज ही राष्ट्र को उन्नति की ओर ले जाएगा – डॉ. मोहन भागवत जी

गुरुग्राम (विसंकें). राष्ट्रीय सहकारी अनुसंधान एवं विकास अकादमी को सहकार भारती के संस्थापक लक्ष्मण इनामदार जी का नाम गुरुग्राम स्थित एनसीडीसी के प्रांगण में उनके जन्मशताब्दी वर्ष के अवसर पर आयोजित सहकार सम्मलेन में दिया गया. सहकार भारती द्वारा आयोजित सम्मलेन में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत ने कहा कि सहकारिता की गतिविधि प्राचीन समय में भारत से ही चली है, लक्ष्मण राव इनामदार वर्तमान मे ...

Read more

धर्म को सांप्रदायिक सीमाओं में न बांधें – सुरेश भय्याजी जोशी

पंचकूला (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह सुरेश भय्याजी जोशी ने कहा कि हिन्दू उदार व सार्वभौम चिंतन है और इसे सांप्रदायिक सीमाओं में बांधना इसके साथ अन्याय होगा. सरकार्यवाह जी बुधवार (07 फरवरी) को पंचकूला के सेक्टर-2 स्थित श्रीराम मंदिर में आयोजित प्रबुद्ध नागरिक विचार गोष्ठी में संबोधित कर रहे थे. गोष्ठी की अध्यक्षता लेफ्टिनेंट जनरल बीएस जसवाल जी ने की. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ उत्तर क्षेत्र ...

Read more

हमारी निष्ठा राष्ट्र के प्रति होनी चाहिए – प्रो. सीताराम जी

सोनीपत (विसंकें). राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ के उत्तर क्षेत्र कायर्वाह प्रो. सीताराम व्यास जी ने कहा कि मनुष्य का निर्माण ही वास्तव में राष्ट्र का निर्माण है. हमारी निष्ठा राष्ट्र के प्रति होनी चाहिए, जो हमारे देश को आगे बढ़ाएगी. हमारा देश तब शक्तिशाली होगा, जब अंतिम व्यक्ति मजबूत होगा. इसके लिए हमें संगठित होकर प्रयास करने चाहिएं. कुछ सामाजिक संगठन इस प्रयास में आगे बढ़ भी रहे हैं. प्रो. सीताराम जी दीनबंधु छो ...

Read more

धर्म परिवर्तन नहीं करने पर दलित परिवार पर दबंगों ने किया जानलेवा हमला

पुलिस ने एक महिला सहित पांच लोगों के खिलाफ दर्ज किया मामला हरियाणा (विसंकें). नगीना खंड के गांव मोहलाका के एक दलित परिवार ने धर्म परिवर्तन नहीं किया तो गांव के दबंगों ने न केवल दलित परिवार पर जानलेवा हमला किया, बल्कि आरोप है कि जाति सूचक शब्दों का प्रयोग कर उनको अपमानित भी किया. दबंगों के हमले से पीड़ित दलित परिवार के सदस्यों में भय व्याप्त है. पीड़ित परिवार ने नगीना थाना प्रबंधक को शिकायत कर अरोपियों के खि ...

Read more

राष्ट्र को मजबूत बनाने के लिए व्यक्तियों में चरित्र निर्माण करना होगा – यतेंद्र जी

कुरुक्षेत्र (विसंकें). विद्या भारती के राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री यतेंद्र शर्मा जी ने कहा कि व्यक्ति का चरित्र तथा राष्ट्र का चरित्र एक सिक्के के दो पहलू हैं. इसलिए राष्ट्र को मजबूत बनाने के लिए व्यक्तियों का चरित्र निर्माण करना होगा और यह तभी संभव है, जब हम अपने विद्यार्थियों को संस्कारयुक्त शिक्षा प्रदान करेंगे. विद्या भारती इस दिशा में प्रयासरत है. नई पीढ़ी के निर्माण के लिए विद्या भारती ने समाज में बिखरी ...

Read more

कर्त्तव्यनिष्ठा से उत्कृष्ट जीवन जीने की प्रेरणा देती है गीता – डॉ. मोहन भागवत जी

कहा, गीता का अनुसरण करते हुए समाज में लानी होगी एकता एवं आत्मीयता की भावना कुरुक्षेत्र (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि देश आज जिस परिस्थिति से गुजर रहा है, उसमें गीता का अनुसरण आवश्यक है. समाज में एकता एवं आत्मीयता की भावना लानी होगी. समाज को गीता का संदेश प्रत्यक्ष रूप से जीवन में उतारना होगा. गीता कर्त्तव्य निष्ठा से लेकर उत्कृष्ट जीवन जीने की प्रेरणा देती है. ब ...

Read more

कला ही जीवन को वास्तव में जीवन्त बनाती है

कला संगम मंच के माध्यम से बाल कलाकारों को मिलता है अपनी प्रतिभा निखारने का मौका रोहतक (विसंकें). विद्या भारती से संबद्ध हिन्दू शिक्षा समिति हरियाणा प्रांत के तत्वाधान में शिक्षा भारती विद्यालय में दो दिवसीय कला संगम का आयोजन किया गया. इसमें ‘कला व संगीत’ संबंधित चित्रकला, रंगोली, स्लोगन, पोस्टर मेकिंग, कलात्मक कलाकृति निर्माण, मूर्तिकला, लोककला, कपड़ा रंगाई, कविता, एकल गायन, लोक नृत्य, वादन, हरियाणवी लोकगीत, ...

Read more
Scroll to top