You Are Here: Home » साक्षात्कार (Page 2)

बच्चों तक अपने जीवन मूल्यों को पहुँचाना भगवाकरण नहीं

शिक्षा बचाओ आंदोलन और शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास के जरिये पाठ्य पुस्तकों के तथ्यहीन बातों को हटवाने वाले श्री दीनानाथ बत्रा आज एक बार फिर चर्चा में हैं. आश्चर्य हो सकता है किन्तु 5 जनवरी, 1930 को राजनपुर, जिला-डेरागाजी खान (अब पाकिस्तान) में जन्मे दीनानाथ बत्रा ने अब तक सिर्फ चार फिल्में देखी हैं और वह भी विभाजन से पहले. वैसे, इन दिनों वे महाराणा प्रताप धारावाहिक देखते हैं. अध्ययन में उनका मन रमता है और श ...

Read more

‘हिंदू लड़कियों की पीड़ा उन्हें दिखाई क्यों नहीं देती?’

जितने तथाकथित सेकुलर या मानवाधिकारी संगठन हैं, उनको हिंदुओं की पीड़ा दिखाई नहीं देती. वे हिंदू के कष्ट को कष्ट नहीं मानते. हजारों हिंदू बालिकाओं का कष्ट उनके दिल को आहत नहीं करता. महिला की चिंता करने का दावा करने वाले तमाम महिला संगठन ऐसे में कहां छिप जाते हैं? लव जिहाद की बढ़ती घटनाओं के सन्दर्भ में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सहसरकार्यवाह डॉ.कृष्णगोपाल से पाञ्चजन्य की बातचीत के संपादित अंश यहां प्रस्तुत है ...

Read more

क्यों नहीं कर पा रहा मुस्लिम समुदाय किसी पर भरोसा ?

जबलपुर. देश के मुस्लिम समुदाय को पिछले 65 वर्षों से दगा ही दगा मिला है. यही कारण है कि वे किसी पर भी भरोसा नहीं कर पा रहा है. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के बारे में उसके भ्रम दूर हो रहे हैं. वह संघ को समझने में लगा हुआ है. यह कहना है राष्ट्रीय मुस्लिम मंच के अखिल भारतीय संयोजक इन्द्रेश जी का. विश्व संवाद केन्द्र के संपादक शिव कुमार कुशवाहा के साथ बातचीत में उन्होंने बताया कि 8 और 9 सितम्बर को मंच की एक बैठक दि ...

Read more

दिशा सही है, लेकिन अभी रास्ता लंबा : भय्याजी जोशी

विश्व हिन्दू परिषद की प्रकृति, विविध आयाम और इसकी गतिविधियों एवं समाज में इसके योगदान की 50 वर्षीय यात्रा पर पाञ्चजन्य के संपादक श्री हितेश शंकर एवं ऑर्गनाइजर के संपादक भी प्रफुल्ल केतकर ने रा.स्व.संघ के सरकार्यवाह श्री भैयाजी जोशी से विशेष बातचीत की, जिसके प्रमुख अंश यहां प्रस्तुत हैं: - राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ वर्ष 1925 से हिन्दुओं को संगठित और शक्तिशाली बनाने के लिये कार्य कर रहा है, फिर विश्व हिन्दू परि ...

Read more

सरस्वती को समर्पित जीवन : श्री दर्शन लाल जैन

एक कालखण्ड विशेष में लुप्त हो चुकी सरस्वती नदी को पुनर्जीवित करने के लिए सरस्वती नदी शोध संस्थान की स्थापना श्री दर्शनलाल जैन द्वारा अपने अथक प्रयासों से सिंधु सरस्वती सभ्यता के अनुसंधान की परियोजना को सरकार के माध्यम से शुरू करवाया। जगाघरी के रहनेवाले श्री जैन 10 वर्ष की आयु से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े हैं और हरियाणा के प्रान्त संघचालक रह चुके है। सरस्वती नदी पर उनके द्वारा किये गए काम को लेकर हुमने ...

Read more

मुस्लिम व ईसाई बंधुओं के बारे में संघ की सोच

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का लक्ष्य सम्पूर्ण समाज को संगठित कर अपने हिन्दू जीवन दर्शन के प्रकाश में समाज की सर्वांगीण उन्नति करना यह है. रा.स्व.संघ का कार्य किसी भी मजहब विशेष के विरुद्ध नहीं है. परन्तु किसी भी प्रकार की राष्ट्र विरोधीगतिविधि का संघ हमेशा विरोध करता आया है. समाज के वामपंथी एवं तथाकथित सेकुलर लेखक, जों संघ के विरुद्ध लगातार झूठा और गलत प्रचार करते आये है, संघ को मुस्लिम एवं ईसाई विरोधी बताने क ...

Read more

ईश्वरीय वाणी

5 जून / राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के व्दितीय सरसंघचालक परम पूज्य श्री माधव सदाशिव राव गोलवलकर ‘श्री गुरू जी’ की पुण्य तिथि पर श्री सुदर्शन जी का संस्मरण 14 अगस्त 1972 को सौभाग्यवश श्री गुरुजी से एकान्त में वार्तालाप करने का सुअवसर मिला. मैंने उनसे कुछ जिज्ञासायें की थीं, जिनका स्पष्ट समाधान उन्होंने किया था. मैंने कहा - श्री लेलेजी ने श्री अरविन्द घोष को जब योग की दीक्षा दी थी, तब उन्हें बताया गया था कि वे जब ...

Read more
Scroll to top