You Are Here: Home » Posts tagged "दीनदयाल शोध संस्थान"

समस्त जनों के प्रेरणास्रोत भारत रत्न नानाजी देशमुख

जबलपुर (विसंकें). नानाजी देशमुख ने अपना जीवन वंचितों और शोषितों के कल्याण के लिए समर्पित कर दिया. एकात्म मानववाद को अपने जीवन में उतारकर जीवन भर सामाजिक समरसता के लिए “भारत रत्न श्री नानाजी” ने आजीवन कार्य किया. प्रखर राष्ट्रवादी, महान समाजसेवी नानाजी न सिर्फ असंख्य कार्यकर्ताओं, बल्कि आमजन के भी प्रेरणास्रोत हैं. नानाजी ने अपनी वसीयत की पंक्तियों में मनोभाव व्यक्त करते हुए कहा था - “मेरी यह मानव देह मानवमा ...

Read more

हम सर्वोत्तम पुरूषार्थ प्रस्तुत करने का प्रयास कर रहे हैं

चित्रकूट. व्यक्ति, परिवार (कुटुम्ब), समाज मिलकर एक विशाल इकाई बनती है, ‘वसुधैव कुटुम्बकम’. दीनदयाल शोध संस्थान वसुधैव कुटुम्बकम की भावना से ही अपने प्रकल्पों के माध्यम से सतत प्रयत्नशील है. संस्थान की प्रबन्ध समिति एवं साधारण सभा की दो द्विवसीय (29-30 जुलाई 2018) वार्षिक बैठक योजनानुसार इस बार चित्रकूट में आयोजित है. बैठक के प्रथम दिन प्रातः 10.00 बजे से प्रबन्ध समिति के सदस्यों की बैठक संस्थान के आरोग्यधाम ...

Read more

‘सेवांकुर’ – ‘एक सप्ताह देश के नाम’ संकल्प के साथ महाराष्ट्र के चिकित्सकों का दल चित्रकूट में दे रहा सेवाएं

चित्रकूट. दीनदयाल शोध संस्थान चित्रकूट एवं डॉ. बाबा साहेब अम्बेडकर वैद्यकीय प्रतिष्ठान द्वारा आयोजित सेवांकुर – 2018 के तहत डॉ. हेडगेवार रूग्णालय औरंगाबाद एवं महाराष्ट्र के विभिन्न चिकित्सा संस्थानों के तीन सौ चिकित्सकों व मेडिकल विद्यार्थियों का दल चित्रकूट आया है. ‘एक सप्ताह देश के नाम’ संकल्प के साथ वे चित्रकूट में दीनदयाल शोध संस्थान के उद्यमिता विद्यापीठ परिसर में एक सप्ताह तक राष्ट्रऋषि नानाजी के समाज ...

Read more

11 अक्तूबर/जन्म-दिवस : आधुनिक चाणक्य नानाजी देशमुख

ग्राम कडोली (जिला परभणी, महाराष्ट्र) में 11 अक्तूबर, 1916 (शरद पूर्णिमा) को श्रीमती राजाबाई की गोद में जन्मे चंडिकादास अमृतराव (नानाजी) देशमुख ने भारतीय राजनीति पर अमिट छाप छोड़ी. 1967 में उन्होंने विभिन्न विचार और स्वभाव वाले नेताओं को साथ लाकर उ0प्र0 में सत्तारूढ़ कांग्रेस का घमंड तोड़ दिया. इस कारण कांग्रेस वाले उन्हें नाना फड़नवीस कहते थे. छात्र जीवन में निर्धनता के कारण किताबों के लिए वे सब्जी बेचकर पै ...

Read more

दिल्ली में नारद जयंती का मुख्य समारोह 22 को

नई दिल्ली. इन्द्रप्रस्थ विश्व संवाद केन्द्र 22 मई को देवर्षि नारद जयंती एवं पत्रकार सम्मान समारोह आयोजित करने जा रहा है. केन्द्र के सचिव श्री वागीश ईसर ने भारत के आध्यात्मिक और सांस्कृतिक मूल्यों की रक्षा के आकांक्षी दिल्लीवासियों विशेषरूप से सभी पत्रकारों से आयोजन में सम्मिलित होने का अनुरोध किया है. यह आयोजन प्रात: साढ़े 11 बजे से स्वामी राम तीर्थ नगर, रानी झांसी मार्ग, झण्डेवाला एक्सटेंशन स्थित दीनदयाल श ...

Read more

दुर्लभ प्रजातियों के संरक्षण की पहल

12 मई को चित्रकूट में दीनदयाल शोध संस्थान के तत्वावधान में "चित्रकूट की जैव विविधता में दुर्लभ प्रजातियां" विषय पर विद्वानों और जैव विशेषज्ञों ने गहन चिंतन-मनन किया. विद्वानों ने कहा कि चित्रकूट आदिकाल से ही जैव विविधता के रूप में परिपूर्ण रहा है. चित्रकूट पर्वत पर हजारों औषधीय पौधे पाये जाते हैं. कुल 223 तरह के पौधे कामदगिरी पर्वत पर हैं. चित्रकूट के 84 कोसीय क्षेत्र में 780 प्रजातियों के पौधे पाये जाते है ...

Read more
Scroll to top