You Are Here: Home » Posts tagged "प्रज्ञा प्रवाह"

शबरीमला मंदिर में महिलाओं के साथ भेदभाव नहीं होता – जे. नंदकुमार

नई दिल्ली (इंविसंकें). शबरीमाला मंदिर में युवतियों के प्रवेश को लेकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले की आड़ में केरल सरकार अय्यप्पा भक्तों पर अत्याचार कर रही है. उनके धार्मिक और मानवाधिकारों का हनन कर रही है. केरल सरकार इस बात पर तुली हुई है कि किसी भी तरह अय्यप्पा मंदिर में युवतियों का प्रवेश करा दिया जाए भले ही वह पोर्न स्टार रेहाना फातिमा ही क्यों न हो, जिसका हिन्दू धर्म और भक्ति से कोई सम्बन्ध नहीं है. राष्ट्रीय ...

Read more

प्रजातंत्र में अधिकार व कर्तव्य का साथ-साथ होना आवश्यक है – सुमित्रा महाजन जी

रांची (विसंकें). लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन जी ने कहा कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा प्रजातांत्रिक देश है. सभी के मन में मेरा राष्ट्र का भाव जरूरी है, नहीं तो प्रजातंत्र का लक्ष्य समाप्त हो जाएगा. प्रजातंत्र में अधिकार व कर्तव्य का साथ साथ होना आवश्यक है. हर नागरिक का कर्त्तव्य है कि वह देश के लिए कुछ करे. हमें देश के प्रति जागरूक रहना होगा. प्रजातंत्र जनता का, जनता के लिए व जनता के द्वारा शासन है. इसलिए सर ...

Read more

रांची में लोकमन्थन 2018 हेतु मुहूर्त पूजन

राँची (विसंकें). राजधानी राँची के होटवार स्थित बिरसा मुंडा एथेलेटिक्स स्टेडियम में लोकमंथन 2018 हेतु मुहूर्त पूजन किया गया. मुहूर्त पूजन रांची के प्रतिष्ठित पाहन जगलाल पाहन जी के कर कमलों से हुआ, उन्होंने आयोजन की सफलता के लिए ईश्वर की आराधना की. रांची में 27 से 30 सितंबर तक होने वाले लोकमंथन 2018 का उद्घाटन उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू जी करेंगे और समापन समारोह में लोकसभा अध्यक्षा सुमित्रा महाजन जी भाग लेंगी ...

Read more

भारत संस्कृति के आधार पर बना राष्ट्र है – जे. नंदकुमार जी

भोपाल. प्रज्ञा प्रवाह के अखिल भारतीय संयोजक जे. नंदकुमार जी ने कहा कि भारत में अनेक प्रकार की विविधताएं हैं. किंतु, सबको एक तत्व बांधकर रखता है. यह तत्व हिन्दुत्व है. हिन्दुत्व ही भारत की राष्ट्रीयता है. नेताजी सुभाषचंद्र बोस से लेकर रवीन्द्रनाथ टैगोर तक ने भी यही कहा है. वे यंग थिंकर्स कॉन्क्लेव के समापन समारोह में संबोधित कर रहे थे. समापन सत्र में मुख्य अतिथि महापौर आलोक शर्मा जी थे और अध्यक्षता राजीव गां ...

Read more

विश्व में भारत जैसा सर्वधर्म समभाव कहीं नहीं है – डॉ.  कृष्णगोपाल जी

नई दिल्ली (इंविसंकें). इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय एवं प्रज्ञा प्रवाह के संयुक्त तत्वाधान में दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन किया गया. जिसका मुख्य विषय “भारत में समावेशीकरण का राष्ट्रीय विमर्श” रहा. इस विषय पर कार्यक्रम के मुख्य वक्ता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्णगोपाल जी ने कहा कि ये विषय अपने आप में बेहद बृहद है. आज के सन्दर्भ में ये विषय बेहद ही आवश्यक है जो समाज ...

Read more

भारत के विरुद्ध चल रहे षड्यंत्रों का प्रतिकार करने के लिए सोशल मीडिया एक सशक्त माध्यम

जयपुर (विसंकें). 'वैल्यू मस्ट, नेशन फर्स्ट' टैग लाइन के साथ टीम Weapon द्वारा एक दिवसीय "सोशल मीडिया कॉन्क्लेव" का आयोजन रविवार 01 जुलाई को अग्रवाल पीजी कॉलेज जयपुर में किया गया. इसमें देश के प्रतिष्ठित रक्षा विशेषज्ञ, लेखक, पत्रकार, समाजसेवी, तकनीक विशेषज्ञ एवं सोशल मीडिया के जाने-माने चेहरे एवं प्रबुद्धजनों ने भाग लिया. आयोजन का मुख्य उद्देश्य रहा कि सोशल मीडिया पर अफवाहों की बजाय गंभीर कंटेंट आए तथा इस स ...

Read more

‘सेवा हो पत्रकारिता का लक्ष्य’ – जे. नंदकुमार जी

भोपाल (विसंकें). प्रज्ञा प्रवाह के राष्ट्रीय संयोजक व केसरी समाचार पत्र के पूर्व संपादक जे. नंदकुमार जी ने कहा कि पत्रकारिता के लक्ष्य को स्पष्ट करते हुए महात्मा गाँधीजी ने अपने समाचार पत्र में लिखा था कि पत्रकारिता का लक्ष्य सेवा होना चाहिए. पत्रकारिता समाज को दिशा देने वाली और सृजन करने वाली शक्ति है. महात्मा गाँधी, महर्षि अरविन्द और डॉ. भीमराव आम्बेडकर ने पत्रकारिता के जिन मूल्यों को स्थापित किया है, आज ...

Read more

सम्पूर्ण समाज संगठित, समरस, समभाव होकर मानवता की उन्नति के लिए कार्य करे – रामाशीष सिंह जी

गोरखपुर (विसंकें). प्रज्ञा प्रवाह के क्षेत्र संगठन मंत्री रामाशीष सिंह जी ने कहा कि मकर संक्रांति के दौरान सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है. इसके बाद से दिन बड़े होने शुरू हो जाते हैं. समाज से धुंध, अंधकार छंटने लगता है. ये नकारात्मकता पर सकारात्मकता की विजय का पर्व है. इसीलिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की ओर से सहभोज के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं, जिससे समाज में व्याप्त छुआछूत, भेदभाव जैसी बुर ...

Read more

हमें देश विरोध की किसी घटना पर खामोश नहीं रहना चाहिए – जे. नंदकुमार जी

नई दिल्ली (इंविसंकें). “कलम खामोश क्यों” विषय पर विश्व पुस्तक मेले में परिचर्चा आयोजित की गई. प्रगति मैदान में विश्व पुस्तक मेले के चौथे दिन प्रेरणा मीडिया एवं राष्ट्रीय पुस्तक न्यास के संयुक्त तत्वाधान में राष्ट्रीय साहित्य संगम में रखी गयी परिचर्चा में प्रज्ञा प्रवाह के संयोजक जे. नंदकुमार जी, वरिष्ठ टी.वी पत्रकार चन्द्र प्रकाश जी, आर्गनाइजर के संपादक प्रफुल्ल केतकर जी, दिल्ली विश्वविद्यालय की सहायक प्रोफ ...

Read more

भारत में राष्ट्र की अवधारणा विशिष्ट व अद्भुत है – डॉ. कृष्ण गोपाल जी

भारत में राष्ट्र की भावना लोक मंगलकारी है यानि सभी प्राणियों के कल्याण की भावना पुणे (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल जी ने कहा कि भारत के पूरे साहित्य में भारत का वर्णन है. इसमें वैश्विक भावना तो है, लेकिन यह विचार जहां से आया है उसके प्रति भक्ति भी है. वैश्विक होते हुए भी हम भारतीय हैं, यह अद्वितीय समन्वय है. वैदिक काल से लेकर देश की शिक्षा संस्कृति और उससे विकसित भारतीय ...

Read more

Sign Up for Our Newsletter

Subscribe now to get notified about VSK Bharat Latest News

Scroll to top