You Are Here: Home » Posts tagged "मोरेश्वर जोशी"

बिशप लिब्बी के आने से तेज होगी चर्च की मतांतरण की मुहिम

सत्रह दिसम्बर, 2014 को चर्च ऑफ इंग्लैंड ने लिब्बी लेन नामक महिला की पहली बार बिशप के तौर पर नियुक्ति की है. पहली नजर में यह विषय महिलाओं को अपनी योग्यता दिखाने का अवसर देने जैसा प्रतीत होगा, लेकिन पूरी दुनिया में ईसाईकरण का जो नया अतिव्यापक स्वरूप जारी है, उसे इससे नई गति मिलेगी, इसमें संदेह नहीं है. ईसाईकरण में लाई गई यह नई गति केवल पिछली पांच सदियों के सतत प्रयासों का हिस्सा है. जहां-जहां इस तेजी से ईसाईक ...

Read more

यूरोपीय इतिहास के विरोध में विश्व संगठित हो

इक्कीसवीं सदी तक विज्ञान का विकास सूचना तकनीक, जैव विज्ञान और नैनोविज्ञान तक आ चुका है, लेकिन आज भी विश्व का इतिहास 'वंशवाद' नामक दकियानूसी सिद्धांत पर ही निर्भर है. विश्व का विभाजन आज भी 'वंश सिद्घांत’ पर ही आधारित है. यह सिद्धांत कहता है कि आज के विश्व का विस्तार नोहा की कहानी के आधार पर तुर्किस्तान के अरावत पर्वत से हुआ है़, यह कहानी जेनेसिस में है. उसी को आधार मानकर आज विश्व के 80 प्रतिशत देशों की पाठशा ...

Read more

ईसाइयत की आंधी और पश्चिमी देशों की थानेदारी

पिछले कुछ समय से किसी भी महासत्ता की कसौटी इस बात पर निर्भर होती आ रही है कि विश्व के अन्य देशों पर उसका किस सीमा तक नियंत्रण है. व्यापार,औद्योगिक कारोबार, विज्ञान-तकनीक, खेती जैसे हर क्षेत्र में नियंत्रण का पैमाना मापा जाता है. उसी से उन महासत्ताओं की अन्य देशों पर थानेदारी की सीमा और क्षमता स्पष्ट हो जाती है. पिछले 100 वर्ष में ही जिन देशों के महासत्ता होने का आभास हो रहा था, वैसे तत्कालीन सोवियत संघ और आ ...

Read more

भारत-तोड़ो जमात के प्यादे

बीसवीं और इक्कीसवीं सदी विकसित विज्ञान की सदी मानी जाती है. सूचना तकनीक, जैविक तकनीक और नैनो तकनीक का इतना विस्तार हुआ है कि आज तक के विज्ञान के पूरे विकास को पीछे धकेलते हुए विकास के नये आयाम हमारे सामने आये हैं. माना जाता था कि विज्ञान का विकास अथवा नये आयाम औद्योगिक उत्पादन में वृद्धि, औषधि उत्पादन जैसे क्षेत्रों तक सीमित होंगे. लेकिन ऐसा नहीं है,यह प्रयोग तो कुछ मनुष्यों के दिमाग के साथ भी चल रहा है. नई ...

Read more

चीन में मतांतरण पर सख्ती से चर्च में खलबली

आज अमेरिका में ईसाइयों की जितनी संख्या है, उतने ही ईसाई पंद्रह वर्ष बाद चीन में होंगे. यह घोषणा एक चीनी ईसाई मिशनरी ने की है और अमेरिका के परडू विश्वविद्यालय के समाजशास्त्र के प्रोफेसर ने उसके कहे का समर्थन भी किया है. इसलिये फिलहाल चीन में अल्पसंख्यकों के मामले में अघोषित आपातकाल जारी है. समझा जाता था कि विदेशों से नाता रखने वाले जिहादियों एवं चर्च के तत्वों से इस तरह के अल्पसंख्यकों से संबंधित विषयों से न ...

Read more

संस्कृति पर आघात – साजिश के केन्द्र में ‘येल’

अभी कुछ दिन पहले तक केंद्र में जो सरकार थी वह ऐसे लोगों के समर्थन पर टिकी थी जो आतंकवादियों का कई अवसरों पर समर्थन करते दिखते थे. इसलिये आतंकवादियों को नियंत्रित करने का मनोबल ही उस सरकार के पास नहीं था,लेकिन अब मोदी सरकार के आने के बाद सिर्फ सरकारी कामकाज में ही बदलाव नहीं आया है,बल्कि सरकार को अपना वोट देने वाले मतदाताओं को भी सत्ता पक्ष से आशायें जगी हैं. इस देश में जो आतंकवादी एकजुट होकर यहां युद्घ जैसी ...

Read more
Scroll to top