You Are Here: Home » Posts tagged "विद्यार्थी परिषद"

देशभर से हज़ारों विद्यार्थी 11 नवम्बर को तिरुवनंतपुरम में वामपंथी हिंसा के विरुद्ध आवाज़ उठाएंगे – अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद

- केरल में कम्युनिस्ट पार्टी द्वारा लगातार एबीवीपी और संघ के कार्यकर्ताओं पर हो रही हिंसा के विरुद्ध एबीवीपी ने 11 नवम्बर को केरल की राजधानी में एक महारैली "चलो केरल" का आह्वान किया है - एबीवीपी अपने शहीद कार्यकर्ताओं के लिए न्याय की मांग करती है और वामपंथी गुंडों द्वारा हो रही हिंसा पर कार्यवाही की मांग करती है नई दिल्ली. दिल्ली स्थित प्रेस क्लब में एबीवीपी द्वारा आयोजित प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए रा ...

Read more

केरल में जारी हिंसा से लोकतंत्र का गला घोंट रहे वामपंथी – श्रीनिवास जी

शिमला (विसंकें). अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री श्रीनिवास जी ने कहा कि केरल में लगातार हो रही राजनीतिक हिंसा से लोकतंत्र की हत्या हो रही है. केरल के वामपंथी अब तक 200 से अधिक लोगों को जिंदगियों की बलि ले चुके है और यह सारा खेल राजनीतिक संरक्षण में हो रहा है. श्रीनिवास जी हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में एबीवीपी द्वारा आयोजित संगोष्ठी में संबोधित कर रहे थे. सोमवार को विश्वविद्यालय क ...

Read more

विदेशी संगठन भी विद्यार्थी परिषद के संस्कारों से ले रहे प्रेरणा – डॉ. नागेश ठाकुर जी

लखनऊ (विसंकें). अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की राष्ट्रीय कार्यकारी परिषद की बैठक का उद्घाटन सोमवार को बक्सी का तलाब स्थित एसआर कॉलेज में राष्ट्रीय अध्यक्षय डॉ. नागेश ठाकुर, महामंत्री विनय बिद्रे, राष्ट्रीय संगठन महामंत्री सुनील आम्बेकर जी ने किया. डॉ. नागेश ठाकुर जी ने कहा कि शिक्षा, सामजिक कुरितियों, अन्याय के निराकरण हेतु लोग परिषद की ओर आशा भरी नजरों से देख रहे हैं. संगठन की 70 वर्ष की विचार यात्रा में ...

Read more

छात्र शक्ति को सीमित संसाधनों को ध्यान में रख अपनी भूमिका तय करनी होगी – दत्तात्रेय होसबले जी

नई दिल्ली (इंविसंके). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबले जी ने कहा कि सक्रांति को परिवर्तन का काल माना जाता है, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् की पत्रिका का यह विशेषांक स्वामी विवेकानन्द जी को केंद्र में रखकर मकर सक्रांति के शुभ अवसर पर लोकार्पित हुआ है. छात्र शक्ति को एक परिवर्तनकारी समूह बनाकर, अंधकार से प्रकाश की ओर ले जाने की प्रेरणा यह विशेषांक देता है. वह अखिल भारतीय विद्यार्थी ...

Read more

आचार्य गिरिराज किशोर: श्रीराम के कार्य को समर्पित व्यक्तित्व

विश्व हिन्दू परिषद के मार्गदर्शक आचार्य गिरिराज किशोर का जीवन बहुआयामी था. उनका जन्म 4 फरवरी, 1920 को एटा, उ.प्र. के मिसौली गांव में श्री श्यामलाल एवं श्रीमती अयोध्यादेवी के घर में मंझले पुत्र के रूप में हुआ. हाथरस और अलीगढ़ के बाद उन्होंने आगरा से इंटर की परीक्षा उत्तीर्ण की. आगरा में श्री दीनदयाल जी और श्री भव जुगादे के माध्यम से वे स्वयंसेवक बने और फिर उन्होंने संघ के लिये ही जीवन समर्पित कर दिया. प्रचार ...

Read more
Scroll to top