You Are Here: Home » Posts tagged "विश्व पुस्तक मेला"

पत्रकारिता और साहित्य का अन्योन्याश्रित संबंध

नई दिल्ली (इंविसंकें). विश्व पुस्तक मेले में “साहित्य और पत्रकारिता, कितने दूर कितने पास” विषय पर लेखक मंच में परिचर्चा की गयी. परिचर्चा में वरिष्ठ पत्रकार एवं समीक्षक अनंत विजय जी, चर्चित व्यंग्यकार डॉ. आलोक पुराणिक जी, प्रसिद्ध लेखक राजीव रंजन प्रसाद जी तथा राष्ट्रीय पुस्तक न्यास की निदेशक रीता चौधरी जी ने पत्रकारिता में साहित्य के महत्व पर चर्चा की. विषय वस्तु प्रस्तुतीकरण व मंच संचालन अनुराग पुनेठा जी न ...

Read more

स्वामी विवेकानंद की जयंती पर विश्व पुस्तक मेले में ई-जर्नलिज़म पर परिचर्चा

नई दिल्ली (इंविसंकें). दिल्‍ली के प्रगति मैदान में चल रहे विश्व पुस्तक मेले में प्रबुद्ध चर्चाओं का दौर जारी है. स्वामी विवेकानंद की जयंती पर विश्व पुस्तक मेले के साहित्य मंच पर युवा की ई-मैगज़ीन "कैम्पस क्रौनिकल" और राष्ट्रीय पुस्तक न्यास के संयुक्त प्रयास से भारत में पाठन व्यवहार के बदलते स्वरूप और ई-जर्नलिज़म के विकास पर चर्चा का आयोजन किया गया. चर्चा में नवभारत टाइम्स के डिप्टी ऑनलाईन एडिटर प्रभाश झा जी ...

Read more

पहले भारत की चिंता करें, फिर अपनी – बलदेव भाई शर्मा

नई दिल्ली (इंविसंकें). विश्व पुस्तक मेले में इन्द्रप्रस्थ विश्व संवाद केंद्र एवं नेशनल बुक ट्रस्ट के संयुक्त तत्वाधान में “संकेत रेखा” पुस्तक का विमोचन किया गया. भारतीय मजदूर संघ के संस्थापक दत्तोपंत ठेंगड़ी जी के भाषणों के संग्रह पर आधारित भानुप्रताप शुक्ल लिखित इस पुस्तक का पुनः प्रकाशन श्री भारती प्रकाशन नागपुर ने किया है. पुस्तक विमोचन के मौके पर दत्तोपंत ठेंगड़ी जी के लम्बे समय तक सहयोगी रहे भारतीय मजद ...

Read more

हमें देश विरोध की किसी घटना पर खामोश नहीं रहना चाहिए – जे. नंदकुमार जी

नई दिल्ली (इंविसंकें). “कलम खामोश क्यों” विषय पर विश्व पुस्तक मेले में परिचर्चा आयोजित की गई. प्रगति मैदान में विश्व पुस्तक मेले के चौथे दिन प्रेरणा मीडिया एवं राष्ट्रीय पुस्तक न्यास के संयुक्त तत्वाधान में राष्ट्रीय साहित्य संगम में रखी गयी परिचर्चा में प्रज्ञा प्रवाह के संयोजक जे. नंदकुमार जी, वरिष्ठ टी.वी पत्रकार चन्द्र प्रकाश जी, आर्गनाइजर के संपादक प्रफुल्ल केतकर जी, दिल्ली विश्वविद्यालय की सहायक प्रोफ ...

Read more
Scroll to top