You Are Here: Home » Posts tagged "स्वदेशी जागरण मंच"

तात्कालिक हित नहीं, शाश्वत हित में है राष्ट्रहित – डॉ. मोहन भागवत जी

नई दिल्ली. भारतीय मजदूर संघ के संस्थापक दत्तोपंत ठेंगड़ी जी की स्मृति में स्वदेशी जागरण मंच द्वारा डॉ. भीमराव अंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर में व्याख्यानमाला का आयोजन किया गया. व्याख्यानमाला में मुख्य वक्ता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि दत्तोपंत ठेंगड़ी जी का व्यापक व्यक्तित्व होते हुए भी हर छोटा बड़ा कार्यकर्ता उनसे निःसंकोच अपनी बात कह पाता था. हमको यह देखना पड़ेगा कि विचारों के ...

Read more

एमएसएमई परिभाषा में बदलाव – लघु उद्योगों पर संकट

नई दिल्ली. भारत में लघु उद्योग जीडीपी ग्रोथ, रोजगार, निर्यात और विकेन्द्रीकरण में महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन कर रहे हैं. भूमंडलीकरण, खुले आयातों की नीति के कारण, चीनी माल की बाढ़ के कारण उत्पन्न असमान प्रतिस्पर्धा, कानूनों के जंजाल के कारण व्यवसाय में असुविधा के पूर्णतया अभाव और विपणन, वित्तीय और तकनीकी सहयोग के पूर्णतया अभाव के बावजूद भी लघु उद्यम किसी प्रकार से अपने अस्तित्व को बचाने के लिए निरंतर संघर्ष ...

Read more

देशी गाय को घर से जोड़ें, और रसायनमुक्त खेती करें – कश्मीरी लाल जी

नई दिल्ली. स्वदेशी जागरण मंच यमुना विहार विभाग व पूर्वी विभाग द्वारा भारतीय व्यापार व स्वदेशी वस्तुओं को पुर्नजीवित करने तथा विदेशी कंपनी वालमार्ट द्वारा स्वदेशी कम्पनी फ्लिपकार्ट को खरीदने, चीन, अमेरिका सहित अन्य देशों की विदेशी कम्पनियों द्वारा भारतीय उद्योगों को चौपट कर भारतीय अर्थव्यवस्था को प्रभावित करने के विषय पर जोहरीपुर गांव, आर्य गीता स्कूल कृष्णा नगर में स्वदेशी महासम्मेलन का आयोजन किया गया. इस अ ...

Read more

स्वदेशी को अपनाना ही हमारा लक्ष्य होना चाहिए – कश्मीरी लाल जी

नई दिल्ली. स्वदेशी जागरण मंच के राष्ट्रीय संगठक कश्मीरी लाल जी ने कहा कि स्वदेशी को अपनाना ही हमारा लक्ष्य होना चाहिए. देश को मजबूत बनाने के लिए हमें चीन द्वारा बनाए जा रहे उत्पादों की जगह स्वदेशी उत्पादों पर जोर देना चाहिए. यह हमारे कार्यक्रमों व संकल्प से ही होगा. पूरे विश्व में चीन ने व्यापार अतिक्रमण नीति अपनाई है. जिसके कारण ख़राब उत्पाद विश्व के कई देशों के साथ- साथ भारत में भी भेज रहा है, नतीजन स्थानी ...

Read more

चीन, भारत के ‘पंचशील’ का उत्तर ‘‘पंच शूल’’ के रूप में दे रहा है – कश्मीरी लाल जी

नई दिल्ली. चीन भारत के ‘पंचशील’ का उत्तर ‘‘पंच शूल’’ के रूप में दे रहा है. आर्थिक-सामरिक-पर्यावरणीय बेरोजगारी तथा मानवता के लिए संकट रूपी इन पांच शूलों से उत्पन्न खतरों के प्रति जनता को जागरूक करने के लिए स्वदेशी जागरण मंच ने इस वर्ष दिनांक 12 जनवरी से ‘‘राष्ट्रीय स्वदेशी सुरक्षा अभियान’’ प्रारम्भ किया है. इस अभियान के अन्तर्गत देश में चीनी माल के बहिष्कार हेतु 01 करोड़ से अधिक नागरिकों ने अभियान के संकल्प प ...

Read more

स्वदेशी जागरण मंच, प्रस्ताव – दो … चीनी प्रभाव से मुक्त हो भारत

स्वदेशी जागरण मंच की 20, 21 मई को गुवाहाटी (असम) में आयोजित राष्ट्रीय परिषद की दो दिवसीय बैठक में पारित प्रस्ताव चीनी प्रभाव से मुक्त हो भारत - स्वदेशी जागरण मंच बार-बार मांग करता रहा है कि चीन हमारी अर्थव्यवस्था, हमारे युवाओं के रोजगार, हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा और राष्ट्रीय अखंडता के लिए सबसे बड़ा खतरा है. वर्ष 1996-97 के बाद के पिछले 19 वर्षों में चीन से आयात 78 गुणा बढ़ चुका है और यह हमारे घरेलू विनिर्माण क ...

Read more

अर्थव्यवस्था पर स्वदेशी जागरण मंच का विमर्श

नई दिल्ली. स्वदेशी जागरण मंच की दिल्ली इकाई का प्रांतीय सम्मेलन 8 जून को स्टार बैंक्वट हॉल (कश्मीरी गेट) में संपन्न हुआ. इस सम्मेलन में वर्तमान आर्थिक चुनौतियों पर विभिन्न वक्ताओं ने अपने विचार प्रकट किये. साथ ही, दिल्ली प्रदेश के संयोजक श्री गोविन्दराम अग्रवाल ने स्वदेशी जागरण मंच की सक्रियता पर जोर दिया. सम्मेलन में पर्यावरण, जी.एम. फूड, जीवन में स्वदेशी आदि विषयों पर चर्चा की गई. जिसमें डा. अश्वनी महाजन ...

Read more

नहीं रहे फादर थॉमस कोचरी

तिरुवनंतपुरम. स्वदेशी वस्तुओं के पक्षधर रहे 74 वर्षीय फादर थॉमस कोचरी का  3 मई को तिरुवनंतपुरम में देहांत हो गया. थॉमस कोचरी ने दक्षिण भारत में स्वदेशी जागरण मंच के साथ मिलकर अनेक आंदोलनों में अग्रणी भूमिका निभाई थी. उन्होंने लोगों को स्वदेशी वस्तुओं के प्रति जगाया. 1991 में भारत सरकार ने समुद्र में मछली पकड़ने के लिये विदेशी जहाजों को अनुमति दी थी. इसका उन्होंने पुरजोर विरोध किया था जिसके चलते सरकार को अपना ...

Read more

जीएम फसलों पर स्वदेशी जागरण मंच आंदोलन की राह पर

स्वदेशी जागरण मंच के राष्ट्रीय संगठक श्री कश्मीरी लाल ने गत 22 अप्रैल को देहरादून में विश्व संवाद केन्द्र में पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए कहा कि स्वदेशी जागरण मंच 28 फरवरी को जैव रूपान्तरित (जीएम) फसलों के जमीनी परीक्षण की अनुमति देने के केन्द्र सरकार के निर्णय का कड़ा विरोध करता है. पर्यावरण मंत्री वीरप्पा मोइली द्वारा अतिरिक्त हड़बड़ी में लिया गया यह निर्णय वनस्पति, जीव व पर्यावरण के लिये अत्यंत घातक ह ...

Read more
Scroll to top