You Are Here: Home » Posts tagged "RSS"

आस्तीन के साँपों को पहचान कर कुचलना होगा

नई दिल्ली. पुलवामा(कश्मीर) के अमर शहीदों को श्रद्धांजलि देने तथा आतंकी पाकिस्तान के विरुद्ध रोष प्रकट करने हेतु दक्षिणी दिल्ली के लाजपत नगर मेट्रो स्टेशन से सेंट्रल मार्केट तक दीप यात्रा निकाली गई. दीपयात्रा के समापन पर विश्व हिन्दू परिषद के राष्ट्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल ने कहा कि माँ भारती के वीर सपूत तो अमर हो गए, किन्तु हम सब के लिए बहुत सारे प्रश्न खड़े कर गए कि आखिर हमारे ही देश में इस्लामिक जिहाद के ना ...

Read more

संघ ने पुलवामा आतंकी हमले की निंदा की

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले की निंदा की. संघ ने आशा व्यक्त की कि केंद्र की सरकार हमले के प्रत्युत्तर में कड़ा कदम उठाएगी. जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के जवानों पर हुए कायराना आतंकी हमले की हम घोर निंदा करते हैं. आतंकवाद पर कसते हुए शिकंजे की बौखलाहट और निराशा ही इस घटना से साफ दिखाई देती है. सरकार इस घटना के दोषियों पर शीघ्र कड़ी से कड ...

Read more

बराक घाटी में हिन्दुओं के घरों में आग लगाई, मंदिर की मूर्तियां तोड़ीं

असम की बराक घाटी के करीमगंज जिला के तहत दोहलिया पार्ट एक में कुछ हिन्दू परिवारों के घरों को जिहादी तत्वों द्वारा जला दिया गया और स्थानीय मंदिर में तोड़फोड़ कर मूर्तियों को नष्ट कर दिया गया. जिसके बाद क्षेत्र में हालात काफी तनावपूर्ण हो गए हैं. प्रशासन ने स्थिति को देखते हुए सुरक्षा बल को तैनात कर दिया है. घटना को स्थानीय लोग पिछले सप्ताह 05 फरवरी को पथरकांदी मॉडल हायर सेकेंडरी स्कूल के अरबी शिक्षक मौलाना मह ...

Read more

समुत्कर्ष का प्रतिभा सम्मान समारोह

जबलपुर (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रांत प्रचारक श्रीरंग राजे ने कहा कि सफलता किसी की मोहताज नहीं होती. परिश्रम से आगे बढ़ने वालों को कोई भी बाधा रोक नहीं सकती. ऐसे कई उदाहरण मौजूद हैं, जहां एक व्यक्ति की सकारात्मक सोच एवं दृढ़ इच्छाशक्ति ने दुनिया को झुका दिया. अगर हौंसले बुलंद हों और दिल में मंजिल पाने की चाहत हो तो कोई भी परिस्थिति इंसान को रोक नहीं सकती. आज मुझे बहुत खुशी है कि समुत्कर्ष के छा ...

Read more

संघ समता युक्त-शोषण मुक्त समाज एवं अहंकार व स्वार्थ मुक्त व्यवस्था बनाने में लगा है – डॉ. मोहन भागवत

देहरादून (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि संघ संस्थापक डॉ. हेडगेवार जी जन्मजात देशभक्त थे. उनको लगा कि हमारे समाज का परिवर्तन या देश को स्वतन्त्रता सिर्फ सरकारों या नारों के माध्यम से नहीं मिलेगी तथा स्वतन्त्रता का लाभ तभी मिलेगा, जब हमारा समाज एकजुट होगा. इस उद्देश्य को लेकर उन्होंने सन् 1925 में संघ की स्थापना की और शाखा के माध्यम से व्यक्ति निर्माण व समाज सेवा क ...

Read more

समस्त जीवों को पानी उपलब्ध हो, यह उनका अधिकार है – भय्याजी जोशी

देवगिरी (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह भय्याजी जोशी ने कहा कि भविष्य में भारत को यदि सुजलाम सुफलाम करना है तो दूरदृष्टि रखते हुए उसके लिए पर्याय, उपाय आदि करने के लिए समाज को आगे आना होगा. भगीरथ के अनुरूप ही अपने कार्य को सफलता मिलने तक जिद्दी प्रवृत्ति के साथ उस कार्य को निरंतर प्रारंभ रखना चाहिए. यश सफलता हमारे हाथ में है. सरकार्यवाह महात्मा फुले कृषि प्रतिष्ठान औरंगाबाद व कवयित्री बहिणा ...

Read more

महात्मा गांधी की हत्या और कुछ अनुत्तरित प्रश्न

हर साल, 30 जनवरी को हिन्दू राष्ट्रवाद पर टिप्पणी करना कांग्रेस और कम्युनिस्ट ब्रिगेड की आदत का हिस्सा है. 30 जनवरी, 1948 को महात्मा गांधी की हत्या कर दी गई थी. उनकी मृत्यु के कुछ महीने पहले भारत ने राजनीतिक स्वतंत्रता प्राप्त की थी और स्वतंत्रता से कुछ घंटे पहले भारत का विभाजन हुआ था. विभाजन मुस्लिम लीग के आक्रामक रुख, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के कमजोर नेतृत्व, भारत को दयनीय स्थिति में छोड़ जाने की ब्रिटिश ...

Read more

स्वामी स्वरूपानन्द जी का कांग्रेसी स्वरूप

द्वारकापीठ के शंकराचार्य श्रद्धेय स्वामी स्वरूपानन्द जी सरस्वती ने अपने कुछ संतों की एक परमधर्म संसद में घोषणा कर दी है कि वे 21 फरवरी को अयोध्या में जाकर 04 ईंटों की पूजा करके श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर का निर्माण प्रारम्भ कर देंगे. स्वामी जी का यह ऐलान जहां एक ओर हिन्दू समाज की मंदिर निर्माण के प्रति जिज्ञासा को दर्शाता है, वहीं यह गत 490 वर्षों से मंदिर के पुर्ननिर्माण के लिए संघर्षरत हिन्दू समाज में फूट ...

Read more

शबरीमला आंदोलन समाज का संघर्ष है – डॉ. मोहन भागवत

धर्म संसद अधिवेशन, प्रयागराज प्रयागराज. धर्म संसद जगद्गुरू स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती जी महाराज की अध्यक्षता में प्रारंभ हुई, जिसमें देश भर के पूज्य संतों की उपस्थिति में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि शबरीमाला समाज का संघर्ष है. वामपंथी सरकार न्यायपालिका के आदेशों के परे जा रही है. वे छलपूर्वक कुछ ग़ैर श्रद्धालुओं को मंदिर के अंदर ले गए हैं, जो अय्यप्पा भक्त हैं उनका दमन क ...

Read more

विश्व की सभी चुनौतियों से मुकाबला करने का सूत्र भारतीय संस्कृति में है

सर्वसमावेशी सांस्कृतिक कुम्भ प्रयागराज. विभिन्न मत, पंथ, सम्प्रदाय के विभिन्न प्रान्तों से पधारे भारत के हजारों पूज्य संत गंगा पण्डाल में एकत्रित हुए. जहाँ ‘एक सद्रविप्रा बहुधा वदन्ति’ ध्येय वाक्य पर पूज्य सन्तों ने अपने विचार रखे. कार्यक्रम का शुभारम्भ दीप प्रज्ज्वलन, गणेश वन्दना, हरिभजन से हुआ. सभी मत, पंथ, सम्प्रदाय के पूज्य सन्तों के वचनों की एक सुन्दर प्रदर्शनी लगाई गई थी, जिसका उद्घाटन सुबह 10 बजे हुआ ...

Read more
Scroll to top