उत्तर प्रदेश में मदरसे से मिले हथियार व जिंदा कारतूस, मदरसा संचालक मोहम्मद साजिद सहित 6 गिरफ्तार Reviewed by Momizat on . उत्तर प्रदेश के बिजनौर में एक मदरसे पर पुलिस की छापेमारी में पुलिस ने मदरसे से अवैध हथियार और जिंदा कारतूस बरामद किए हैं. जिसके बाद पुलिस ने मदरसा संचालक सहित 6 उत्तर प्रदेश के बिजनौर में एक मदरसे पर पुलिस की छापेमारी में पुलिस ने मदरसे से अवैध हथियार और जिंदा कारतूस बरामद किए हैं. जिसके बाद पुलिस ने मदरसा संचालक सहित 6 Rating: 0
    You Are Here: Home » उत्तर प्रदेश में मदरसे से मिले हथियार व जिंदा कारतूस, मदरसा संचालक मोहम्मद साजिद सहित 6 गिरफ्तार

    उत्तर प्रदेश में मदरसे से मिले हथियार व जिंदा कारतूस, मदरसा संचालक मोहम्मद साजिद सहित 6 गिरफ्तार

    उत्तर प्रदेश के बिजनौर में एक मदरसे पर पुलिस की छापेमारी में पुलिस ने मदरसे से अवैध हथियार और जिंदा कारतूस बरामद किए हैं. जिसके बाद पुलिस ने मदरसा संचालक सहित 6 को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी है. मदरसे में 25 बच्चे पढ़ते हैं. मदरसे से हथियारों की आपूर्ति का खुलास होने के पश्चात पुलिस के भी होश उड़े हुए हैं. पुलिस ने हथियारों की सप्लाई में उपयोग होने वाली स्विफ्ट डिजायर कार भी जब्त की है, जिस पर ‘शिवसेना’ लिखा है. मदरसे में हिकमत (हकीम द्वारा दवा देने) की आड़ में हथियार सप्लाई किए जाते थे.

    मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, सभी आरोपितों से पूछताछ की जा रही है. सीओ अफजलगढ़ कृपाशंकर कनौजिया ने बुधवार (जुलाई 10, 2019) को पुलिस टीम के साथ शेरकोट में कंदला रोड स्थित मदरसा दारुल कुरान हमीद में छापेमारी की थी. मदरसे से 36 बोर का एक पिस्टल व आठ कारतूस, 315 बोर के तीन तमंचे व 32 कारतूस, 32 बोर का एक रिवॉल्वर व 16 कारतूस बरामद हुए.

    पुलिस ने मदरसे से स्योहारा के मोहल्ला शेखान निवासी फईम अहमद, शेरकोट निवासी साजिद, धामपुर के मोहल्ला अफगान निवासी जफर इस्लाम, अफजलगढ़ के गांव फतेहपुर जमाल निवासी सिकंदर अली, बिहार निवासी साबिर व शेरकोट निवासी अजीजुर्रहमान को पकड़ा है.

    इसके बाद पुलिस ने मोहल्ला नोंदला में आरिफ के मकान में छापा मारा. पुलिस का कहना है कि आरिफ तांत्रिक का काम भी करता है. बताया गया है कि मदरसे में एक सेफ में दवाइयों के डिब्बे रखे थे, इन्हीं में से हथियार मिले हैं. सीओ कृपा शंकर कनौजिया का कहना है कि पुलिस को सूचना मिली थी कि मदरसे में कुछ बाहरी लोगों का आना जाना है, इसी आधार पर छापेमारी की गई.

    पुलिस आरोपियों से पूछताछ में जुटी है. पुलिस के अनुसार, मदरसे में हिकमत का काम होता है. माना जा रहा है कि हथियार खरीदने वाले ग्राहक मरीज बनकर ही मदरसे में आते थे. हिकमत की आड़ में हथियार बेचने व सप्लाई करने का काम मदरसे से किया जा रहा था. किसी को शक भी नहीं होता था कि दवाई लेने के नाम पर मदरसे में आया व्यक्ति हथियार लेकर जा रहा है. साजिद मदरसे का संचालक बताया जाता है.

    मदरसे से पकड़ा गया साबिर बिहार का रहने वाला है. पुलिस का मानना है कि वह बिहार से हथियार लाकर सप्लाई करता था, किसी को शक न हो इसलिए गाड़ी पर शिवसेना लिख रखा था. मदरसे में पकड़े गए आरोपितों का पुराना आपराधिक इतिहास भी बताया जा रहा है. पुलिस का मानना है कि एक आरोपित आगरा में हुई लूट में भी वांछित है. एक अन्य आरोपी देहरादून में एक व्यक्ति की गला काटकर हत्या करने का दोषी है. पुलिस का मानना है कि वारदातों को अंजाम देने के बाद सभी आरोपी मदरसे में आकर छिप जाते थे.

    About The Author

    Number of Entries : 5501

    Leave a Comment

    हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

    VSK Bharat नवीनतम समाचार के बारे में सूचित करने के लिए अभी सदस्यता लें

    Scroll to top