करंट टॉपिक्स

कोरोना संकट – सुरक्षा व स्वास्थ्य कर्मियों पर हमलों का क्रम नहीं रुक रहा, लॉकडाउन का उल्लंघन भी जारी

Spread the love

नई दिल्ली. वैश्विक महामारी के दौर में हम आप तक सकारात्मक समाचारों को पहुंचा रहे हैं. इसके साथ ही महामारी के खिलाफ जंग में बाधा उत्पन्न करने वालों की जानकारी भी आप तक पहुंचाने का प्रयास कर रहे है, जिससे आप समझ सकें कि इस संकट के दौर में कौन देश के साथ है, और कौन देश के खिलाफ? अपनी जान को खतरे में डाल हमारी सेवा में जुटे कोरोना योद्धाओं पर हमला करने वाले कैसे हमारे साथ हो सकते हैं? निर्देशों के बावजूद लॉकडाउन का सरेआम उल्लंघन कर रहे हैं,  तीन दिनों के दौरान कोरोना योद्धाओं पर हमले व लॉकडाउन के उल्लंघन की अनेक घटनाएं सामने आई हैं.

कर्नाटक – कोलार में लॉकडाउन के बावजूद मस्जिद में सामूहिक नमाज

कर्नाटक के कोलार जिले के डोड्डापेट बाजार की एक मस्जिद में शनिवार को कुछ लोग लॉकडाउन के नियमों की अनदेखी करते हुए नमाज अदा करने के लिए जुट गए. इस बात की जानकारी पुलिस प्रशासन को हुई तो तत्काल तहसीलदार पुलिस टीम के साथ मस्जिद में पहुंचे. पुलिस टीम को देख मस्जिद में मौजूद नमाजी भड़क गए. लेकिन पुलिस टीम पहले से ही तैयारी के साथ गई थी.

तहसीलदार ने लॉकडाउन का हवाला देते हुए मस्जिद में मौजूद लोगों को समझाने की कोशिश की और उनसे मस्जिद में आने को लेकर कुछ सवाल जवाब भी किए. इसके बाद पुलिस ने मस्जिद में मौजूद सभी 11 नमाजियों को हिरासत में लिया. और कार्रवाई करते हुए सभी के खिलाफ कोलार सिटी पुलिस स्टेशन में मुकदमा दर्ज किया.

बंगाल – कोरोना संदिग्ध की मौत के बाद अस्पताल में तोड़फोड़

पश्चिम बंगाल के नॉर्थ-24 परगना के कामरहटी इलाके में एक कोरोना संक्रमित मरीज की मौत के बाद उसके परिजनों ने अस्पताल में तोड़फोड़ की. इसके साथ ही लॉकडाउन में सरकार द्वारा तय राशन नहीं मिलने से नाराज लोगों ने मुर्शिदाबाद में राशन डीलर के घर पर भी तोड़फोड़ की.

सागरदत्ता अस्पताल में कोरोना संदिग्ध अख्तर बेगम का इलाज चल रहा था. इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. इस पर मृतका के परिवार व रिश्तेदारों ने अस्पताल और मेडिकल कॉलेज में तोड़फोड़ करने लगे. इतना ही नहीं स्वास्थ्य कर्मियों पर हमला भी किया. अस्पताल में तैनात पुलिसकर्मी स्थिति को नियंत्रित नहीं कर पाए. तब बेलघोरिया पुलिस स्टेशन से भारी संख्या में पुलिस बल को बुलाकर हालात पर काबू पाया गया.

अस्पताल की मेडिकल टीम के अनुसार, रोगी अख्तर बेगम मधुमेह की मरीज थी और अस्पताल आने से पहले ही उनकी स्थिति काफी खराब हो चुकी थी. इसलिए उन्हें बचाया नहीं जा सका. मेडिकल टीम के बयान के अनुसार पुलिस उपद्रवियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई कर रही है.

सहारनपुर – मस्जिद में लॉकडाउन के बाद भी सामूहिक नमाज

यूपी में सहारनपुर के उमाही कला गांव की जकरिया मस्जिद में शनिवार (मई 2, 2020) को बड़ी संख्या में मुस्लिम समुदाय के लोग लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन करते हुए नमाज अदा करने के लिए इकट्ठा हो गए. मस्जिद में सामूहिक नमाज अदा करने की जानकारी मिलने पर जैसे ही पुलिस पहुंची मस्जिद में भगदड़ मच गई. पुलिस ने सक्रियता दिखाते हुए 15 लोगों को मौके से गिरफ्तार कर लिया. इसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए 15 नामजद और 15 अज्ञात मिलाकर 30 लोगों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया.

एसपी विद्यासागर ने बताया कि जिले में सभी को आगाह किया गया है कि कोई भी सामूहिक रूप से मस्जिद में नमाज नहीं पड़ेगा, क्योंकि इससे लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का उल्लंघन होता है. इसके बावजूद एक मस्जिद में सामूहिक नमाज हो रही थी.

कोलकाता – हावड़ा के रेड जोन में भीड़ जुटाकर लॉकडाउन का उल्लंघन

पश्चिम बंगाल में लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन करते हुए ‘शांति रैली’ का आयोजन किया गया. इसमें बड़ी संख्या में तृणमूल कॉन्ग्रेस के नेताओं ने भी हिस्सा लिया. इतना ही नहीं रैली में सोशल डिस्टेंसिंग की सरेआम धज्जियां उड़ाई गई.

हावड़ा शहर के टिकियापाड़ा क्षेत्र में रविवार (3 मई, 2020) को शहर के सहायक पुलिस आयुक्त आलोक दास के नेतृत्व में ‘शांति रैली’ का आयोजन किया गया. इसमें तृणमूल कांग्रेस के नेताओं ने हिस्सा लिया. ये रैली रेड जोन इलाके में निकाली गई. इस ‘शांति रैली’ में पुलिस अधिकारियों व टीएमसी के नेताओं ने सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाई. रैली का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. वीडियो से साफ देखा जा सकता है कि किस तरह से सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों तोड़ा गया है.

पश्चिम बंगाल पुलिस हावड़ा के टिकियापाड़ा में रेड जोन का मजाक बना रही है. अगर संवेदनशील इलाकों में पुलिस इस तरह से लॉकडाउन के नियमों का पालन करा रही है तो आप अंदाजा लगा सकते हैं कि बंगाल के बाकी हिस्सों में क्या हो रहा है.

सरकार पर आंकड़े छिपाने के आरोप लग रहे हैं, 30 अप्रैल तक सरकार ने राज्य में कोरोना मरीजों की संख्या हेल्थ बुलेटिन में 572 बताई थी, जबकि उसी समय केन्द्र सरकार को 931 बताई.

मुजफ्फरनगर में स्वास्थ्यकर्मियों पर हमला करने के आरोप में भीम आर्मी नेता उपकार बाबरा गिरफ्तार

भीम आर्मी के जिला अध्यक्ष उपकार बाबरा को डॉक्टरों के साथ बदसलूकी करने के आरोप में शनिवार (मई 2, 2020) को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया. मुजफ्फरनगर जिला अस्पताल में एक युवक को उपचार के लिये भर्ती कराया गया था. इसी दौरान भीम आर्मी के जिलाध्यक्ष उपकार बाबरा जिला अस्पताल में पहुंचे और उपचार में लापरवाही का आरोप लगाते हुए डॉक्टरों के साथ बदसलूकी करने लगे. इस पर अस्पताल के मेडिकल स्टाफ ने पुलिस को शिकायत दर्ज कराई. जिसके तुरंत बाद कार्रवाई करते हुए पुलिस ने उपकार को गिरफ्तार करके आईपीसी की संबंधित धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया.

ग्रेटर नोएडा – मस्जिद के सामने इफ्तार पार्टी का आयोजन

ग्रेटर नोएडा में शनिवार (मई 2, 2020) को मोहल्ला चौथइया पट्टी में स्थित जामा मस्जिद के सामने पप्पू नाम के एक युवक ने रमजान माह में इफ्तार पार्टी का आयोजन किया. इसके बाद लॉकडाउन के नियमों की अनदेखी करते हुए इफ्तार पार्टी में काफी संख्या में लोग इकट्ठा हुए.

जानकारी मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची. पुलिस ने कार्रवाई करते हुए मौके से इफ्तार पार्टी के आयोजक पप्पू और मौसम नाम के व्यक्ति को करीब शाम 7 बजे गिरफ्तार कर लिया. साथ ही पुलिस ने पूछताछ के बाद इप्तार पार्टी में शामिल होने वाले 19 लोगों के खिलाफ में लॉकडाउन नियमों का उल्लंघन करने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है.

प्रयागराज में पुलिस पर हमला, एंबुलेंस पर भी पथराव

प्रयागराज जिले के लालापुर के बेलामंडी गांव में शनिवार को लॉकडाउन का पालन कराने गई पुलिस टीम पर ग्रामीणों ने हमला किया. गांव में कई लोग बिना मास्क लगाए एक साथ बैठे थे, इस पर पुलिस कर्मी ने माइक से भीड़ लगाकर बैठने से मना किया. लेकिन वो लोग नहीं हटे. दरोगा ने मौके पर पहुंचकर उन्हें समझाने का प्रयास किया तो ग्रामीणों ने दरोगा पर हमला कर दिया. अन्य पुलिस कर्मियों ने बीच-बचाव की कोशिश की तो वहां मौजूद महिलाओं ने पुलिस टीम पर लाठी-डंडे से हमला किया. कई पुलिसकर्मी घायल हुए, किसी तरह पुलिस वहां से जान बचाकर भागी. सूचना मिलने के बाद लालापुर थाने की पुलिस ने तनावपूर्ण स्थिति को नियंत्रित करते हुए हत्या का प्रयास व सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने सहित विभिन्न आरोपों में मुकदमा दर्ज कर छह लोगों को गिरफ्तार किया.

झारखंड में कांग्रेस विधायक उमाशंकर ने पुलिस से की बदसलूकी

लॉकडाउन के चलते झारखंड राज्य के सभी जिलों की सीमाएं सील कर दी गयी हैं. रविवार दोपहर को बरही कांग्रेस विधायक उमाशंकर अकेला इटखोरी के रास्ते अपने क्षेत्र के पथलगड्डा गांव जा रहे थे. तभी उनका वाहन चतरा-हजारीबाग सीमा के पास परसौनी नाका पर पहुंचा. नाका लगा देख विधायक ने ड्यूटी पर तैनात दंडाधिकारी कौशल किशोर से नाका हटाने के लिए कहा. दंडाधिकारी ने कहा कि अधिकारियों का आदेश है कि गाड़ी नंबर की एंट्री करके ही नाका खोला जाए, इसलिए गाड़ी नंबर एंट्री होने तक रूकना पड़ेगा. इस बात से विधायक आपा खो बैठे और दंडाधिकारी को औकात में रहने की हिदायत दी. विधायक ने दंडाधिकारी का मास्क नोंचकर फेंक दिया. लगभग आधे घंटे तक बहस होने के बाद बीडीओ ने मामला शांत कराया.

विधायक अकेला चंदवारा थाना क्षेत्र में वर्ष 2016 में हुए सांप्रदायिक विवाद मामले में आरोपित रहे हैं और इसके लिए उन्हें कोर्ट में आत्म समर्पण करना पड़ा था और जेल भी गए थे.

तबलीगी जमातियों ने अलवर के रैन बसेरे में मचाया हंगामा

तबलीग़ी जमात के 40 लोगों ने रविवार (3 मई, 2020) की रात को अलवर के केदलगंज स्थित शेल्टर होम में उत्पात मचाया. इन सभी को राजस्थान स्वास्थ्य विभाग ने 28 दिनों के लिए क्वारेंटाइन कर रखा था. जैसे ही उन्हें शेल्टर होम में स्थानांतरित किया गया, उन्होंने हंगामा करना शुरू कर दिया. जमातियों के हंगामे से आस-पास के लोग भयभीत हो गए.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.