करंट टॉपिक्स

गोधरा, लखीमपुर, भोपाल, सितारपुर में कोरोना योद्धाओं पर हमले

Spread the love

नहीं सुधर रहे कुछ लोग, देश में निरंचतर हो रही हमले की घटनाएं

मुंबई में कांग्रेस पार्षद ने अस्पताल प्रबंधन से किया दुर्व्यवहार

भारती सिंह

नई दिल्ली.

देश कोरोना महामारी के संकट से लड़ रहा है. और इस लड़ाई में हमारे कोरोना योद्धा (डाक्टर, नर्स, स्वास्थ्य कर्मी, पुलिस, स्वच्छता कर्मी व अन्य) महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं. लेकिन कुछ लोग हैं जो कोरोना योद्धाओं का अपमान करने के साथ ही अन्य लोगों का जीवन भी संकट में डाल रहे हैं. कोई दिन नहीं होता जब कोरोना योद्धाओं के साथ मारपीट, हमले की घटना न हुई हो. मारपीट की घटनाओं का क्रम रुक नहीं रहा, और अधिकांश घटनाओं में एक ही वर्ग के लोग शामिल हैं.

  1. गुजरात के गोधरा में पुलिसकर्मियों पर पथराव

गुजरात में गोधरा के पंचमहल जिले में नए कोविड-19 संदिग्ध मिलने के बाद गुरुवार की शाम को पूरे कंटेनमेंट जोन क्षेत्र को सील करने गई पुलिस पर स्थानीय लोग भड़क गए और पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया. हालात इस कदर तनावपूर्ण हो गया कि नियंत्रित करने के लिए आंसू गैस का प्रयोग करना पड़ा.

पंचमहल जिले की एसपी लीना पाटिल ने बताया कि कंटेनमेंट क्षेत्र में पुलिस बैरिकेडिंग के लिए पहुंची थी. तभी लोगों ने विरोध करते हुए पथराव किया. दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है जो भीड़ का हिस्सा थे. फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है. अब तक गोधरा में कोरोना वायरस के 38 मामले सामने आए हैं.

  1. भोपाल में कोरोना सर्वे टीम से बदसलूकी

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के छोला स्थित कल्याण नगर में गुरुवार दोपहर को आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की एक टीम कोरोना संक्रमण लक्षणों के सर्वे करने के लिए पहुंची. तभी कुछ लोग आकर विरोध करने लगे. परवीन नाम के शख्स व उसके साथी ने आशा कार्यकर्ता से छीना झपटी की, उसके दस्तावेजों को फाड़ डाला और बदसलूकी की. इतना ही नहीं पत्थर लेकर आशा कार्यकर्ता को दौड़ाया.

सर्वे टीम ने किसी तरह कंट्रोल रूम को घटना की जानकारी दी. इसके तुरंत बाद सीएसपी और एसडीएम पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे. पुलिस फोर्स को आते देख टीम का विरोध कर रहे लोग दरवाजे बंद कर अपने घरों में कैद हो गए. पुलिस के आग्रह पर नगर सुरक्षा समिति के सदस्य ने उस्मानिया मस्जिद के हाफिज को बुलाकर सर्वे कराने के लिए राजी किया. तब कहीं लगभग 900 घरों का सर्वे हो सका. सर्वे को दौरान टीम के साथ पुलिस भी मौजूद रही.

  1. असम: मस्जिद में नमाज पढ़ने से रोका तो पुलिस पर किया पथराव

असम के लखीमपुर जिले के दक्खिन पंडोवा गांव की एक मस्जिद में गुरुवार रात को लॉकडाउन का उल्लंघन कर नमाज अदा करने के लिए लोग एकत्र हुए. इसकी जानकारी ग्रामप्रधान ने नाओबीचा पुलिस चौकी में दी. चौकी प्रभारी बिस्वजीत नाथ एक पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे, मस्जिद में इकट्ठा लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की बात कही. इसके बाद पुलिस जैसे ही मस्जिद से बाहर निकली पथराव शुरू हो गया. इस हमले में ग्राम प्रधान सहित चार पुलिसकर्मी घायल हो गए. पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए मस्जिद के इमाम सहित 12 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है.

  1. उत्तराखंड के सितारपुर में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता से बदसलूकी

उत्तराखंड के सितारपुर में गुरूवार को कोविड-19 की जानकारी लेने के लिए घर-घर जाकर सर्वे कर रही एक आशा कार्यकर्ता से वार्ड संख्या 12 में कुछ लोगों ने अभद्रता की. आरोपियों ने आशा कार्यकर्ता से हाथ से छीनकर सर्वे के दस्तावेज फाड़ दिए और गालीगलौज के साथ जान से मारने की धमकी दी. आशा कार्यकर्ता वहां से भागकर अस्पताल पहुंची और उच्चाधिकारियों को जानकारी दी.

आशा कार्यकर्ता की तहरीर पर पुलिस ने छह नामजद और अन्य लोगों पर केस दर्ज कर लिया है. एसडीएम विवेक प्रकाश ने संबंधित वार्ड में पूछताछ करने के साथ ही आशा कार्यकर्ता के बयान भी दर्ज किए.

  1. कानपुर में पुलिस पर फेंका गया तेजाब, 20 गिरफ्तार, 200 परNSA के तहत कार्रवाई जारी

कानपुर में मेडिकल टीम व पुलिस पर हुए हमले के मामले में 20 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. साथ 200 लोगों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) के तहत मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है.

एसपी पश्चिम अनिल कुमार ने जानकारी दी गुरुवार को आरोपियों को कोर्ट में पेश करने के बाद चौबेपुर में बनी अस्थायी जेल भेज दिया गया है. सभी का सैंपल भी लिया गया है. 14 दिन बाद दोबारा जांच होगी. इसके बाद इन्हें जेल भेजा जाएगा.

बुधवार को कानपुर में कोरोना संक्रमण के हॉटस्पॉट चमनगंज में एक कोरोना संक्रमित मरीज के परिवार के सदस्यों को क्वारेंटाइन कराने के लिए लेने पहुंची पुलिस और मेडिकल की टीम पर स्थानीय लोगों ने हमला कर दिया था. गुलाब घोषी मस्जिद के पास स्वास्थ्य विभाग और पुलिस की टीम जैसे ही कोरोना पॉजिटिव मरीज के संपर्क में आए लोगों को वहां से लेकर चली, 50-60 लोग इसका विरोध करते हुए पथराव किया. पुलिस ने किसी तरह से स्वास्थ्य विभाग की टीम को मौके से निकाला, फिर कई थानों के फोर्स को बुलाकर पत्थरबाजों को खदेड़ गया. इसके बाद घटना स्थल पर भारी पुलिस बल तैनात कर है.

  1. मुंबई में कॉन्ग्रेस नेता ने अस्पताल में डॉक्टरों से की बदसलूकी

मुंबई के एक अस्पताल में कांग्रेस की निगम पार्षद मेहर हैदर ने डॉक्टरों के साथ बदसलूकी की. रिपब्लिक टीवी के अनुसार, ये घटना 24 अप्रैल देर रात की है. लेकिन घटना पर संज्ञान शुक्रवार (1 मई) को सीसीटीवी फुटेज में हैदर की बदसलूकी हरकतें देखकर लिया गया.

मामला ग्लोबल हॉस्पिटल ऐंड रिसर्च सेंटर का है, जहां कांग्रेस नेत्री मेहर हैदर ने वार्ड में घुसकर डॉक्टर से बदसलूकी की लेकिन मामले के एक सप्ताह बीत जाने के बाद भी मुंबई पुलिस ने अस्पताल की बात सुनकर कांग्रेस पार्षद के खिलाफ सिर्फ शिकायत दर्ज की है, मुकदमा नहीं दर्ज किया.

शिकायत में अस्पताल ने मेहर हैदर पर अवैध तरीके से अस्पताल में घुसने का आरोप लगाया है. अस्पताल ने कहा है कि हैदर 24 अप्रैल को बिना किसी जानकारी और अप्वाइंटमेंट के बिना अस्पताल में आईं और नियम-कानून तोड़ते हुए ज़बरदस्ती मरीजों के वार्ड में घुस गईं. अस्पताल का आरोप है कि वे 45 मिनट तक रहीं और डॉक्टरों को ‘शराबी’ कहकर उन पर चिल्लाती रहीं व धमकी देती रहीं कि वे अस्पताल को क्वारेंटाइन सेन्टर में बदल देंगी.

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *