करंट टॉपिक्स

गोपी नाथ का मुंडे का निधन

Spread the love

नयी दिल्ली. केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री और महाराष्ट्र में भाजपा के लोकप्रिय नेता श्री गोपीनाथ मुंडे का आज सुबह एक सड़क दुर्घटना के बाद प्रत्यक्षत: आघात और दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया. पूर्व भाजपा अध्यक्ष एवं केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बताया कि मुंडे हवाई अड्डे जा रहे थे, जब उनकी कार को एक अन्य वाहन ने टक्कर मार दी.

दुर्घटना के बाद मुंडे को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ले जाया गया. एम्स के ट्रॉमा सेंटर के डॉक्टर अमित गुप्ता ने संवाददाताओं को बताया मुंडे को सुबह छह बज कर 30 मिनट पर उनके निजी सहायक और चालक एम्स के जयप्रकाश नारायण एपेक्स ट्रॉमा सेंटर के आपात चिकित्सा विभाग ले कर आये. डॉक्टर गुप्ता ने बताया मुंडे अपनी कार की पिछली सीट पर बैठे थे. उनकी कार को दूसरी कार या किसी अन्य वाहन ने सुबह छह बज कर करीब 20 मिनट पर उसी ओर टक्कर मारी, जिस ओर वह बैठे थे.

उन्होंने बताया जब उनको ट्रॉमा सेंटर लाया गया था, तब वह न तो श्वांस ले रहे थे, न ही उनके शरीर में रक्तचाप, पल्स या हदय के धड़कने आदि की गतिविधियां हो रही थीं. इसीलिये तत्काल उनके हृदय को पुनर्जीवित करने के लिये कॉर्डियोपल्मोनरी रेससाइटेशन (सीपीआर) शुरू किया गया और 15 मिनट तक कोशिश जारी रखी गई. लेकिन तमाम प्रयासों के बावजूद मुंडे के दिल की धड़कन वापस नहीं लाई जा सकी और 7 बज कर 20 मिनट पर उन्हें मृत घोषित कर दिया गया.

डॉक्टर गुप्ता ने बताया मुंडे को उच्च रक्तचाप और मधुमेह की समस्या थी, जिनके लिये वह दवायें लेते थे. दुर्घटना में उनके शरीर पर कोई बाहरी बड़ी चोट नहीं लगी थी. हम कुछ नहीं कह सकते, लेकिन चिकित्सकीय तौर पर हम कह सकते हैं कि उनके दिल ने अचानक काम करना बंद कर दिया. मुंडे की पार्थिव देह को पोस्टमार्टम के लिये शवगृह में ले जाया गया, जहां विशेषज्ञों के बोर्ड ने अंत्यपरीक्षण किया. समाचार लिखे जाने तक रिपोर्ट जारी नहीं की गई थी.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि जिस गाड़ी ने मुंडे की कार को टक्कर मारी थी, वह एक इंडिका कार थी, जिसने अरबिन्दो चौक पर यातायात सिग्नल का उल्लंघन किया. इसके बाद वह कार मारूति सुजुकी एसएक्स 4 से टकरा गई, जिसमें मुंडे पृथ्वीराज रोड से सफदरजंग रोड की ओर जा रहे थे.

उन्होंने बताया कि इंडिका तुगलक रोड की ओर जा रही थी जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सरकारी आवास से करीब एक किमी दूर है. इंडिका ने मुंडे की कार को उस ओर टक्कर मारी, जिस ओर मुंडे बैठे थे. कार की टक्कर लगने के तत्काल बाद मुंडे सीट पर गिर पड़े.

इंडिका कार के चालक को घटनास्थल से हिरासत में ले लिया गया और फिर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने बताया कि मुंडे की नाक पर कुछ मामूली खरोंचें आईं थीं. उन्होंने बताया कि दुर्घटना के बाद मुंडे ने पानी मांगा और अपने चालक से उन्हें अस्पताल ले जाने को कहा. प्रधानमंत्री ने कल रात मंत्रिपरिषद की एक बैठक बुलाई थी, जिसमें मुंडे भी शामिल हुये थे. आज जिस समय दुर्घटना हुई, उस समय वह काम से मुंबई जा रहे थे. उनके परिवार में पत्नी और तीन पुत्रियां हैं. उनकी एक पुत्री महाराष्ट्र के बीड जिले की परली विधानसभा सीट से विधायक हैं.

भाजपा के दिवंगत नेता प्रमोद महाजन के बहनोई मुंडे महाराष्ट्र के एक पिछड़े क्षेत्र के निर्धन परिवार से थे. भाजपा के दिवंगत नेता वसंतराव भागवत उन्हें राजनीति में ले कर आये. भागवत ने ही प्रमोद महाजन सहित कई अन्य नेताओं को भी तैयार किया था. मुंडे ने राज्य में आरपीआई, स्वाभिमानी शेतकरी पक्ष और राष्ट्रीय समाज पक्ष के साथ शिवसेना-भाजपा का गठबंधन कराने में अहम भूमिका निभाई थी.

मुंडे अपनी शैक्षणिक योग्यताओं को लेकर हाल ही में विवाद में घिरे थे. कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि जिस कालेज से उन्होंने वर्ष 1976 में स्नातक की डिग्री ली थी, उस कॉलेज की स्थापना 1978 में हुई थी.

RSS-M-B-orbituaryराष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक परम पूज्य डा. मोहन राव भागवत, सर कार्यवाह भय्या जी जोशी, अखिल भारतीय सहसम्पर्क प्रमुख श्री राममाधव, सह सरकार्यवाह श्री कृष्ण गोपाल जी एवं श्री सुरेश सोनी ने दिवंगत नेता के अंतिम दर्शन के लिये भाजपा कार्यालय पहुंचे और उन्हें अपनी पुष्पांजलि अर्पित की. संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख डा. मनमोहन वैद्य ने भी श्री मुंडे के असामयिक निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए कहा है कि उनका संसार से चले जाना हम सभी के लिए दुखद एवं आघातजनक है. श्री गोपीनाथ जी मुंडे संघ के प्रशिक्षित स्वयंसेवक थे. महाराष्ट्र में भाजपा का जनाधार व्यापक करने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही है. हाल ही में सम्पन्न चुनाव में भाजपा की विजय के वे प्रमुख शिल्पकार थे. महाराष्ट्र के सफल गृहमंत्री के नाते उनका कार्यकाल सदैव सबकी स्मृति में रहेगा. केन्द्र में भाजपा की सरकार बनाकर प्रत्यक्ष जब कुछ करने का मौका जनता ने दिया था उस समय श्री मुंडे जी का अचानक चले जाना सभी को खलेगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुंडे के निधन पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की. उन्होंने कहा है कि वह अपने मित्र मुंडे के निधन से अत्यंत दुखी और स्तब्ध हैं. मुंडे के सम्मान में दिल्ली, राज्य की राजधानियों और केंद्र शासित प्रदेशों में आज राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका दिया गया.

ग्रामीण विकास मंत्री की गाड़ी के दुर्घटनाग्रस्त होने की खबर मिलने के बाद सबसे पहले एम्स पहुंचे केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने बताया कि मुंडे को पुनर्जीवित करने की डॉक्टरों ने हरसंभव कोशिश की. अस्पताल में मौजूद केंद्रीय राजमार्ग एवं भूतल परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि मुंडे का अंतिम संस्कार कल महाराष्ट्र के बीड में उनके पैतृक गांव में किया जायेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.