करंट टॉपिक्स

चीनी वायरस के खिलाफ जंग – आपदा में भी मजदूरों को समर्पित भारतीय मजदूर संघ

बीएमएस से संबद्ध संगठनों के सवा लाख सदस्यों ने एक दिन का वेतन-पेंशन राहत कार्य के लिए दिया

नई दिल्ली. मजदूरों पर आई आपदा के समय उनकी सहायता के लिए मजदूरों को समर्पित भारतीय मजदूर संघ भी आगे आया है. चीनी वायरस के खिलाफ जंग के दौरान सबसे अधिक मजदूर वर्ग ही प्रभावित हुआ है. भारतीय मजदूर संघ ने उनके सहयोग के लिए कार्य शुरू कर दिया है. भारतीय मजदूर संघ के संबद्ध सभी कर्मचारी संगठनों ने एक दिन का वेतन-पेंशऩ राहत कोष में प्रदान करने वाले हैं. उत्तराखंड, उड़ीसा, उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर, आंध्र प्रदेश में संबद्ध संगठनों ने एक दिन का वेतन राहत कोष में जमा करवाने के संबंध में जानकारी दी है.

भारतीय मजदूर संघ आंध्र प्रदेश के अध्यक्ष एम श्रवण कुमार प्रतिदिन 15 ऑटो चालकों (गुंटुर में) के भोजन की व्यवस्था कर रहे हैं. इसी प्रकार हिमाचल प्रदेश के कार्यकारी अध्यक्ष मेला राम चंदेल ने 51 हजार रुपये की राशि प्रधानमंत्री राहत कोष में प्रदान की है, इसके साथ ही बद्दी में रहने वाले 30 श्रमिकों के मकान का दो महीने का किराया देने की बात भी कही है. दिल्ली में भारतीय मजदूर संघ के वरिष्ठ कार्यकर्ता वीरेंद्र शर्मा 25 मार्च से 150 परिवारों को दो समय का भोजन उपलब्ध करवा रहे हैं, उन्होंने तय किया है कि यह क्रम 14 अप्रैल तक जारी रखेंगे.

अभी तक भारतीय मजदूर संघ से संबद्ध यूनियनों के सवा लाख से अधिक सदस्यों ने एक दिन का वेतन कोरोना से निपटने के लिए राहत कोष में देने की घोषणा कर दी है. जम्मू कश्मीर में भारतीय मजदूर संघ के संबद्ध आंगनावाड़ी कार्यकर्ताओं ने एक दिन का वेतन राहत कोष में देने का निर्णय लिया है. आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ की अध्यक्ष स्वर्णा चौधरी और महासचिव नीलम शर्मा ने बताया कि सभी आंगनबाड़ी वर्कर्स अपने एक दिन का वेतन इस संकट से निपटने के लिए देंगी. आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ उत्तराखंड ने भी एक दिन का वेतन दिया है.

दिल्ली परिवहन मजदूर संघ के 28 हजार कर्मचारियों, दिल्ली पावर ग्रिड कर्मचारी संघ के पांच सौ कर्मचारियों ने एक-एक दिन, दिल्ली आईओसीएल हेडक्वार्टर यूनियन, आईओसीएल रिफाइनरी यूनियन दिल्ली के 32 हजार कर्मचारियों ने दो दिन का वेतन पीएम रिलीफ फंड में दिया है. एआरटीईई दूरदर्शन के 37 सौ कर्मचारी तथा आकाशवाणी और दूरदर्शन तकनीकी कर्मचारियों ने एक दिन का वेतन दान दिया है. मोदीनगर चीनी मिल कर्मचारी संघ उत्तर प्रदेश, मुद्रा एवं सिक्का कर्मचारी संघ नोएडा, नाल्को कर्मचारी संघ उड़ीसा, एनबीसीसी ऑफिसर एसोसिएशन दिल्ली, आयुध निर्माण मजदूर संघ देहरादून के कर्मचारी राहत कोष में एक दिन का वेतन देने वाले हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *