करंट टॉपिक्स

तावड़ू कस्बे में साम्प्रदायिक हिंसा के बाद कर्फ्यू

Spread the love

गुड़गांव. सड़क दुर्घटना में एक व्यक्ति की मौत हो जाने के बाद दो समुदायों के बीच तनाव के चलते हरियाणा के मेवात जिले के तावड़ू कस्बे में कर्फ्यू लगा दिया गया. मेवात के उपायुक्त आर.सी. वर्मा ने चंडीगढ़ में जारी एक बयान में कहा कि तावड़ू में स्थिति अब पूरी तरह नियंत्रण में है. उन्होंने बताया कि कर्फ्यू केवल ऐहतियाती तौर पर लगाया गया था और प्रशासन सुनिश्चित करेगा कि आवश्यक सामग्री की आपूर्ति लोगों को सुनिश्चित हो.

उन्होंने कहा कि अर्द्धसैनिक बलों को इलाके में तनाव फैलने के तुरंत बाद बुलाया गया और वे लोगों में विश्वास पैदा करने के लिये फ्लैग मार्च कर रहे हैं. स्थिति की निगरानी के लिये डेरा डाले आईजीपी (दक्षिणी रेंज) शत्रुजित सिंह कपूर ने कहा कि एक दिन के भीतर स्थिति सामान्य हो जायेगी.

सूत्रों के अनुसार यहां से करीब 40 किलोमीटर दूर तावड़ू कस्बे में 8 जून को एक ट्रक द्वारा दो मोटर साइकिल सवारों को टक्कर मारे जाने के बाद हिंसा शुरू हो गई. ट्रक की चपेट में आने से हिन्दू युवक की  मौत हो गई. घटना के बाद वाहन चालक और हैल्पर की पिटाई कर दी गई, जिससे इलाके में साम्प्रदायिक हिंसा फैल गई. लोगों ने पथराव किया और दुकानों को नुकसान पहुंचाया. हिंसा के बाद बाजार बंद हो गये.

बुरी तरह से घायल इन दोनों घायलों को अस्पताल ले जाया गया. दूसरी ओर, जैसे ही यह समाचार मुस्लिम समुदाय बहुल गावों में पहुंचा तो वहां से सैंकड़ों की संख्या में हथियारों से लैस हिंसा पर उतारू भीड़ ने तावड़ू बाजार आकर धावा बोल दिया. डेढ़ से दो घंटे तक अराजकता का नंगा नाच होता रहा. बाजार में दुकानों को लूटा गया. भीड़ ने एक मन्दिर को भी तोड़ दिया. बाजार में हुई भारी गालीबारी में दो हिन्दू युवक बुरी तरह से घायल हुये व बड़ी संख्या में लोगों को छर्रे लगे बताये गये हैं.

प्रत्यक्षदर्शिकों के अनुसार प्रातः 7 बजे एक डम्पर ने मोटरसाइकिल सवार हिन्दू युवक को कुचल दिया, जिसकी दुर्घटनास्थल पर ही मौत हो गई. तनाव बढ़ने के बाद नूंह से आने वाला पुलिस दल 7 घंटे देरी से पहुंचा. इस देरी का कारण स्थानीय लोगों द्वारा तावड़ू घाटी व सोहना घाटी में लगाया गया जाम बताया गया. इस कारण पुलिस फोर्स को मानेसर की ओर से लम्बा मार्ग तय करके आना पड़ा. तनाव को देखते हुए कस्बे में कर्फ्यू लगाया गया है. हिन्दू संगठनों की सायंकाल डीजीपी सत्यनारायण वशिष्ठ व आईजी शत्रुजीत कपूर के साथ हुई बैठक में दोषियों पर कड़ी कारर्वाई की मांग की गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published.