दिल्ली में जरूरतमंदों तक आवश्यक सहायता पहुंचा रहीं स्वयंसेवी संस्थाएं Reviewed by Momizat on . नई दिल्ली. चीनी वायरस के कारण पूरे देश में लॉकडाउन घोषित है, इस स्थिति में कई स्थानों पर लोगों के पास खाने-पीने के सामान की कमी देखी की जा रही है ! ऐसे में जहां नई दिल्ली. चीनी वायरस के कारण पूरे देश में लॉकडाउन घोषित है, इस स्थिति में कई स्थानों पर लोगों के पास खाने-पीने के सामान की कमी देखी की जा रही है ! ऐसे में जहां Rating: 0
    You Are Here: Home » दिल्ली में जरूरतमंदों तक आवश्यक सहायता पहुंचा रहीं स्वयंसेवी संस्थाएं

    दिल्ली में जरूरतमंदों तक आवश्यक सहायता पहुंचा रहीं स्वयंसेवी संस्थाएं

    Spread the love

    नई दिल्ली. चीनी वायरस के कारण पूरे देश में लॉकडाउन घोषित है, इस स्थिति में कई स्थानों पर लोगों के पास खाने-पीने के सामान की कमी देखी की जा रही है ! ऐसे में जहां केंद्र सरकार और संबंधित राज्य सरकारें अपनी तरफ से पूरी कोशिश कर रही हैं कि जरूरतमंदों तक खाने-पीने की वस्तुएं समय से पहुंचाई जा सकें, वहीं स्थानीय स्तर पर कुछ गैर सरकारी संगठन भी इस दिशा में अपनी-अपनी क्षमता के अनुसार उत्कृष्ट काम कर रहे हैं !

    ऐसी ही एक गैर सरकारी संस्था ‘मेरे अपने फाउंडेशन’ ने आज पूर्वी दिल्ली के जगतपुरी और गीता कॉलोनी क्षेत्र में जरूरतमंदों के बीच दाल, चावल, नमक मसाले इत्यादि निशुल्क वितरित करके लोगों को राहत पहुंचाने का काम किया.  इस अवसर पर ‘मेरे अपने फाउंडेशन’ के संस्थापक अध्यक्ष रवि कपूर का कहना था कि, ‘संकट की इस घड़ी में सरकार के साथ-साथ गैर सरकारी संगठनों का काम भी बहुत चुनौतीपूर्ण हो गया है’. फाउंडेशन की महासचिव निशा तिवारी का कहना था कि, ‘ऐसे समय में जबकि देश में संकट का दौर चल रहा हो, समाज के हर सक्षम वर्ग को भी आगे आकर जरूरतमंदों का सहयोग करना चाहिए!’

    राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, सेवा भारती YUVA (Youth United for Vision and Action) जैसे विभिन्न संगठन एवं संस्थाएं दिल्ली में सभी अलग- अलग जगहों पर लोगों को आवश्यकतानुसार तैयार भोजन के पैकेट, राशन, आवश्यक दवाइयां, चिकित्सकीय परामर्श एवं अन्य सुविधाएँ उपलब्ध करा रही हैं.

    सोमवार को इसके अंतर्गत दिल्ली में 20816 व्यक्तियों को 1 सप्ताह का राशन, आटा, चावल, दाल, नमक, तेल, चीनी चायपत्ति मुहैया करायी गयी. 75000 व्यक्तियों को तैयार भोजन के पैकेट दिए गए. 45  स्थानों पर भोजन बनाने का काम किया जा रहा है.

    8908 स्वयंसेवकों के परिवारों से भोजन एकत्र किया गया, 1,00,000 व्यक्तियों को साबुन दिए  गए, 25000 व्यक्तियों को मास्क, 2000 व्यक्तियों को ग्लव्स और 1485 व्यक्तियों को सेनेटाइजर दिए गए. इसके साथ ही सेवा के 94 अन्य कार्य प्रारंभ किए गए. इन सेवा कार्यों में 2322 व्यक्ति लगे हैं.

     

    •  
    •  
    •  
    •  
    •  

    About The Author

    Number of Entries : 6857

    Leave a Comment

    हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

    VSK Bharat नवीनतम समाचार के बारे में सूचित करने के लिए अभी सदस्यता लें

    Scroll to top