देश में विस्थापित होकर आने वाले हिंदुओं की चिंता करे सरकार – सरकार्यवाह भय्या जी जोशी Reviewed by Momizat on . नागपुर. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने अन्य देशों से विस्थापित होकर भारत में आने वाले हिंदुओं की ओर ध्यान देने और उन्हें सुविधाएं प्रदान करने का आग्रह केंद्र सरकार नागपुर. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने अन्य देशों से विस्थापित होकर भारत में आने वाले हिंदुओं की ओर ध्यान देने और उन्हें सुविधाएं प्रदान करने का आग्रह केंद्र सरकार Rating: 0
    You Are Here: Home » देश में विस्थापित होकर आने वाले हिंदुओं की चिंता करे सरकार – सरकार्यवाह भय्या जी जोशी

    देश में विस्थापित होकर आने वाले हिंदुओं की चिंता करे सरकार – सरकार्यवाह भय्या जी जोशी

    DSC_0235नागपुर. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने अन्य देशों से विस्थापित होकर भारत में आने वाले हिंदुओं की ओर ध्यान देने और उन्हें सुविधाएं प्रदान करने का आग्रह केंद्र सरकार से किया. सरकार्यवाह सुरेश भय्या जी जोशी ने प्रतिनिधि सभा की बैठक के अंतिम दिन पत्रकार वार्ता में कहा कि सरकार को भारत से बाहर किसी भी तरह की समस्या का सामना कर रहे हिंदुओं की ओर ध्यान देना चाहिये. उन्होंने कहा कि पूरे विश्व में हिंदुओं के लिये केवल भारत देश है. यदि असहाय हिंदु देश में आते हैं तो सरकार को उन्हें सुरक्षा सहित सहायता और सुविधाएं उपलब्ध करवानी चाहियें.

    राम मंदिर के मुद्दे पर भय्या जी जोशी ने कहा कि राम मंदिर का निर्माण जल्द से जल्द होना चाहिये, लेकिन मामला अभी सर्वोच्च न्यायालय के विचाराधीन है तथा उसका परिणाम आना अभी बाकी है. इसिलये अभी मंदिर निर्माण के लिये किसी आंदोलन का सवाल नहीं है, हम न्याय व्यवस्था के प्रति सम्मान रखते हैं.

    उन्होंने कहा कि हिंदुत्व एक जीवन पद्धति है. पूजा पद्धति कोई भी हो, प्रत्येक को भारतीय संस्कृति, परंपराओं, चिंतनल को स्वीकार करना चाहिये. सांस्कृतिक मूल्यों के साथ किसी भी प्रकार का समझौता नहीं होगा.

    भय्या जी ने कहा कि हिंदुत्व जीवन जीने की पद्धति है, और किसी को भी कोई भी पूजा पद्धति अपनाने की स्वतंत्रता है, पर यह राष्ट्र विरोधी नहीं होनी चाहिये. यदि कोई हिंदु समस्याओं से परेशान होकर देश में आता है तो उसका आदर सहित स्वागत करना, हित चिंतन करना सरकार का धर्म है.

    उन्होंने कहा कि संघ से संबंधित विभिन्न संगठनों की अपनी मांगें हैं, संगठनों के तर्क या विचार को मोदी सरकार का विरोध नहीं है. विचार विमर्श से समस्याओं को दूर किया जा सकता है. उन्होंने कहा कि गोरक्षा पर हमारा विचार स्पष्ट है और उस विचार पर हम अडिग हैं. गोवंश की रक्षा होनी चाहिये. सरकार को गोवंश की रक्षा के लिये सख्त कानून बनाने के साथ ही सख्ती से इसे लागू करना चाहिये. देश में कोई भी सरकार हो गोवंश की रक्षा के विषय पर हमारा विचार बदलने वाला नहीं है.

    भय्या जी जोशी ने संगठन के विस्तार पर कहा कि वर्तमान में हमारी पहुंचे देश के 54000 गांवों तक है, कार्य को 6.5 लाख गांवों तक पहुंचाना है. हम लक्ष्य को हासिल करने के लिये चरणबद्ध ढंग से आगे बढ़ रहे हैं, और जल्द समस्त गांवों तक संघ कार्य पहुंचाने के लिये प्रयासरत हैं. वेब पोर्टल आरएसएस.ओआरजी पर ज्वाइन आरएसएस के रूप में नया प्रयास शुरू किया है और इस पर काफी अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है. हर माह पोर्टल के माध्यम से 3000 निवेदन (रिक्वेस्ट) संघ में शामिल होने के लिये मिल रहे हैं. समाज के सभी वर्गों से प्रतिक्रिया मिल रही है.

    उन्होंने कहा कि विशेषत: ग्राम विकास, सेवा क्षेत्र तथा अनुसूचित जनजाति के क्षेत्र में संघ कार्य बढ़े इस पर ज्यादा ध्यान देना है. इसके अलावा, सार्वजनिक जीवन में व्याप्त असमानताएं, भेदभाव, अस्पृश्यता नष्ट करने का प्रयास संघ अपनी पद्धति से करने का प्रयास करेगा.
    पत्रकार वार्ता के दौरान अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख डॉ मनमोहन वैद्य भी उनके साथ उपस्थित थे.

    About The Author

    Number of Entries : 5690

    Comments (4)

    • Pushpa Bajaj

      आरएसएस की महान् विचार धारा को मेरा शत शत नमन
      महोदय! भारत वर्ष की जैसी छवि (विश्व गुरू भारत) हमारे आरएसएस के महान् कार्यकर्ता चाहते हैं, उसी छवि को साकार रूप से देखने की कसक हमारे भी दिल में है। पर, मेरा एक प्रश्न है कि कांग्रेस और तमाम विपक्ष के कारण हमारे देश की जो दुर्दशा हुई है और हो रही है, उसके लिए हमें बहुत सम्भल कर चलना होगा। जिस प्रकार कुछ लोग हिन्दू सम्बन्धी बातें कहते हैं, क्या उनकी बेबाकी से हमारी क्षति और नहीं हो रही है। हिन्दू हिन्दू न कहकर हम अगर भारतीयता की बात करें तो शायद हमारा काम ज्यादा आसान नहीं होगा।

      Reply
    • Awadhesh Narayan Singh

      RSS is the great and patriotic organization. organization who can mitigate corruption from the country. The network of RSS is strongest and spreaded up to grass root level. The national government must take help of the network of RSS to monitor its programme launched for public welfare like Swaccha Bharat Abhiyan. and Ganga Rejuvenation. RSS can bring change in the mind set of people which is order of time.
      I wish all the best of RSS.

      Reply
    • Rahul Patel

      Thanks for providing information through e-mail via RSS news letter. It is a better way to get in touch with all. Well done and thanks

      Reply
    • somshree ajmera

      Yes , Government of India must extend all available/possible support to all hindu migrants coming to India for shelter. Hindu means all human beings or their forefathers inherited from
      H industan irrespective of their PUJA Padhati.

      Reply

    Leave a Comment

    हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

    VSK Bharat नवीनतम समाचार के बारे में सूचित करने के लिए अभी सदस्यता लें

    Scroll to top