नारद जी लोककल्याण के लिए निष्पक्षता के साथ सूचनाओं को प्रसारित करते थे Reviewed by Momizat on . रांची. प्रेस क्लब सभागार में सोमवार को झारखंड स्टेट जर्नलिस्ट यूनियन द्वारा नारद जयंती समारोह का आयोजन किया गया. मुख्य अतिथि प्रतिष्ठित पत्रकार पद्मश्री बलबीर द रांची. प्रेस क्लब सभागार में सोमवार को झारखंड स्टेट जर्नलिस्ट यूनियन द्वारा नारद जयंती समारोह का आयोजन किया गया. मुख्य अतिथि प्रतिष्ठित पत्रकार पद्मश्री बलबीर द Rating: 0
    You Are Here: Home » नारद जी लोककल्याण के लिए निष्पक्षता के साथ सूचनाओं को प्रसारित करते थे

    नारद जी लोककल्याण के लिए निष्पक्षता के साथ सूचनाओं को प्रसारित करते थे

    रांची. प्रेस क्लब सभागार में सोमवार को झारखंड स्टेट जर्नलिस्ट यूनियन द्वारा नारद जयंती समारोह का आयोजन किया गया. मुख्य अतिथि प्रतिष्ठित पत्रकार पद्मश्री बलबीर दत्त तथा आकाशवाणी के पूर्व उपनिदेशक नीरज नाथ पाठक थे.

    पद्मश्री बलबीर दत्त ने कार्यक्रम में उपस्थित युवा पत्रकारों से कहा कि नारद जी से हम पत्रकारिता के कई गुण सीख सकते हैं. नारद जी सभी लोकों में विचरण करते हुए खबरों एवं घटनाओं को एकत्र कर सभी जगहों पर प्रसारित करते थे और वह निष्पक्षता से लोक कल्याण के लिए यह काम करते थे. आज के युवा पत्रकारों को भी अपनी वृत्ति में समर्पण और परिश्रम पर ध्यान देना चाहिये. एक अच्छा पत्रकार बनने के लिये नारद जी की तरह ही लगातार अपडेट होते रहना चाहिये. अपने सामान्य ज्ञान को दुरूस्त रखना चाहिये. उन्हें सभी विषयों पर कुछ जानकारी रखने के अलावा किसी एक विषय पर अच्छी पकड़ रखनी चाहिये.

    नीरज नाथ पाठक ने कहा कि भाषा पर हमारी जितनी पकड़ बनती है, हमें उतने ही कम शब्‍दों की आवश्‍यकता होती है और छोटे वाक्‍यों में ही अपनी बात कह सकते हैं. उन्‍होंने नारद जी के शिष्‍य नचिकेता के प्रसंग की भी चर्चा की.

    झारखंड जर्नलिस्‍ट यूनियन के अध्‍यक्ष बलदेव शर्मा ने कहा कि आज हम नारद जयंती मना रहे हैं. भविष्य में अधिक भव्‍य तरीके से जयंती मनाएंगे. नारद जी आदि पत्रकार थे और बिना किसी स्‍वार्थ के खबरों का सत्‍यता के साथ संचार करते थे. हम पत्रकारों का भी यही उद्देश्‍य होना चाहिये कि पत्रकारिता को सत्‍य व निष्‍पक्षता के साथ करें.

    कार्यक्रम का संचालन यूनियन के महासचिव एनके मुरलीधर ने किया और धन्‍यवाद ज्ञापन यूनियन के उपाध्‍यक्ष मनोज शर्मा ने किया.

    About The Author

    Number of Entries : 5327

    Leave a Comment

    हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

    VSK Bharat नवीनतम समाचार के बारे में सूचित करने के लिए अभी सदस्यता लें

    Scroll to top