करंट टॉपिक्स

पशु तस्करों ने बीएसएफ जवान पर बम से हमला किया, गंभीर रूप से घायल

Spread the love

पश्चिम बंगाल के रास्ते पशु तस्करी करने वाले तस्करों ने 11 जुलाई को ड्यूटी पर तैनात एक बीएसएफ (BSF) जवान को बम से निशाना बनाया. जवान का नाम कॉन्स्टेबल अनीसुर रहमान है. हमले में जवान ने अपना एक हाथ गंवा दिया है, गंभीर रूप से घायल जवान का उपचार कोलकाता के अस्पताल में चल रहा है. घटना नॉर्थ 24 परगना जिले में अंगरेल सीमा चौकी के समीप सुबह-सुबह साढ़े तीन बजे घटी.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार 11 जुलाई की सुबह करीब 3:30 बजे 25 पशु तस्कर 10 से 15 पशुओं की तस्करी का प्रयास कर रहे थे. ये तस्कर अपनी सुरक्षा के लिए हथियारों से लैस होकर बॉर्डर में दाखिल हुए थे. पशुओं को लेकर बांग्लादेश में दाखिल होने ही वाले थे कि तभी सीमा पर तैनात जवान को इन तस्करों की गतिविधि की भनक लग गई. जवान ने इन तस्करों को रोकने का प्रयास किया, लेकिन तस्करों ने पहले अनीसुर की दृष्टि बाधित करने के लिए उनकी आंखों में हाईबीम लाइट से रौशनी डाली और फिर देसी बम से हमला कर दिया. ये बम अनीसुर के एकदम नजदीक आकर फटा, लेकिन उन्होंने (जवान ने) तब भी हार नहीं मानी. उन्होंने आत्मरक्षा में नॉन-लीथल पीएजी गन से उन तस्करों की ओर फायर किया, जिससे तस्कर बौखला गए और उन्होंने दोबारा जवान की ओर बम फेंका. इस बार ये बम अनीसुर के दाएं हाथ के पास आकर फटा, जिस कारण वो हाथ कोहनी के नीचे से अलग हो गया.और बम के छर्रे उनके शरीर में धँस गए.

जी न्यूज की  रिपोर्ट के अनुसार बीएसएफ के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अनीसुर के शरीर में बम के छर्रे धंसने से उनके लीवर, फेफड़े और पेट पर गंभीर चोटें आई हैं.

हमले को अंजाम देने के बाद तस्कर जंगली घास, अंधेरा और जानवरों की ओट लेकर फरार हो गए. घटना को लेकर बीएसएफ ने भारत-बांग्लादेश सीमा पर क्षेत्र में अलर्ट जारी किया है, और दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के इंस्पेक्टर जनरल ने इस मामले पर सख्त रवैया अपनाते हुए सभी फील्ड फॉर्मेशन को निर्देश दिए हैं कि ट्रांस बॉर्डर क्रिमिनल के खिलाफ सख्‍त कार्रवाई की जाए.

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *